आजादी स्पेशल : ये 9 फिल्में पढ़ाती हैं देशभक्ति का पाठ


Aug. 8, 2017, 4:55 p.m.

पूरे देश में आज स्वतंत्रता दिवस के जश्न का माहौल है। हर कोई आजादी के इस जश्न में डूबा हुआ है। चाहे जो भी हो लेकिन आजादी का एक नया रंग और नया रूप लोगों तक पहुंचाने में बॉलीवुड का भी काफी अहम योगदान है। बॉलीवुड में ऐसी कई फिल्में आईं जो बस आजादी का और देशभक्ति का पाठ पढ़़ाकर चली गईं। उन फिल्मों से हमने सीखा कि देश पर मर मिटना आखिर किसे कहते हैं। ये फिल्में उस दर्द को हम सबके सामने लाईं जिसे शायद ही हम कभी महसूस कर पाते। क्योंकि न तो हमने वो दर्द देखा और न ही ढंग से सुना लेकिन इन फिल्मों ने हमे सही ढंग से सबकुछ सिखाया और बताया। आइए जानते हैं उन 10 फिल्मों के बारे में जो देशभक्ति के नए रंग-रूप  को बयां करती है। 


आनंद मठ- 
इस लिस्ट में सबसे पहला नाम इसी फिल्म का है । गोल्डन ऐरा और साल 1952 में आई फिल्म ‘आनंद मठ’ बंकिम चंद्र चटर्जी के नॉवल पर बेस़्ड थी। फिल्म की कहानी संन्यासी क्रांतिकारियों की आजादी की लड़ाई की थी, जो 18वीं शताब्दी में अंग्रेजों के खिलाफ हुई थी। फिल्म में बंकिंम चंद्र के लिखे उस गीत को भी दिखाया गया था।

 


हकीकत- 
1964 में आई फिल्म ‘हकीकत’ ऐसे सैनिकों की टुकड़ी की कहानी थी, जो लद्दाख में भारत-चीन युद्ध के दौरान सोचते हैं कि उनकी मौत निश्चित है लेकिन उनमें से कुछ सैनिकों को कैप्टन बहादुर सिंह बचाने में सफल हुए थे। इस फिल्म को दर्शकों ने भी काफी पसंद किया था  

 


शहीद- 
1965 में बनी फिल्म शहीद की कहानी ने लोगों के दिलो में देशप्रेंम जाहिर किया। भगत सिंह के जीवन पर बनी ये देशभक्ति की सर्वश्रेष्ठ फिल्म थी। इस फिल्म की कहानी भगत सिंह के साथी बटुकेश्वर दत्त ने लिखी थी। फिल्म में अमर शहीद राम प्रसाद 'बिस्मिल' के कई गीत भी थे। मनोज कुमार ने इस फिल्म में शहीद भगत सिंह का रोल प्ले किया था। अबतक इस फिल्म को लोग याद करते है।

 


उपकार- 
ये फिल्म भी देशभक्ति का पाठ पढ़ाती है। 1967 में आई फिल्म ‘उपकार’ ‘जय जवान, जय किसान’ के नारे को बुलंद करती है। फिल्म की कहानी राधा यानि कि कामिनी कौशल और उनके दो बेटों भारत यानि मनोज कुमार और पूरन यानि प्रेम चोपड़ा पर बेस्ड रही।

 


गांधी- 
महात्मा गांधी जिन्होने देश के लिए अपनी जान देदी। उन्ही की लाइफ पर बनी ये फिल्म 'गांधी' 1982 में आई ये फिल्म मोहनदास करमचंद गांधी के जीवन पर आधारित फिल्म थी। फ़िल्म को रिचर्ड एटनबरोघ ने डायरेक्ट किया था और इसमें बेन किंग्सले गांधी के मेन रोल में थे। इस फिल्म के नाम कई अवॉर्ड्स रहे।

 


बॉर्डर- 
ये फिल्म अब भी लोगों के दिलों में बसती है। चाहे फिल्म के गाने हों या फिर एक्टिंग। बॉर्डर 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध पर बेस्ड थी। इस फिल्म की कहानी एक रियल इंसिडेंट से इंस्पायर्ड थी। इस फिल्म में भारत-पाक युद्ध के समय लड़े गए लोंगेवाला युद्ध को अच्छे से दिखाया गया। फिल्म में दिखाया गया राजस्थान में 120 भारतीय जवान सारी रात पाकिस्तान की टांक रेजिमेंट का सामना करते थे। फिल्म में कई स्टार्स थे इसके साथ ही इसके गानों ने भी लोगों के दिलों में जगह बनाई और फिल्म ब्लॉकबस्टर रही थी। 

 


द लेजेंड ऑफ भगत सिंह- 
राजकुमार संतोषी की 2002 में आई फिल्म ‘द लेजेंड ऑफ भगत सिंह’। इस फिल्म में अजय देवगन भगत सिंह के रोल में नजर आए। ये फिल्म भगत सिंह की लाइफ पर बेस्ड थी। जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी जान को कुर्बान कर दिया।

 


लक्ष्य-
2004 में आई फिल्म 'लक्ष्य' एक अलग ही कहानी को दिखाती है। फरहान अख्तर के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में ऋतिक रोशन के साथ साथ प्रीति जिंटा, अमिताभ बच्चन, ओम पुरी और बोमन ईरानी जैसे स्टार्स शामिल थे। इस फिल्म में ऋतिक लेफ्टिनेंट करण शेरगिल के रोल में थे, जो अपनी टीम को हैंडल कर आतंकवादियों पर जीत हासिल करते है। इस फिल्म की कहानी 1999 के कारगिल युद्ध पर आधारित एक काल्पनिक थी।

 


मंगल पांडे: द राइजिंग- 
2005 में आई फिल्म मंगल पांडे: द राइजिंग क्रांतिकारी मंगल पांडे की लाइफ पर बेस्ड थीफिल्म की कहानी उनके संघर्षों के इर्द-गिर्द घूमती है। फिल्म में मेन लीड में आमिर खान थे। मंगल पांडे को 1857 में ब्रिटिश ऑफीसरों पर हमले के लिए जाना जाता है और इसे अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई का आगाज भी माना जाता है।