मनीषा कोइराला बनीं जोगन, करेंगी पूजा-पाठ

3 years ago

पंकज कौशिक, हरिद्वार (18 फरवरी):  इलू-इलू गर्ल मनीषा कोइराला हरिद्वार में अपने गुरू के आश्रम में पहुंची। कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी को मात देने का बाद मनीषा का झुकाव अध्यात्म की ओर बढ़ा है। बताया जा रहा है कि हरिद्वार में पायलट बाबा के आश्रम में मनीषा करीब 15 दिनों तक रहेंगी और पूजा पाठ में शामिल होंगीं।

लंबी बीमारी पर विजय के बाद अब आध्यात्म की ओर मुड़ गई है। कभी बॉलीवुड की सबसे मशहूर अभिनेत्रियों में शुमार रही मनीषा कोइराला की जिंदगी हवन पूजा पाठ और आध्यात्म में जैसे रच बस गए हैं। फिल्मों में अपने अभिनय से करोड़ों लोगों की चहेती बनी मनीषा कोइराला मन की शांति के लिए अपने गुरू के आश्रम में पहुंची है।

आध्यात्मिक गुरू पायलट बाबा के आश्रम में मनीषा कोइराल करीब 15 दिनों का वक्त बिताएंगी और एक खास हवन के कार्यक्रम में शामिल होंगी। बॉलीवुड की इलू इलू गर्ल मनीषा कोइराला ने 90 के दशक में अपनी दिलकश अदाओं से दर्शको के दिल में खास पहचान बनाई थी। साल 1991 में फिल्म सौदागर से मनीषा कोइराला को बतौर अभिनेत्री बॉलीवुड में एंट्री मिली थी।  इसके बाद से मनीषा ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा।

साल 1994 में मनीषा कोइराला की फिल्म 1942 ए लव स्टोरी ने भी सफलता के झंडे गाड़े थे। इस फिल्म में मनीषा कोइराला ने अपने दमदार अभिनय से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया और उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नोमिनेट किया गया था।  

वर्ष 1995 में प्रदर्शित फिल्म बांबे मनीषा कोइराला के करियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में शुमार की जाती है। मणिरत्नम के निर्देशन में बनी इस फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिए मनीषा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर क्रिटिक्स पुरस्कार से सम्मानित की गई। इसके बाद साल 1996 में खामोशी, साल 1998 में दिल से में मनीषा कोइराला को अपने अभिनय के लिए बेहद वाहवाही मिली। शाहरूख, आमिर और सलमान खान जैसे बॉलीवुड के तमाम सुपरस्टार के साथ काम कर चुकी मनीषा कोइराला ने मायानगरी में एक अलग ही मुकाम हासिल किया था लेकिन इसके बाद बीमारी ने जैसे मनीषा की जिंदगी में भूचाल ला दिया।

गर्भाशय कैंसर की शिकार होने का बाद मनीषा को इलाज के लिए न्यूयार्क जाना पड़ा। इसके बाद उन्होंने कैंसर के खिलाफ कामयाब जंग लड़ी लेकिन इसी दौरान मनीषा का झुकाव आध्यात्म की भी हुआ। यही वजह है कि मनीषा को हाल के दिनो में कई बार पूजा-पाठ और भक्ति के कार्यक्रमों में देखा जाता है।

आध्यात्मिक गुरू पायलट बाबा के आश्रम में भी मनीषा अपने गुरू का आर्शीवाद लेने पहुंची थी ताकि जल्द से जल्द वे जिंदगी की मुश्किलों से निकल सकें और बॉलीवुड में कमबैक करने का उनका मिशन कामयाब रहे।

Related Posts