आमिर ख़ान को गुजरात हाईकोर्ट से बड़ी राहत

3 years ago

अहमदाबाद (9th May) :एक तरफ बॉम्बे हाईकोर्ट से सलमान ख़ान को हिट एंड रन केस में सज़ा को स्थगित किए जाने से उनके प्रशंसकों ने राहत की सांस ली। वहीं शुक्रवार को ही गुजरात हाईकोर्ट ने बॉलिवुड के एक और सुपरस्टार आमिर ख़ान के ख़िलाफ़ चिंकारा को कथित तौर पर मारने के मामले को लेकर दाखिल आपराधिक शिकायत को रद्द कर दिया।

शिकायत में कहा गया था कि 2000 में कच्छ के एक गांव में फिल्म लगान की शूटिंग के दौरान संरक्षित पशु चिंकारा को कथित तौर पर मार दिया गया था।

कार्यवाहक चीफ जस्टिस वी एम सहाय ने तर्कों को सुनने के बाद आमिर ख़ान उनकी पूर्व पत्नी रीा दत्ता, निर्देशक आशुतोष गौवारिकर, एक्ज़ीक्यूटिव डायरेक्टर श्रीनिवास राव और सिनेमेटोग्राफर अशोक मेहता के ख़िलाफ़ आपराधिक कार्यवाही को रद्द कर दिया।

भुज, कच्छ में 2008 में ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट ने आमिर ख़ान और अन्य आरोपियों के ख़िलाफ़ ज़मानती वारंट जारी किए थे। आमिर ख़ान ने भुज कोर्ट के इस फैसले के ख़िलाफ़ हाईकोर्ट का दरवाजा़ खटखटाया। पहल ये मामला वन विभाग के एक अधिकारी ने दर्ज़ कराया था। मामला बंद होने के बाद आरटीआई कार्यकर्ता अमित जेठवा ने फिर से भुज कोर्ट में 2008 में शिकायत दर्ज़ कराई। जेठवा की खनन माफिया ने 2010 में जूनागढ़ ज़िले में हत्या कर दी थी।

आमिर ख़ान की पैरवी करने वाले वकील ने बताया कि फिल्म के अलावा ऐसा कोई सबूत कहीं नहीं था कि चिंकारा को मारा गया। किसी पर मामला दर्ज़ करने के लिए कुछ क़ानूनी सबूतों की आवश्यकता होती है। फिल्म के एक दृश्य के अलावा शिकायत में और कोई सबूत नहीं दिया गया।

Related Posts