मर्दानगी पर क्या बोले बॉलिवुड ऐक्टर आमिर खान

3 years ago

नई दिल्ली (23 अप्रैल): बॉलिवुड ऐक्टर आमिर खान ने महिलाओं के खिलाफ रेप और हिंसा की समस्या पर कहा है कि देश में शक्ति का संतुलन बदलने की जरूरत है और मर्दानगी को फिर से परिभाषित किया जाना चाहिए। वह ‘विश्व में महिलाएं’ विषयक प्रतिष्ठित छठे वाषिर्क सम्मेलन में हिस्सा लेने यहां आए थे जिसका आयोजन मशहूर पत्रकार और लेखिका टीना ब्राउन ने यहां न्यॉ यार्क टाइम्स के साथ मिलकर किया। खान ने ‘भारत की वर्जनाओं से निबटना’ नामक सत्र में कहा, ‘‘बलात्कार भारत में एक बड़ा मुद्दा है।’’ उनकी इराकी मूल की अमेरिकी मानवतावादी जैनब साल्बी से परिचर्चा चल रही थी जिन्होंने वूमेन इंटरनेशनल की स्थापना की है। यह संगठन युद्धप्रभावित महिलाओं के लिए काम करता है। फिल्म ‘पीके’ के स्टार ने कहा कि बलात्कार पीड़िता से अक्सर पुलिस एवं चिकित्साकर्मी बुरा बर्ताव करते हैं और उसे शीघ्र न्याय नहीं मिलता। उन्होंने कहा, ‘‘भारत में शक्ति संतुलन बदलने की जरूरत है. जबतक दोषसिद्धि त्वरित एवं निश्चित नहीं होती, भारत में चीजें बदलने नहीं जा रही है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि एक समाज के तौर पर हमें बलात्कारी से किनारा करना और बलात्कार पीड़िता को गले लगाना होगा।’’ जब खान से डॉक्यूमेंट्री ‘इंडियाज डॉटर’ पर प्रतिबंध के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि यह फिल्म भारत में नहीं दिखायी गयी। वैसे उन्होंने अबतक यह फिल्म नहीं देखी है लेकिन हर जगह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता होनी चाहिए। उन्होंने बच्चों खासकर लड़कों को महिला-पुरूष संवेदनशीलता की पाठ पढ़ाये जाने की वकालत की और कहा कि समाज को छोटे लड़कों को यह समझने देना चाहिए कि रोना, डरना और अपनी भावनाएं व्यक्त करना बिल्कुल ठीक है। खान ने कहा , ‘‘क्या असल आदमी वह है जो जाता है और लोगों को पीटता है, क्या असल आदमी वह है जो रक्षक है.... जबतक आप इस पर विचार नहीं करते या इसकी फिर से परिभाषा नहीं करते कि आदमी कौन है, चीजें नहीं बदलने वाली है।’’ उन्होंने कहा कि भारत में लोगों से बाचतीत के आधार पर एक असल व्यक्ति की परिभाषा यह है कि वह रोये नहीं, अपनी पत्नी का हाथ नहीं पकड़े और अपने बच्चों को गले नहीं लगाए। खान ने कहा, ‘‘असल पुरूष कौन है, की इन परिभाषाओं के मुताबिक तो मैं बिल्कुल सही पुरूष नहीं हूं, क्योंकि मैं हर वक्त अपनी पत्नी के हाथ पकड़ता हूं, अपने बच्चों को गले लगाता है और रोता हूं।’’

Related Posts