जब कोर्ट में ही झपकी लेने लगे सलमान खान

3 years ago

सिद्धांत मिश्रा, मुंबई, (8th April): 2002 में जो हिट एंड रन केस हुआ था, वो 12 साल बाद अब अपने आखिरी मुकाम तक पहुंचने की कगार पर है। केस की आखिरी सुनवाई शुरु हो चुकी है और इसी के साथ सलमान के फ्यूचर पर भी सवाल उठने लगे हैं। सलमान खान कल सुनवाई के दौरान कोर्ट में मौजूद थे। इस दौरान सरकारी वकील ने सलमान, उनके गवाहों और ड्राइवर के बयानों को सवालों के घेरे में खड़ा किया।    

पिछले दो दिनों के दौरान मुंबई की सेशंस कोर्ट में जो कुछ हुआ उसने सलमान के फ्यूचर पर सवाल खड़ा कर दिया है। सुनवाई के दौरान पहली बार सलमान खान इतने परेशान दिखे।

सलमान खान हिट एंड रन केस में आखिरी दौर की सुनवाई सोमवार को शुरु हुई और मंगलवार भी चली। इन दो दिनों के दौरान सलमान खान खुद कोर्ट में मौजूद रहे और उन दलीलों और सवालों को खुद सुना जो उनके भविष्य को तय करेगीं।   

एक तरफ सलमान खान के सबसे अहम गवाह ड्राइवर अशोक सिंह के बयान की धज्जियां उड़ रही थीं तो, दूसरी तरफ सलमान खान बहुत परेशान थे। सारी रात शूटिंग करने के बाद अदालत पहुंचे सलमान खान को बुरी तरह से नींद आ रही थी। अदालत में सुनवाई के दौरान कभी वो सीट पर बैठकर झपकियां ले रहे थे, तो कभी अलमापी के सहारे खड़े होकर नींद भगाने की कोशिश कर रहे थे।

खड़े रहने के बावजदू एक बार तो सलमान को इतनी जोर की झपकी लगी कि वो गिरते-गिरते बचे। सलमान ने किसी तरह दीवार का सहारा लेकर खुद को संभाला। खड़े होने के बावजूद भी सलमान को जबर्दस्त नींद आ रही थी, लिहाजा सलमान ने कोर्ट रूम में ही स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज शुरु कर दी।

जिस वक्त सलमान खान कोर्ट रूम में कसरत कर रहे थे, उन्होंने अपनी चप्पलें भी उतार रखी थीं। इधर सलमान नींद और तनाव से परेशान थे उधर सरकारी वकील उनकी मुश्किलें और बढ़ा रहे थे, सवाल पर सवाल दाग कर।

सलमान सफेद शर्ट पहनकर अदालत में पहुंचे थे। जैसे ही जज ने सुनवाई का आदेश दिया, सरकारी वकील की दलीलों को सुनकर सलमान खान नरवस हो गए। उन्हें समझ नहीं आ रहा था कि वो आखिर क्या करें। दरअसल सरकारी वकील प्रदीप घरात ने अपनी सवालों की शुरुआत से ही सलमान खान के ड्राइवर अशोक सिंह कठघरे में खड़ा कर रहे थे।

सलमान के सामने ने वकील ने उनके ड्राइवर के बयान को दलीलों के साछ झूठा साबित करने की कोशिश की। दरअसल 31 मार्च को सलमान खान के ड्राइवर अशोक सिहं ने अदालत में पेश होकर गवाही दी थी कि हादसे के वक्त कार सलमान खान नहीं बल्कि वो चला रहा था। सलमान भी पहले कोर्ट में यही बयान दे चुके हैं कि कार वो नहीं चला रहे थे, बल्कि उनका ड्राइवर ड्राइव कर रहा था।

सरकारी वकील प्रदीप ने बहस के दौरान सवाल उठाए कि सलमान का ड्राइवर अशोक सिंह 12 साल से खामोश क्यों था? सलमान के पिता ने उसे पहले कोर्ट जाकर बयान देने कों क्यों नहीं कहा? सलमान को फंसता देख क्या अशोक सिंह वफादारी निभा रहा है? क्या कोर्ट में बयान देने के लिए सलमान ने उसे मोटी रकम दी है? सबकुछ जानने के बाद इतने साल चुप रहने वाले के बयान को क्या अहमियत दी जानी चाहिए? जब दोषी ड्राइवर था तो सलमान के पिता इतने दिनों तक खामोश क्यों थे?12 साल से अपने ड्राइवर की गलती की सजा सलमान क्यों भुगत रहे हैं?

सरकारी वकील ने कहा जब सलमान को घर ही जाना था तो वो इतनी तेज रफ्तार से कार क्यों चला रहे थे? हादसे वाली रात सलमान खान सफेद बकार्डी रम पी रखी थी। सलमान ने ग्लास में बकार्डी ली थी जो पानी जैसी दिख रही थी। रम की वजह से ही सलमान के ब्लड में 62 मिलीग्राम अल्कोहल पाया गया था।

सोमवार की तरह मंगलवार भी सलमान खान सुबह-सुबह ही अपने वकीलों के साथ सेशन कोर्ट पहुंच गए। सलमान के साथ उनकी बहन अलवीरा अग्निहोत्री भी मौजूद थीं।

सराकरी वकील प्रदीप घरत ने मंगलवार भी  अपने सवालात उसी रात से शुरु किए। वकील ने अदालत से कहा कि एक्सीडेंट के बाद सलमान घायलों को हॉस्पिटल ले जा सकते थे लेकिन वो वहां से चले गए?एक गवाह ने बताया था कि सलमान ड्राइविंग सीट से बाहर निकले थे और बॉडीगार्ड पिछले दरवाले से बाहर आया था। विटनेस ने बताया कि सलमान 15 मिनट बाद कार से तब निकले जब लोगों ने उन्हें बाहर आने को कहा। कार से बाहर आने के बाद सलमान गिरे, उठे फिर से गिरे और फिर से उठे थे। अगर सलमान खान दोषी नहीं थे तो फिर मौका-ए-वारदात से क्यों भागे?   

हिट एंड रन केस के अंजाम तक पहुंचने में बहुत कम वक्त बचा है। सूत्रों की माने तो 16 अप्रैल यानी सिर्फ 9 दिन बाद केस पर फैसला आ सकता है और इसी के साथ सलमान का भविष्य भी तय हो जाएगा।

Related Posts