'भोजपुरी सिनेमा में हीरोइनों को केवल नुमाइशी समझा जाता है'

3 years ago

मुंबई (16th March): भोजपुरी और हिन्‍दी सिनेमा में अपनी पहचान बनाने वाली श्वेता तिवारी, अब एक बार फिर चैनल एंड टीवी पर बेगुसराय नामक सीरियल से छोटे पर्दे पर छाने को तैयार है।

भोजपुरी सिनेमा को छोडने पर श्वेता ने कहा, 'मुझे यह कहते बहुत दु:ख हो रहा है कि भोजपुरी सिनेमा में औरतों को नुमाइश करने वाली मशीन समझी जाती है। सिनेमा बनाने वालों को दिमाग बदलने की जरूरत है।'

भोजपुरी भाषा के बारे में श्वेता बोली, 'भोजपुरी भाषा डबल मीनिंग वाली कतई नहीं है। उसे केवल सिनेमा और एलबम बनाने वालों ने डबल मीनिंग वाला बना दिया है। यही वजह है कि लोग इसे केवल डबल मीनिंग भाषा समझने लगे हैं।'वहीं आपको बता दें कि श्‍वेता तिवारी ने 'कसौटी जिंदगी' धारावाहिक से अपने करियर की शुरूआत से किया था।

Related Posts