Film Review - न्यूटन शानदार फिल्म है, राजकुमार राव हर रोल को जीते हैं...एक्टिंग नहीं करते


Sept. 22, 2017, 3:29 p.m.

 

स्टार कास्ट - राज कुमार राव, पंकज त्रिपाठी, रघुबीर यादव, संजय मिश्रा

डायरेक्टर - अमित मसुरकर

रेटिंग- 3.5 स्टार

रिव्यू - नीरू शर्मा/नीतू कुमार

राजकुमार राव की फिल्म न्यूटन सिनेमाघरों में लग चुकी है। फिल्म की रिलीज के साथ बहुत बड़ी खुशखबरी आ गई है कि न्यूटन ऑस्कर के लिए चुन ली गई है। फिल्म 'बरेली की बर्फी' के बाद राजकुमार राव चर्चा में रह रहे हैं  और अब उनकी फिल्म ऑस्कर में जा रही है। वाकई बड़ी उपलब्धि है ये । न्यूटन में उनकी एक्टिंग शानदार है। मंझे हुए एक्टर हैं और हर रोल को जीते हैं.. एक्टिंग नहीं करते । 


कहानी - फिल्म में राजकुमार राव का नाम नूतन कुमार होता है। नूतन लड़कियों का नाम होता है लिहाजा वो अपना नाम न्यूटन रख लेते हैं। राजकुमार राव एक सरकारी कर्मचारी के रोल में है । ईमानदार हैं ..नियमों को फॉलो करने के आदी हैं।  नूतन कुमार 18 साल की लड़की से शादी करने से भी मना कर देता है और चुनावी ड्यूटी पर जुआं खेलने वाले अफसरों को फटकार भी देता है। न्यूटन को नक्सल प्रभावित इलाके में चुनावी ड्यूटी पर भेजा जाता है । नक्सल इलाके में कैसे न्यूटन वोट करवाता है इसे फिल्म में दिखाया गया है । नक्सल प्रभावित इलाके में लोग कैसे जिंदगी जीते हैं । छत्तीसगढ़ के जंगल, नक्सलियों का खौफ, सरकारी रवैया और चुनाव को प्रभावी तरीके से दिखाया गया है। 
एक्टिंग - राजकुमार राव की एक्टिंग अच्छी नहीं लाजवाब होती है । वो अपने रोल में घुस जाते हैं। यहीं इस फिल्म की सबसे बड़ी खासियत है। फिल्म के ज्यादातर कलाकार उम्दा एक्टर्स है चाहे वो रघुवीर यादव हो, संजय मिश्रा हो, अंजलि पाटिल हो या फिर पंकज त्रिपाठी । एक्टिंग के मामले में सबने ने बेतहरीन काम किया है।   

खासियत - करीब 350 स्क्रीन्स पर रिलीज हुई है फिल्म । बिजनेस बहुत अच्छा नहीं होगा लेकिन न्यूटन काबिले तारीफ फिल्म है। डायरेक्शन अच्छा है। फिल्म में आपको सबकुछ वास्तविक लगता है। फिल्म में  कॉमेडी भी है, मनोरंजन भी है और एक खास संदेश भी । राजकुमार राव की वजह से इस फिल्म को एक बार तो जरूर देखना चाहिए । हमारी तरफ से फिल्म को 3.5 स्टार ।  


 

Related news