बॉलीवुड की वो खूबसूरत हीरोइन अब मानसिक रोगी हो गई है !


Aug. 8, 2017, 4:55 p.m.

70 और 80 के दशक में एक खूबसूरत बॉलीवुड एक्ट्रेस हुआ करती थी सुलक्षणा पंडित। उस दौर की मैग्जीन में छपी खबरों के मुताबिक सुलक्षणा संजीव कुमार से बेइंतहा मोहब्बत करती थीं। लेकिन संजीव के दिलोदिमाग पर तो हेमा मालिनी छाई हुई थीं। उन्होंने सुलक्षणा के प्रेम प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। सुलक्षणा ने संजीव कुमार को बहुत मनाया था कि वे उससे शादी कर लें। लेकिन ऐसा नहीं हो सका। 1985 में जब संजीव कुमार की असमय मौत हुई, तो सुलक्षणा सदमे में चली गईं। कहते हैं सुलक्षणा अपना मानसिक संतुलन खो बैंठी और वो किसी को पहचानती भी नहीं हैं। उन्हें फिल्में मिलनी बंद हो गईं थीं और फिर गायिकी भी छूट गया था। आज वो खूबसूरत सुलक्षणा बिल्कुल बदल चुकी हैं।


 

सुलक्षणा की छोटी बहन एक्ट्रेस विजेता पंडित ने एक इंटरव्यू में बताया था कि संजीव कुमार ने उनकी बहन को धोखा दिया था। इस वजह से उनकी दीदी अपना मानसिक संतलुन खो बैठी थीं। उनकी हालत इतनी खराब हो गई कि वे अपनों को भी नहीं पहचान पाती थीं। विजेता ने बताया कि 2006 में वह उन्हें अपने घर ले आई थीं। वे एक कमरे में रहती हैं और किसी से मिलती-जुलती भी नहीं हैं। एक बार बाथरूम में गिर जाने की वजह से उनकी हिप बोन टूट गई थी। चार बार सर्जरी हुई। इस वजह से वे ठीक से चल भी नहीं पाती हैं। सुरक्षणा को आखिरी बार पब्लिकली आदेश श्रीवास्तव की मौत के बाद हुई प्रार्थना सभा में देखा गया था। 

12 जुलाई 1948 को जन्मी सुलक्षणा ने बहुत छोटी आयु से ही किशोर कुमार के साथ स्टेज पर गाना शुरू कर दिया था। जब उन्होनें किशोर कुमार की फिल्म दूर का राही’ में एक गीत गाया-‘बेकरार दिल, तू गाये जा, तभी सुलक्षणा जी की आवाज ने सुनने वालों का मन मोह लिया था। यह नई आवाज ऐसी थी जो आशा-लता को चैलेंज कर सकती थी। किशोर और सुलक्षणा में गहरा लगाव भी रहा ।

सुलक्षणा ‘किशोर कुमार शो’ का अभिन्न अंग थी। पर किशोर कुमार ने सुलक्षणा को अपनी प्राइवेट सम्पति, बना कर रखा उनके साथ रह कर सुलक्षणा का अपना व्यक्तित्व दबा रह गया। वह किशोर कुमार की स्टेज गायिका’ बन कर रह गई सुलक्षणा इस स्थिति से ऊब चुकी थी। वह अवसर की ताक में थी जब किशोर कुमार को ‘गुड बाई’ कह सके। ऐसे में सुलक्षणा को ‘संकल्प’ में हीरोइन बनने का ऑफर मिला तो उन्होनें बिना एक पल भी सोच-विचार किए ऑफर स्वीकार कर ली, फिल्म के चंद शॉट होते ही सुलक्षणा की अभिनय-कला निर्माताओं के सामने आ गई।

सुलक्षणा को एक के बाद एक फिल्में मिलने लगी। इसके बाद सुलक्षणा ने  'राज', 'हेरी-फेरी', 'अपनापन', 'खानदान', 'चेहरे पे चेहरा', 'धरम संकट', 'वक्त की दीवार' सहित अन्य फिल्मों में काम किया है। 1980 में उनका एक एल्बम 'जज्बात' आया था। सुलक्षणा ने जितेंद्र, विनोद खन्ना, राजेश खन्ना, ऋषि कपूर, राकेश रोशन सहित नामी एक्टर्स के साथ स्क्रीन शेयर की है। लेकिन फिल्म इंडस्ट्री की वो खूबसूरत एक्ट्रेसेस अब बीमार है। मानसिक संतुलन खो चुकी है। किसी को पहचानती तक नहीं। सुलक्षणा की जिंदगी अब छोटी बहन विजेता के भरोसे कट रही है।