बॉलीवुड की वो दामिनी अमेरिका में रहती हैं, देखिए मीनाक्षी की तस्वीरें


Aug. 12, 2017, 5:56 p.m.

'हीरो', 'घायल', 'दामिनी' और 'घातक' जैसी फिल्‍मों में बेहतरीन अभिनय कर लोगों को अपना दीवाना बनाने वालीं मीनाक्षी शेषाद्रि अब गुमनाम हो चुकी हैं । देश छोड़कर परदेस में बस चुकी हैं मीनाक्षी। मीनाक्षी अपने पति हरीश मैसूर और दो बच्चों के साथ अमेरिका के डलास शहर में रहती हैं। साल 1995 में ही मीनाक्षी ने अमेरिका में रहने वाले इनवेस्टमेंट बैंकर हरीश मायर से शादी कर ली  । दोनों एक फिल्मी पार्टी में मिले थे। इश्क हुआ और दोनों ने गुपचुप शादी कर ली। मीनाक्षी की शादी का सस्पेंस ऐसा था कि कहा जाता है कि उनके परिवार के लोगों को भी इसकी जानकारी बाद में हुई। हरीश से शादी के बाद भी मीनाक्षी फिल्में करती रहीं।' दो राहें' मीनाक्षी की आखिरी फिल्म थी जो रिलीज नहीं हो पाई।

अमेरिका में भी मीनाक्षी ने डांस के शौक को नहीं छोड़ा। बचपन से क्लासिकल डांसर मीनाक्षी ने अमेरिका के टेक्सास में डांस ट्रेनिंग स्कूल खोला लिया। बॉलीवुड में आज भी मीनाक्षी के मुरीदों की कमी नहीं है लेकिन वो अपनी दुनिया में खुश हैं। सिल्वर स्क्रीन की हसीन हीरोइन घर-गृहस्थी संवारने में जुटी है। कभी कभार हिंदुस्तान आती-जाती हैं।शेषाद्रि का जन्म 16 नवंबर 1963 को सिंदरी (झारखंड) में हुआ था। मीनाक्षी का असली नाम शशिकला शेषाद्रि है। मीनाक्षी क्लासिकल डांस की 4 विधाओं भरतनाट्यम, कुचिपुड़ी, कत्थक और ओडिसी में पारंगत हैं। मीनाक्षी ने 17 साल की उम्र में मिस इंडिया का खिताब जीत लिया था। मीनाक्षी 18 साल की उम्र में फिल्मों में आईं और सुपरहिट हीरोइन बन गईं । 15 साल तक सिल्वर स्क्रीन इस दामिनी की दमक से चकाचौंध रहा।

साल 1983 में मनोज कुमार की फिल्म 'पेंटर बाबू' से मीनाक्षी ने सिल्वर स्क्रीन पर एंट्री की। फिल्म बुरी तरह फ्लॉप रही, पहले ही पायदान पर मीनाक्षी का हिंदी फिल्मों से मोहभंग हो गया। वो बॉलीवुड छोड़ने का मन बना चुकी थीं लेकिन उसी वक्त सुभाष घई ने उन्हें फिल्म 'हीरो' के लिए चुन लिया। साल 1983 में रिलीज हुई हीरो ब्लॉकबस्टर साबित हुई। मीनाक्षी शेषाद्री रातोंरात स्टार बन गई। कामयाबी का पैमाना ये था कि 32 साल पहले फिल्म हीरो ने बॉक्स ऑफिस पर 13 करोड़ से ज्यादा की कमाई कर ली । उस दौर में सिर्फ अमिताभ बच्चन की फिल्में ही इतनी कमाई कर पाती थीं । हीरो के बाद मीनाक्षी के पास फिल्मों के ऑफर्स की भरमार हो गई । राजेश खन्ना के साथ मीनाक्षी ने दोहरी भूमिका वाली फिल्म 'आवारा बाप' की, लेकिन वो बॉक्स ऑफिस पर निराशाजनक रही। मीनाक्षी ने राजेश खन्ना और रजनीकांत के साथ 1985 की फिल्म 'बेवफाई' में काम किया जिसने अच्छी कमाई की थी । मीनाक्षी ने अपने करियर में राजेश खन्ना, अमिताभ बच्चन, मिथुन चक्रवर्ती, जैकी श्रॉफ, अनिल कपूर, सनी देओल, और विनोद खन्ना जैसे बड़े स्टार्स के साथ कई फिल्मों में काम किया। 1991 में फिल्म ‘जुर्म’ के लिए और 1994 में फिल्म ‘दामिनी’ के लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट ऐक्ट्रेस का अवॉर्ड भी मिला था।

मीनाक्षी शेषाद्री की भी दिली ख्वाहिश अमिताभ के साथ फिल्म करने की थी लेकिन अमिताभ के साथ परदे पर आने के लिए मीनाक्षी को 5 साल तक इंतजार करना पड़ा।  अमिताभ बच्चन के साथ मीनाक्षी को काम करने का मौका दिया टीनू आनंद ने, वो फिल्म थी 'शंहशाह' । अमिताभ और मीनाक्षी की जोड़ी परदे पर सुपरहिट रही. उस दौर में अमिताभ के लिए मीनाक्षी की दीवानगी किसी से छिपी नहीं थी। शहंशाह के बाद दोनों ने गंगा जमुना सरस्वती, तूफान और अकेला फिल्में भी साथ-साथ की।  अमिताभ के साथ ने मीनाक्षी का करियर चमका दिया। 80 के दशक में श्रीदेवी के स्टारडम को टक्कर देने वाली मीनाक्षी अकेली हीरोइन थी 

मीनाक्षी ने अपने फिल्मी करियर की सबसे बेहतरीन फिल्में राजकुमार संतोषी के साथ की। 22 जून 1990 को फिल्मी परदे पर आई मीनाक्षी की फिल्म घायल। कहा जाता है घायल के दौरान फिल्म के डायरेक्टर राजकुमार संतोषी को अपनी हीरोइन से इश्क हो गया था। राजकुमार संतोषी कई फिल्मों में मीनाक्षी को ही बतौर हिरोइन साइन कर चुके थे। मीनाक्षी को लगातार फिल्में ऑफर करने का राज तब खुला जब संतोषी ने एक दिन अपने इश्क का इजहार कर दिया । मीनाक्षा ने राजकुमार संतोषी के प्रपोजल को स्वीकार नहीं किया था। घायल के बाद दामिनी मीनाक्षी के करियर की सबसे अहम फिल्म साबित हुई । दामिनी के दमदार किरदार से मीनाक्षी ने माधुरी दीक्षित के स्टारडम को भी चुनौती दे दी थी । एक्टिंग के साथ मीनाक्षी के तांडव डांस ने जमाने को दंग कर दिया था । 'दामिनी' के लिए मीनाक्षी को कई  अवॉर्ड्स मिलें। इस वक्त तक मीनाक्षी अपने करियर के टॉप पर थी लेकिन उसी दौरान उन्हें प्यार हुआ और बॉलीवुड की चमकती दुनिया को छोड़कर चली गई बॉलीवुड की दामिनी।

 

Related news

Trending