आतंकवादियों की कमर तोड़ने वाली भारतीय फिल्मों को आतंक का आका पाकिस्तान बैन कर देता है !

1 months ago

 


फिल्में समाज का आईना होती हैं। पिछले कई सालों से भारत आतंकवाद की समस्या से जूझ रहा है और बॉलीवुड फिल्मों में आए दिन आतंकवाद की समस्या और उसके जड़ से खत्म करने पर फिल्में बनती हैं। बॉलीवुड ने पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद के खिलाफ कई फिल्में बनाई हैं और पाकिस्तान इन फिल्मों को अपने देश में रिलीज नहीं होने देता। 


उरी - द सर्जिकल स्ट्राइक - 2019 



साल 2019 के शुरुआत में उरी द सर्जिकल स्ट्राइक फिल्म रिलीज हुई। साल 2016 में भारतीय सेना ने पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक कर अपनी वीरता का परिचय दिया था जिस पर फिल्म उरी बनी है। पाकिस्तान में भारत के सर्जिकल स्ट्राइक पर बनी इस फिल्म ने अब तक 217 करोड़ का बिजनेस किया। इस फिल्म में दिखाया गया था कि कैसे भारतीय सैनिकों ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकवादियों को जहन्नूम पहुंचाया। आतंक के आका पाकिस्तान को ये फिल्म पसंद नहीं आई लेकिन भारत में ये फिल्म खूब चली। 

आतंक के आका पाकिस्तान ने फिल्म उरी को अपने देश में रिलीज नहीं होने दिया। 


टाइजर जिंदा है - 2017 




आतंक को पनाह देने वाले पाकिस्तान ने सलमान खान की ब्लॉकबस्टर फिल्म टाइगर जिंदा है को भी अपने देश में बैन कर दिया। भारत की खुफिया एजेंसी Raw पर बनी ये फिल्म पाकिस्तान को पसंद नहीं आई। पाकिस्तानी सिक्युरिटी एजेंसी और इंडिया के बीच विवाद के चलते पाकिस्तान सरकार ने इस फिल्म पर बैन लगा दिया था। दरअसल फिल्म में कुछ न कुछ ऐसा था, जो पाकिस्तान के नेशनल इंटरेस्ट के अगेंस्ट था। इस फिल्म में भारतीय जासूस 

 

एक था टाइगर  ( 2012 ) 



पाकिस्तान ने एक था टाइगर को भी बैन कर दिया था। इस फिल्म में हिंदुस्तान और पाकिस्तान के जाससों में प्यार हो जाता है। पाकिस्तान ने इस फिल्म को हरी झंडी नहीं दिखाई थी। इस फिल्म में दिखाया गया कि कैसे RAW के एजेंट आईएसआई पर भारी पड़ते हैं। भारतीय जासूस आतंक का खात्मा करते हैं। 

 



एजेंट विनोद 



साल 2012 में आई डायरेक्टर श्रीराम राघवन की फिल्म 'एजेंट विनोद' में सैफ अली खान, करीना कपूर और प्रेम चोपड़ा थे। इस फिल्म को रिलीज के कुछ दिनों पहले ही बैन किया गया था। इस फिल्म में सैफ अली खान इंडियन इंटेलीजेंस में होते हैं। फिल्म का मेजर इश्यू ये था कि इसमें सीनियर पाकिस्तानी ऑफिसर्स को अफगानिस्तान में तालिबान का सपोर्ट करते हुए दिखाया गया है।

 


राजी - 2018


 



साल 2018 में रिलीज हुई सुपरहिट फिल्म राजी को भी पाकिस्तान ने अपने देश में रिलीज नहीं होने दी थी। राजी एक भारतीय जासूस की कहानी थी। आलिया भट्ट की इस फिल्म में पाकिस्तानी आर्मी ऑफिसर से शादी करती हैं ताकि भारत की आर्मी को मजबूत कर सकें। पाकिस्तान के सेंसर बोर्ड का मानना था कि इस फिल्म में विवादित कंटेट है और इसमें पाकिस्तान की नेगेटिव छवि दिखाई गई है । इसी वजह से आलिया भट्ट की राजी फिल्म पाकिस्तान में रिलीज नहीं हुई थी।




फैंटम - 2015 




2015 में सैफ अली खान की फिल्म फैंटम रिलीज हुई थी। फिल्म में दिखाया था कि कैसे पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों को भारत का एक सैनिक ढूंढ-ढूंढ कर मारता है। उन आतंकवादियों से बदला लिया जाता है कि जिन्होंने पाकिस्तान में बैठकर भारत के मुंबई शहर पर हमला किया। इस फिल्म में पूरी तरह दिखाया गया कि कैसे पाकिस्तान आतंकवादियों को अपने देश में पाल रहा है। पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म को भी अपने देश में नहीं रिलीज होने दिया था। 


बेबी - 2015 




अक्षय कुमार की फिल्म बेबी भी पाकिस्तानी सेंसर बोर्ड को कहां पसंद आने वाली थी। फिल्म में दिखाया गया कि मसूद अजहर से मिलते जुलते आतंकवादी को भारतीय एजेंट्स किडनैप कर ले आते हैं। बेबी फिल्म पूरी से पाकिस्तान और उसके आतंकवादियों पर बनी थी। भारत की फिल्म बेबी को पाकिस्तान ने बैन कर दिया था। 

 

 PICS - INTERNET