Birthday Spl - मोहम्मद रफी साहब को छोड़कर चली गई थी उनकी पहली बीवी

4 weeks ago

रफी की आवाज ऐसी थी कि अपने दौर के हर अदाकार पर फिट बैठती थी। वो चाहे दिलीप कुमार हों, देव आनंद हों या राजकपूर  हालांकि 50 के दशक में देव आनंद किशोर कुमार के साथ और राजकपूर मुकेश की आवाज के साथ मशहूर हुए लेकिन रफी की आवाज को किसी सुपरस्टार की दरकार नहीं थी । सदाबहार गायक मोहम्मद रफी का 24 दिसंबर को जन्मदिवस होता है। रफी के फैंस उन्हें याद कर रहे हैं।  

मोहम्मद रफी के मशहूर के गानों के अलावा उनकी निजी जिंदगी के बारे में बहुत कम ही लोग जानते होंगे। मोहम्मद रफी की दो शादियां हुई थीं और उनकी पहली पत्नी ने उनका साथ छोड़कर चली गई थी।  मोहम्मद रफी की पहली शादी उनकी कजिन बशीरा बानू से उनके पैतृक गांव में हुई थी। यह शादी ज्यादा दिन नहीं चली, क्योंकि बशीरा ने रफी के साथ भारत आने से मना कर दिया।  

बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के समय काफी हिंदू-मुस्लिम दंगे हुए थे और इन दंगों में बशीरा के माता-पिता की मौत हो गई थी। इन दंगों से वह इतनी डर गईं कि उन्होंने भारत में रहने से इनकार कर दिया और वह लाहौर में ही रह गईं जबकि रफी अपने सिंगिंग करियर को जारी रखते हुए मुंबई में ही रहे। 

 दुनिया के लिए हजारो रोमांटिक गाने गा गए रफी साहब, लेकिन उनकी अपनी जिंदगी में रोमांस के लिए कोई जगह नहीं थी। पहली पत्नी के पाकिस्तान चले जाने के बाद उन्होंने बिलकिस बानो से शादी की वो शादी आखिरी सांस तक निभाई. बिलकिस और रफी के 7 बच्चे हुए यही रफी साहब की दुनिया थी। 

 इससे अलग न कभी रफी साहब का किसी अफेयर में नाम उछला, न किसी से मुहब्बत की कानाफुसियां सुनने को मिली. जैसा कि आम सिनेमा हस्तियों की जिंदगी में होता है। बाद में, मोहम्मद रफी की दूसरी शादी बिलकिस बानो से हुई थी। पहली पत्नी बशीरा से मोहम्मद रफी के एक बेटे सईद थे जबकि दूसरी पत्नी से उनके चार बच्चे नसरीन, खालिद, परवीन और हामिद हुए।