single-post

PICS - 47 साल की हुईं नम्रता शिरोडकर, महेश बाबू से शादी के बाद घर परिवार में व्यस्त हैं।

Jan. 22, 2019, 1:37 a.m.

1993 की मिस इंडिया और बॉलीवुड एक्ट्रेस  नम्रता शिरोडकर ने अब फिल्मों को अलविदा कह दिया है।  नम्रता ने 1998 में के साथ फिल्म 'जब प्यार किसी से होता है' से डेब्यू किया था। हालांकि उन्हें फेम 1999 में आई 'वास्तव' से मिला। फिल्म में वो संजय दत्त की वाइफ के रोल में थी ।  नम्रता ने कच्चे धागे, पुकार, हेरा फेरी, अस्तित्व , आगाज, हीरो हिंदुस्तानी और मेरे दो अनमोल रतन जैसी फिल्मों में लीड रोल किया लेकिन इसके बावजूद वो बॉलीवुड में अपने पैर नहीं जमा सकीं।

नम्रता का जन्म  महाराष्ट्र के एक ब्राह्मण परिवार में 22 जनवरी, 1972 को जन्म लेने वाली नम्रता शिरोडकर 47 साल की हो गई है। उनकी बड़ी बहन शिल्पा शिरोडकर मशहूर अभिनेत्री रही हैं। इनकी दादी भी बीते जमाने की मशहूर अभिनेत्री थीं, जिनका नाम था मीनाक्षी।  नम्रता पहली बार स्विम सूट पहनकर बड़े पर्दे पर आईं तो चर्चा का केंद्र बन गईं। 

मिस इंडिया रह चुकी नम्रता का लुक आज एक दम बदल गया है। कभी बेहद स्टाइलिश दिखने वाली नम्रता आज छोटे-छोटे बालों में सबको चौंकाती हैं।। साउथ सुपरस्टार महेश बाबू की पत्नी हैं नम्रता शिरोडकर । 

 

नम्रता ने 10 फरवरी, 2005 को  एक्टर महेश बाबू से शादी की। दो बच्चों की वो मां हैं। अगस्त, 2006 में उनके बेटे गौतम का जन्म हुआ। नम्रता की बेटी सितारा का जन्म 20 जुलाई, 2012 को हुआ। नम्रता फिलहाल पति महेश बाबू के साथ हैदराबाद में रहती हैं।

फिल्म 'वास्तव' की शूटिंग के दौरान उनका अफेयर महेश मांजरेकर के साथ हुआ, लेकिन वे ज्यादा दिन साथ नहीं रह पाए । साल 2000 में तेलुगू फिल्म 'वानसी' की शूटिंग के दौरान उनकी मुलाकात दक्षिण के सुपरस्टार महेश बाबू से हुई। महेश बाबू, नम्रता से उम्र में तीन साल छोटे हैं। दोनों में प्यार हुआ और फिर नम्रता और महेश बाबू ने शादी कर ली। 

नम्रता आखिरी बार फिल्म 'ब्राइड एंड प्रेजुडिस' और 'रोक सको तो रोक लो' में नजर आई थीं। फिल्म 'वास्तव' के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के तौर पर आईफा पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था। शादी के बाद उन्होंने अपनी अभिनय की जिंदगी से मुंह मोड़ लिया और पारिवारिक जिंदगी में व्यस्त हो गईं । 

कुछ दिन पहले नम्रता का बिल्कुल अलग लुक सामंने आया है। उन्होने अफने बाल बहुत छोटे करवा लिए थे। कहा गया था कि नम्रता ने अपने बाल बालाजी मंदिर में दान किए थे