'10 लाख का जुर्माना उनको दे दे रामू'!

3 years ago

मुंबई(1st September): बॉलिवुड की कल्ट फिल्म मानी जाने वाली 'शोले' का रीमेक बनाना निर्माता-निर्देशक राम गोपाल वर्मा को भारी पड़ा है। दिल्ली हाईकोर्ट ने वर्मा और उनके प्रोडक्शन हाउस पर 10 लाख रुपये जुर्माना लगाया है।

दरअसल वर्मा पर ये जुर्माना 2007 में उनकी बनाई फिल्म 'राम गोपाल वर्मा की आग' के लिए लगाया गया है। "राम गोपाल वर्मा की आग" 1975 की ब्लॉक बस्टर फिल्म "शोले" का रीमेक थी। शोले में गब्बर का हिट डॉयलॉग था- 'ये हाथ हमको दे दे ठाकुर' । राम गोपाल वर्मा पर जुर्माना लगने के बाद सोशल मीडिया पर चुटकियां ली जा रही हैं। ऐसी ही एक चुटकी में कहा गया- 'ये जुर्माना उनको दे दे रामू' । राम गोपाल वर्मा को बॉलिवुड में रामू के नाम से ही जाना जाता है।

दरअसल वर्मा ने "शोले" का रीमेक बनाकर इसके डायरेक्टर रमेश सिप्पी विशेष कॉपीराइट का उल्लंघन किया है। जस्टिस मनमोहन सिंह ने कहा कि वर्मा और अन्य लोगों ने जानबूझकर वादी के कॉपीराइट के अधिकारों का उल्लंघन कर फिल्म बनाई है।

कोर्ट ने ये आदेश "शोले" के मूल निर्माता विजय सिप्पी और जी.पी. सिप्पी के बेटे-पोते साशा सिप्पी द्वारा दायर मुकदमे पर दिया गया है। कोर्ट ने 10 लाख का जुर्माना वर्मा, उनके प्रोडेक्शन हाउस आरजीवी प्रोडक्शन प्राइवेट लिमिटेड, वर्मा कॉर्पोरेशन लिमिटेड और मधु वर्मा पर लगाया है।

कोर्ट के आदेश में कहा गया है कि फिल्म में मूल फिल्म जैसे प्लाट, कैरेक्टर समेत, म्यूजिक, लेरिक्स, बैकग्राउंड स्कोर और यहां तक की डायलॉग का इस्तेमाल करना कॉपीराइट के अधिकार का उल्लंघन है।

Related Posts