जानिए किन किन सितारों की फिल्मी मां बनी थीं रीमा लागू

मुंबई ( 18 मई ) नीतू कुमार 90 के दशक में बॉलीवुड को मिली एक आधुनिक, हंसमुख और खूबसूरत मां। फिल्म ‘मैनें प्यार किया’ से बॉलीवुड में दाखिल हुई रीमा लागू। फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ ने ना सिर्फ बॉलीवुड को एक सुपरस्टार दिया बल्कि मां का रोल बड़ी खूबसूरती से निभाने वाली रीमा लागू मिली। फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ में जब रीमा लागू ने सलमान की मां का रोल किया तब वो सलमान से महज 7 साल बड़ी थी। मां-बेटे की इस जोड़ी को फिल्म में खूब पसंद किया। हालांकि रीमा लागू ने साल 1988 में रिलीज हुई फिल्म कयामत से कयामत तक में भी काम किया था। उस फिल्म में वो जूही चावला की मां के रोल में थी। लेकिन साल 1989 में रिलीज हुई ‘मैंने प्यार किया’ ने रीमा को घर-घर में मशहूर कर दिया।

सलमान खान के साथ रीमा लागू ने ‘मैंने प्यार किया’ ‘पत्थर के फूल’, ‘निश्चय’ ‘हम आपके हैं कौन, ‘साजन,’ ‘हम साथ-साथ है’, ‘शादी करके फंस गया यार’, ‘कहीं प्यार न हो जाए’,’हम साथ-साथ हैं’, ‘कुछ-कुछ होता है’, ‘दीवाना मस्ताना,’ और ‘जुड़वा’ जैसी फिल्मों में काम किया। हाल ही में जब सलमान खान एक इवेंट पर पहुंचे थे तो रीमा भी वहां आई थी। अपनी फिल्मी पर्दे की मां से मिलने सलमान उनके पास पहुंचे और काफी देऱ तक बातचीत की थी ।

फिल्म ‘हम साथ – साथ है’ में रीमा माधुरी की मां के रोल में थी। रीमा का इस फिल्म में जो रोल था उसे काफी पसंद किया गया था। रीमा शाहरुख खान की मां भी बनी और उनकी कई हिट फिल्मों में काम किया। शाहरुख खान के साथ ‘कल हो ना हो’, ‘येस बॉस’, ‘कुछ-कुछ होता है’ में रीमा ने मां या फिर उनकी सास का रोल किया। फिल्म ‘वास्तव’ में रीमा लागू ने यादगार रोल किया। वो संजय दत्त की मां बनी थी और अपने हाथों से गैंगस्टर बेटे को मार डाला था। 1990 में आई फिल्म आशिकी में भी रीमा लागू ने अपनी छाप छोड़ी। फिल्म में वो राहुल ऱॉय की तलाकशुदा मां के रोल में थीं। रीमा ने मैं प्रेम की दीवानी हूं में भी काम किया । उस फिल्म में रीमा अभिषेक बच्चन की मां के रोल में थी।

सूरज बड़जात्या की तकरीबन ज्यादातर फिल्मों में रीमा लागू महत्वपूर्ण रोल में दिखी। रीमा लागू ने करीब 90 बॉलीवुड फिल्मों में काम किया है। हर फिल्म में वो एक ममतामयी और आधुनिक मां के रोल में दिखी। 1980-90 के दशक में उन्होंने ज्यादातर फिल्मों में मां का किरदार निभाया था। रीमा लागू ने अपने अभिनय की शुरुआत मराठी फिल्मों से की लेकिन हिंदी सिनेमा में काम कर देश भर में उनकी पहचान बनी।