आदित्य पंचोली की नौटंकी से लोग हैरत में

3 years ago

मुंबई, (10th March): आदित्य पंचोली अक्सर ड्रामा करने के लिए जाने जाते हैं। हाल ही में उन्होंने एक पब में बार टेंडर पर नशे की हालत में हमला करने के आरोप में अदालत में पेश किया गया था।

लेकिन यहां भी उनकी नौटंकी जारी रही। भरी अदालत में आदित्य पंचोली ने जो हरकतें की, उसे देखकर पुलिस, वकील और आम लोग हैरत में पड़ गए।आदित्य पुलिसवालों के साथ जब कोर्ट के बाहर गाड़ी से उतरे तो सबसे पहले मीडियाकर्मियों को गुडमॉर्निंग कहा।

ऐसा लग रहा था मानो किसी केस के सिलसिले में नहीं बल्कि मॉर्निंग वॉक पर निकले हों। खैर आदित्य आगे बढ़े और कोर्ट की सीढ़ियां चढ़ते हुए दरवाजे तक पहुंचे। इधर मीडियाकर्मी उनकी प्रतिक्रिया जानने के लिए उनका नाम पुकार रहे थे, जवाब में हीरो ने आसमान की ओर इशारा करके गणपति बाप्पा मोरया कहा।

ये तो आगाज था। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अंदर कोर्टरूम में क्या होने वाला है। कोर्ट रूम वकील, पुलिस, पत्रकार और लोगों से खचाखच भरा हुआ था। अभी जज नहीं पहुंचे थे। आदित्य को एक जगह बिठा दिया गया। उन्होंने कोर्टरूम में चारों तरफ नजरें दौड़ाईं। वो अपने परिवार के सदस्यों को ढूंढ रहे थे। लेकिन वहां उनके परिवार से कोई नहीं था। आदित्य की आंखें भर आईं। लेकिन इसके कुछ ही मिनटों बाद उनका ड्रामा शुरू हो गया।

आदित्य पंचोली उटपटांग बातें करने लगे, सीटीयां बजाने लगे। कोर्ट रुम में मौजूद पुलिस ने जब उन्हे शांत रहने को कहा तो आदित्य पंचोली उन्हें ही कानून समझाने लगे। कोर्ट में मौजूद सभी पुलिस वालों को आदित्य ने कहा कि अपनी टोपी उतारो। आदित्य ने कहा, आप लोगों को पता नहीं है कि कोर्ट में टोपी पहनना मना है।

आदित्य की बिन मांगी सलाह पर जब पुलिस ने गौर नहीं किया, तो आदित्य ने फिल्म अग्निपथ का एक डायलॉग सुना दिया। आदित्य ने कहा, हवा तेज चल रही है दिनकर राव, टोपी संभालो नहीं तो उड़ जाएगी। पुलिसवालों के बाद आदित्य का निशाना बने वहां मौजूद वकील। एक वकील के हेयरस्टाइल का मजाक उड़ाते हुए आदित्य ने कहा, ठाकुर ये बाल हमको दे दे।

वकील अरविंद तिवारी ने कहा कि मेरे साथ उन्होंने बदतमीजी की। मुझे देखकर कहा कि ये बाल मुझको दे दे ठाकुर। मैंने उससे कहा कि कोर्ट में ऐसी बात मत करो। वह फिर भी नहीं माना। मेरा अपमान हुआ भरी अदालत में।

वकील और पुलिस वालों से हटने के बाद आदित्य पंचोली ने कोर्ट रुम में मौजूद पत्रकारों और अन्य आरोपियों के साथ शरारत शुरू कर दी। आदित्य पंचोली आरोपियों और प्रेस रिपोर्टर को फ्लाइंग किस देने लग गए। कुछ पत्रकारों को वह आंख भी मार रहे थे। आदित्य पंचोली के वकीलों ने भी उन्हे शांत रहने के लिए कहा लेकिन आदित्य नहीं माने।

खैर अदालत की कार्रवाई खत्म हुई और उन्हें 50 हजार के निजी मुचलके पर जमानत मिल गई। आदित्य जब कोर्ट से बाहर निकले तो एक बार फिर उनका ड्रामेबाज अंदाज दिखा। वो मुंह पर उंगली रखकर आगे बढ़ चले। कोर्ट रूम के भीतर नौटंकी करने वाले आदित्य के वकील ने इन आरोपों को गलत बताया है।

Related Posts