एक-एक कर अमिताभ के पुराने यार बिछड़ते जा रहे हैं ....


Dec. 5, 2017, 4:08 p.m.

नीतू कुमार - शशि कपूर के निधन से अमिताभ बच्चन बहुत आहत हैं। शशि कपूर की मौत की खबर सुनते ही बिग बी उनके घर पहुंच गए थे। अंतिम संस्कार के वक्त भी वो सांताक्रूज श्मशान पहुंचे । देर रात करीब डेढ़ बजे अमिताभ बच्चन ने शशि कपूर पर ब्लॉग लिखा। शशि कपूर और अमिताभ ने करीब 14 फिल्मों में साथ काम किया। शशि कपूर और अमिताभ की जोड़ी ने कई ब्लॉकबस्टर फिल्मों में साथ काम किया।

 हर फिल्म में दोनों भाई बनते थे लेकिन फिल्म दर फिल्म ये फिल्म भाई असली भाई बन गया। अमिताभ शशि कपूर को जिगरी दोस्त और एक बड़े भाई की तरह सम्मान देते थे। फिल्मों में शशि कपूर के साथ बड़े भाई से लेकर गहरे दोस्त तक के किरदार निभा चुके अमिताभ ने ट्विटर पर 'शशि के लिए आपके बबुआ की ओर से...' लाइन के साथ एक भावुक ब्लॉग भी शेयर किया है। शशि कपूर अमिताभ को प्यार से 'बबुआ' कहकर संबोधित करते थे। ब्लॉग में अमिताभ लिखते हैं कि वह किस तरह शशि कपूर से प्रभावित थे, उनकी हेयरस्टाइल, उनका बिहेवियर कॉपी करते थे। अमिताभ ने बताया कि उन्हें शशि कपूर के घुंघराले बाल जो बड़ी बेतरतीबी से उनके माथे पर और कान के पास बिखरे रहते थे, बहुत पसंद थे। शशि कपूर को जब दादा साहब फाल्के सम्मान मिला था तब भी अमिताभ बच्चन ने उस फंक्शन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था। 

अमिताभ बच्चन के साथ कई फिल्मों में काम कर चुके विनोद खन्ना भी इसी साल गुजर गए। कैंसर की बीमारी की वजह से 70 साल की उम्र में ही विनोद खन्ना चल बसे । विनोद खन्ना और अमिताभ ने करीब 8 फिल्मों में साथ काम किया। 1975 के बाद से अमिताभ बच्चन बॉलीवुड पर छाने लगे थे लेकिन अमिताभ की ज्यादातर फिल्मों में दो हीरो हुआ करते थे। विनोद खन्ना ने  भी अपने फिल्मी करियर में बुलंदी अमिताभ के साथ ही देखा ।  मुकद्दर का सिंकदर हो, परवरिश , अमर अकबर एंथोनी  और हेरा फेरी  समेत कई फिल्मों में इनकी जोड़ी ने कमाल किया। विनोद खन्ना के निधन से भी अमिताभ दुखी हुए थे और उन्होंने लिखा था,'“एक मित्र को याद कर रहा हूं जो समय से पहले हमें छोड़ गया। दुखद और उदासी वाला पल. हमारी संवेदनाएं और उनकी आत्मा के लिए प्रार्थनाएं। ”

पांच साल पहले 18 जुलाई को 2012 को जब राजेश खन्ना का निधन हुआ तब भी अमिताभ दुखी थे। बिग बी उनकी अंतिम यात्रा में शामिल हुए। एक दौर था जब इंडस्ट्री में अमिताभ और राजेश खन्ना के बीच जबरदस्त मुकाबला था और फिर धीरे धीरे अमिताभ ने उनकी जगह ले ली थी। इसके बावजूद ्अमिताभ हमेशा  राजेश खन्ना की इज्जत करते थे। उन्हें सम्मान देते थे।  खुद से उम्र में तीन महीने छोटे, लेकिन इंडस्ट्री में सीनियर राजेश खन्ना के प्रति अमिताभ ने हमेशा गहरा सम्मान प्रकट किया. राजेश 1966 में इंडस्ट्री में आये थे, अमिताभ 1969 में । दोनों ने आनंद और नमक हराम में साथ काम किया। 

 

 

Related news