Birthday Spl- मधुबाला का हर कोई दीवाना था, लेकिन वो थी किशोर कुमार की दीवानी


Feb. 14, 2018, 11:42 a.m.

नीतू कुमार : 14 फरवरी को होता है हिंदी सिनेमा की सबसे हसीन एक्ट्रेस मधुबाला का जन्मदिन। मधुबाला गुजरे दौर की नामचीन हीरोेइन थी। मधुबाला की निजी जिंदगी भी कम दिलचस्प नहीं थी। मधुबाला के दिल पर दिलीप कुमार, प्रेम नाथ और किशोर कुमार ने दस्तक दिया था। दिलीप  कुमार से अलग होने के बाद मधुबाला दिल के दर्द से तड़प रहीं थी। लेकिन उसी दौर में उनकी जिंदगी में किशोर कुमार आए। फिल्म 'महलों का ख्वाब' की शूटिंग के दौरान किशोर कुमार मधुबाला से मिले। इसके बाद दोनों ने ढाके की मलमल, हाफ टिकट, झूमरू और चलती का नाम गाड़ी जैसी फिल्मों में काम किया।  फिल्म चलती का नाम गाड़ी के सेट पर मस्तमौला किशोर मधुबाला को खूब हंसाते। किशोर के साथ मधुबाला दिलीप कुमार से अलग होेने का गम भूलने लगी। किशोर कुमार की शरारतों , उनके चुटकुलों पर मधुबाला दिल खोलकर हंसती थी।

मधुबाला के प्यार में गिरफ्तार किशोर कुमार मधुबाला के साथ किसी भी फिल्म में काम करने को बेकरार रहते थे ताकि मधुबाला के करीब रहने का उन्हे मौका मिल सके. 959 में मधुबाला जाग उठा इंसान में सुनील दत्त के साथ नजर आई. ये शक्ति सामंत की फिल्म थी । शक्ति सामंत इसके बाद कोयला खादान पर बेस फिल्म 'बारूद' मधुबाला को लेकर बनाना चाहते थे. किशोर कुमार को जब इस बात की जानकारी हुई. तो वो जिद करने लगे कि मधुबाला के अपोजिट हीरो उनको ही लिया जाए पर शक्ति सामंत ने उन्हे समझाया कि ये रोल आपके लायक नहीं है पर किशोर कुमार कुमार नहीं माने. इसके बाद शक्ति सामंत ने मधुबाला और किशोर कुमार को लेकर नॉटी ब्वॉय नाम के फिल्म की घोषणा की 


इस बीच किशोर कुमार और मधुबाला के रिश्तों और मजबूत हो गए । क्योकि मधुबाला दिलीप कुमार से अलग हो चुकी थी. अब मधुबाला भी किशोर कुमार को चाहने लगी थी इसका नतीजा ये हुआ कि दोनों ने एक साथ झूमरू महलों के ख्वाब. हॉफ टिकट नाम की फिल्मे की और  इधर शक्ति सामंत की फिल्म नॉटी ब्वॉय की शूटिंग जब शुरू हुई तो दो चार दिनों की शूटिंग के बाद मधुबाला बीमार रहने लगी और डॉक्टरों ने उन्हे आराम करने की सलाह दे दी । उस दौरान मधुबाला के दिल की बीमारी बढ़ने लगी थी। तलाश थी ऐसे साथी की, जो दिल के इलाज के लिए उनके साथ लंदन जाए। किशोर कुमार इसके लिए तैयार थे। लेकिन चाहते थे इससे पहले मधुबाला उनसे शादी करें। किशोर कुमार मधुबाला के साथ चलती का नाम गाड़ी जैसी हिट फिल्म दे चुके थे और मन ही मन मधुबाला की खूबसूरती पर फिदा थे।

 किशोर कुमार की शर्त जब मधुबाला के पिता ने सुनी तो वो तैयार नहीं हुए. लेकिन इस बार मधुबाला ने अपने पिता की बात नहीं मानी। 1960 में मधुबाला ने किशोर कुमार से शादी कर ली...मधुबाला मिसेज किशोर कुमार बन चुकी थीं. कहा जाता है कि मधुबाला ने अपने पिता की जिद और दिलीप कुमार की बेरूखी से तंग आकर किशोर कुमार से शादी का फैसला किया था। मधुबाला ने किशोर से शादी कर ये सोचा था हंसमुख मिजाज और उस दौर के बेहतरीन गायक के साथ उनकी बाकी की जिंदगी आराम से कट जाएगी। किशोर कुमार से मधुबाला की शादी पर किसी को यकीन नहीं हुआ। कहां मधुबाला जैसी स्क्रीन डीवा और मस्तमौला और मनमौजी किशोर कुमार. हालांकि किशोर कुमार मधुबाला के साथ लंदन साथ गए और इलाज के बाद वापस भी लौट आए। लेकिन शादी पर यकीन किसी को नहीं था लेकिन सच यही था।

 

किशोर कुमार के परिवार ने मधुबाला को बहू के तौर पर कुबूल नहीं किया था, बीमारी की गंभीरता का अंदाजा किशोर को भी नहीं था। लंदन में डॉक्टरों ने कहा था  डॉक्टरों ने कहा कि था कि मधुबाला की मौत एक साल के अंदर भी हो सकती है और वो 9 साल तक भी जिंदा रह सकती है। पहली पत्नी से तलाक और मधुबाला की गंभीर बीमारी से किशोर कुमार झटका लगा। मधुबाला की बहन मधुर की मानें, तो किशोर दा ने खुद को काम में बिजी कर लिया । 

किशोर मधुबाला को वक्त नहीं दे पाते थे तो वो भी उनका घर छोड़कर अपने बंगले अरबियन पैलेस में रहने लगी। किशोर मधुबाला के इलाज का खर्च उठाते रहे । उनसे मिलने आते रहे लेकिन धीरे-धीरे उनका आना-जाना कम हो गया। किशोर को लगता था कि उनके साथ धोखा हुआ है। उन्हें बीमारी की गंभीरता बताई नहीं गई। वहीं मधुबाला अब किशोर कुमार से शादी के गम में गल रही थीं. उन्हें ये यकीन नहीं होता कि शादी से पहले जो किशोर कुमार अपनी दीवानगी जाहिर करते नहीं थकते थे, वो अचानक ऐसे क्यों हो गए. चलती का नाम गाड़ी की शूटिंग के दौरान एक दिन तो किशोर कुमार ने हद ही कर दी थी. मधुबाला से शादी की हां बुलवाने के लिए उन्होंने अपना हाथ टेबल फैन के पास रख दिया और कहा कि अगर शादी के लिए ना करोगी तो अपने हाथ काट लूंगा. पहले हल्की सी खराब तबियत की खबर सुनकर, शूटिंग बीच में ही छोड़ कर दौड़े चले आते थे, वो किशोर अब महीनों तक घर का रुख नहीं करते। मधुबाला की बीमारी और फिर उनकी मौत के मामले में किशोर कुमार पर कई आरोप लगे लेकिन इस मसले पर किसी ने किशोर दा का पक्ष नहीं सुना। उनके दिल के दर्द पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। 

 

 

 

Related news

Trending