सलमान के साथ पहली फिल्म करने वाली यह ऐक्ट्रेस 'वन फिल्म वंडर' बन गईं

3 years ago

मुंबई (23 फरवरी): फिल्म 'मैंने प्यार किया' की चुलबुली, शर्मीली नायिका सुमन यानी फिल्म अभिनेत्री भाग्यश्री हिंदी सिनेमा जगत की उन अभिनेत्रियों में से हैं, जो भले ही सालों तक पर्दे से दूर रही हों पर जब तक फिल्मों से जुड़ी रहीं, सिनेप्रेमियों को अपना मुरीद बनाए रखा। महाराष्ट्र के शाही पटवर्धन खानदान में 23 फरवरी 1969 को श्रीमंत राजा विजय सिंह राव माधोराव पाटवर्धन की संतान के रूप में भाग्यश्री का जन्म हुआ था। भाग्यश्री का पूरा नाम श्रीमंत राजकुमारी भाग्यश्री राजे पटवर्धन है।

भाग्यश्री को साल 1989 में आई सुपरहिट फिल्म 'मैंने प्यार किया' की नायिका के रूप में याद किया जाता है। लेकिन फिल्मकार सूरज बाड़जात्या की इस फिल्म के बाद जहां अभिनेता सलमान खान के करियर की गाड़ी ने सरपट दौड़ लगाई थी, वहीं भाग्यश्री का करियर उनकी एक जिद के कारण वहीं ठहर गया।

भाग्यश्री ने अपनी पहली फिल्म के बाद ही बचपन के दोस्त हिमालय दासानी के साथ शादी और यह जिद ठान ली कि जिस फिल्म की वह हिरोइन होंगी उसमें हीरो उनके पति ही होंगे। यह बात निर्माता-निर्देशकों को रास नहीं आई, जिसका नतीजा यह हुआ कि भाग्यश्री को फिल्में मिलनी बंद हो गईं और उनका अभिनय करियर ठप हो गया।

शादी के बाद उन्होंने हालांकि 1992 में अपने पति हिमालय के साथ तीन फिल्मों 'कैद में है बुलबुल', 'त्यागी' और 'पायल' में काम किया, लेकिन ये फिल्में असफल रहीं। आखिरकार भाग्यश्री ने जिद छोड़ी और अविनाश वधावन के साथ 1993 की 'घर आया मेरा परदेशी' में भी अभिनय किया। यह उनकी 90 के दशक की आखिरी फिल्म थी। उसके बाद भाग्यश्री फिल्मी पर्दे और सिनेमा की सुर्खियों से गायब हो गईं।

महाराष्ट्र के शाही मराठी परिवार की बड़ी बेटी भाग्यश्री का अभिनय के क्षेत्र में वैसे एक संयोग ही था। उस दौर के मशहूर टीवी एंकर अमोल पालेकर ने भोली सूरत, मनमोहक मुस्कान वाली भाग्यश्री को अपने टीवी धारावाहिक 'कच्ची धूप' में काम करने के लिए कहा, जो उनके पड़ोस में रहती थी। धारावाहिक हिट रहा और भाग्यश्री घर-घर की चहेती बन गईं।

भाग्यश्री ने 'कच्ची धूप' के बाद 'होनी अनहोनी' और 'किस्से मियां बीबी के' धारावाहिकों में भी काम किया। फिल्मों से लंबे समय तक गायब रहने के बाद भाग्यश्री 2001 में फिल्म 'हैलो गर्ल्स' के साथ पर्दे पर लौटी। इसके बाद वह 2006 में 'हमको दीवाना कर गए' और 2008 में 'रेड अलर्ट' में नजर आईं।

सालों बाद उन्होंने धारावाहिक 'आंधी जज्बातों की' से टीवी पर वापसी की, जिसमें उन्होंने एक राजनीतिज्ञ की भूमिका निभाई। उन्होंने दो-एक मराठी फिल्मों में भी काम किया। भाग्यश्री ने एक इंटरव्यू में कहा था कि यदि वह अभिनेत्री नहीं होतीं, तो एक वकील होतीं, लेकिन उनके पिता इसके पक्ष में नहीं थे।

भाग्यश्री दो बच्चों अवंतिका और अभिमन्यु की मां हैं और अब फिल्म और टेलीविजन से दूर हो गई हैं। वह पति की मीडिया कंपनी 'सृष्टि एंटरटेंमेंट' की प्रमोटर हैं। इन दिनों भाग्यश्री अपने बेटे अभिमन्यु को फिल्मों में लॉन्च करने की तैयारी कर रही हैं।

Related Posts