फिल्म 'उड़ता पंजाब' पर विवाद की ये है पूरी कहानी, पढ़ें पूरी खबर..

2 years ago

मुंबई : फिल्म 'उड़ता पंजाब' को लेकर जमकर विवाद हुआ । मामला बॉम्बे हाईकोर्ट में पंहुचा जिसके बाद सुनवाई हुई। हाईकोर्ट ने प्रोड्यूसर्स से मूवी में एक सीन कट करने और तीन डिस्क्लेमर दिखाने को कहा है। इससे पहले, सेंसर बोर्ड ने मूवी में 13 कट्स लगाने को कहा था। प्रो़ड्यूसर्स इसी के खिलाफ थे। हाईकोर्ट ने सेंसर बोर्ड से 48 घंटे के अंदर ए सर्टिफिकेट जारी करने को कहा है। फिल्म मेकर्स का कहना है कि मूवी 17 जून को ही रिलीज होगी।

यह है वो सीन पर लगेगा कटफिल्म में पब्लिक के सामने टॉमी सिंह के यूरीन करने के सीन को हटाने को कहा गया है। यह कट नंबर 9 था। 3 डिस्क्लेमर लगेंगे। हम ड्रग्स का यूज प्रमोट नहीं करते। खराब शब्द सिर्फ हकीकत बयां करने के लिए हैं, प्रमोट करने के लिए नहीं। यह मूवी किसी राज्य की छवि खराब करने के लिए नहीं है।

हाईकोर्ट ने फिल्म के प्रोड्यूसर्स को 48 घंटे के अंदर ए सर्टिफिकेट देने को कहा है। 17 जून को फिल्म सर्टिफिकेशन एंड अपीलिएट ट्रिब्यूनल में इस मामले में सुनवाई है। आशंका जताई जा रही है कि इस फिल्म का असर 2017 के पंजाब असेंबली इलेक्शन पर हो सकता है। इसलिए इस पर पूरा विवाद हो रहा है। कई पार्टियां ड्रग्स को चुनावी मुद्दा बनाने की तैयारी में हैं।

दरअसल, फिल्म के क्लाइमेक्स में एक लोकल नेता चुनाव जीतने के लिए अपने मेनिफेस्टो के साथ ड्रग्स के पैकेट बांटता है। ड्रग्स को किस तरह दो-तीन प्रोडक्ट्स के साथ मिलाकर बनाते हैं और फैक्ट्री में यह कैसे बनती है, इसकी पूरी डिटेल फिल्म में है। यह भी बताया गया है कि किस तरह से ड्रग फैक्ट्रियां ऑपरेट हो रही हैं।फिल्म में शाहिद कपूर ड्रग एडिक्ट पॉप सिंगर बने हैं और अपने गानों में ड्रग्स के बारे में बताते हैं। फिल्म में आलिया भट्ट भी ड्रग एडिक्ट के कैरेक्टर में हैं।

इन मुद्दों को लेकर हो रहा है विवाद...

1. मूवी की शुरुआत से पंजाब का साइन बोर्ड हटाएं। 2. पंजाब, जालंधर, चंडीगढ़, अमृतसर, तरनतारन, जशनपुरा, अंबेसर, लुधियाना और मोगा के बोर्ड और डायलॉग फिल्म में जहां भी हैं, उन्हें हटाया जाए।3. गाना नंबर 1 से 'चिट्टावे' और ह## शब्द हटाया जाए। 4. गाना नंबर 2 से 'टॉ दी कॉक जेव्हे चिट्टी चिट्टी' और 'कोक' वर्ड हटाए जाएं। 5. गाना नंबर 3 से सरदार के खुजली करने वाला एक सीन आपत्तिजनक है। 6. 14 गालियों को हटाने का सजेशन दिया गया है। 7. 'इलेक्शन', 'एमपी', 'पार्टी', 'एमएलए', 'पंजाब', 'पार्लियामेंट' शब्द हटाए जाएं। 8. ड्रग्स के लिए इंजेक्शन लेते हुए क्लोजअप शॉट हटाने को कहा गया है।9. भीड़ के सामने टॉमी सिंह के किरदार के यूरिन करने वाले सीन हटाने का सजेशन है।10. 'जमीन बंजर ते औलाद कंजर', इस लाइन को हटाया जाए। 11. "कुत्ते का नाम जैकी चैन नहीं होना चाहिए", इस डायलॉग को बदला जाए। 12. पहला डिस्क्लेमर ऑडियो/वीडियो में होना चाहिए और वह कुछ इस तरह से हो, ''मूवी ड्रग्स के बढ़ते असर और इसके खिलाफ चल रही लड़ाई को दिखाती है। हम मानते हैं कि इसके लिए सरकार और पुलिस कोशिशें कर रही हैं। मगर ये लड़ाई लोगों के सहयोग के बिना नहीं जीती जा सकती।''13. ऑडियो/वीडियो में दूसरा डिस्क्लेमर मूवी फिक्शन के बारे में होना चाहिए।

Related Posts