पद्मावती के विरोध और बैन की मांग पर बिफरी दीपिका पादुकोेण


Nov. 14, 2017, 5:41 p.m.

 

 

देशभर में पद्मावती  पर आर -पार की लड़ाई छिड़ी हुई है। देश के कई हिस्सों में फिल्म का विरोध हो रहा है। यहां तक कि पॉलिटिकल पार्टियां भी फिल्म पर बैन लगाने की मांग कर रही हैं। फिल्म का लगातार विरोध और राजनेताओं की बैन लगाने वाली मांग पर आखि‍रकार रानी पद्मावती यानि दीपिका पादकोण का गुस्सा फूट ही पड़ा है। दीपिका ने कहा है कि , 'हम एक राष्ट्र के रूप में कहां पहुंच गए हैं? ये डरावना है, ये बहुत डरावना है, हम आगे बढ़ने के बदले पीछे जा रहे हैं। हमारी अगर किसी को जवाबदेही है तो वह सिर्फ सेंसर बोर्ड को है और मैं जानती हूं और मुझे पूरा विश्वास है कि इस फिल्म को रिलीज होने से कोई नहीं रोक सकता। ये सिर्फ पद्मावती से सं‍बंधि‍त नहीं हैं बल्कि हम एक बहुत बड़ी लड़ाई लड़ रहे हैं।'

दीपिका ने ये भी  कहा है कि , 'फिल्म की रिलीज बहुत जरूरी है और इसे रिलीज होने से कोई नहीं रोक सकता। एक महिला के रूप में मैं इस फिल्म का हिस्सा बनकर और इस कहानी को दुनिया को बताने के लिहाज से बेहद गर्व महसूस कर रही हूं। ये एक ऐसी कहानी है जिसे जरूर बताया जाना चाहिए ।' 

सियासी पचड़े में फंसी पद्मावती के खिलाफ कई बड़े राजनेता मैदान में उतर आए हैं। हालांकि बॉलीवुज से संजय लीला भंसाली को सहयोग मिल रहा है। सलमान खान ने भी इस फिल्म का सपोर्ट किया है और कहा है कि फिल्म पर रोक लगाने का हक सिर्फ सुप्रीम कोर्ट के पास है। फिल्म इंडस्ट्री के पांच संगठनों ने  भी बैठक कर कहा है कि सरकार को पद्मावती की रिलीज के लिए सुरक्षित माहौल देना चाहिए। भंसाली को मिल रही धमकियों और पद्मावती पर विरोध के खिलाफ फिल्म इंडस्ट्री के 5 संगठन 16 नवंबर को 15 मिनट के लिए शूटिंग पर रोक लगाकर अपना विरोध जाहिर करेंगे। 

Related news