फादर्स डे स्पे.- बेटा हो तो सलमान जैसा, पापा सलीम से बिना पूछे कोई काम नहीं करते दबंग खान

1 months ago

हमारी जिंदगी में पिता की कितनी अहमियत होती है ये हम सब जानते हैं। मां के बाद एक पिता ही हैं जो अपने बच्चे का खुद से ज्यादा ख्याल रखते हैं। पिता और पुत्र का रिश्ता ही इतनाअनोखा होता है। 16 जून को फादर्स डे है, ऐसे में हर कोई इस दिन अपने पिता के लिए कुछ ना कुछ खास जरूर करेगा। क्योंकि ये एक ऐसा दिन होता है जो स्पेशली आपके पिता के लिए ही डेडिकेट होता है। आम जिंदगी की तरह बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में पिता के बलिदान और प्यार को लेकर कई फिल्में बनाई गई हैं। वहीं कई सितारे ऐसे हैं जिनका उनके पिता से बेहद ही गहरा नाता है। बॉलीवुड एक्टर सलमान खान ने तो खुद को एक बेटे के तौर पर अच्छे से स्थापित किया है। अपने पापा सलीम खान के लिए सलमान प्यार और सम्मान कई मौके पर जाहिर कर चुके हैं। 

सलमान अपने पिता की हर बात मानते हैं। कहते हैं कि सलमान बिना पिता के मिले घर से बाहर तक नहीं निकलते हैं। पापा सलीम खान की जब भी तबियत खराब होती है तो सलमान हर काम छोड़ देते हैं। सलमान अपने पिता को पूछे बिना कोई काम नहीं करते हैं। पापा सलीम खान जो कहते हैं कि सलमान के लिए वही सच होता है। पापा के साथ सलमान मस्ती भी करते हैं। यहां तक कि अपनी आने वाली फिल्मों के लिए सलमान पहले पापा से राय लेते हैं। पिछले साल ही फादर्स डे के मौके पर सलीम खान ने खुद बेटे के लिए एक वीडियो मैसेज दिया था। इसमें वो कहते नजर आए थे कि, पिता और बेटे के रिश्ते को कोई परिभाषित नहीं कर सकता। 

सलमान सेहतमंद रहें और खुदा उन्हें इज्जत दें, पैसे वैसे तो हम खुद कमा लेंगे।अपने पापा की ये बात सुन कर ऐसा पहली बार हुआ जब सलमान खुद को इमोशनल होने से रोक नहीं पाए।उनकी आंखों से साफ़ झलक रहा था कि वह पिता की बातों को सुन कर भावुक हो गए। सलीम खान ने बेटे सलमान को हर मुश्किल घड़ी में सपोर्ट किया है। पिछले साल सलमान जब काला हिरण शिकार मामले में जेल गए थे तो सलीम खान ने एक इंटरव्यू में बताया था कि कैसे जेल में सलमान को जिंदगी गुजारनी पड़ी थी। 

भले ही कुछ दिनों के लिए ही सलमान जेल में थे पर मुश्किलें और परेशानियां सलीम साहब झेल रहे थे। आखिर वो एक पिता जो ठहरे। सलीम खान ने बताया कि, जब मैं सलमान से जेल में मिलने के लिए जोधपुर गया तो वहां बुला लोग कह रहे थे 343 को ले आओ। उसे फिर बंद कर दो । फिर बोले 343 आ गए। जब हमने पलटकर देखा तो 343 कोई और नहीं सलमान ही था। 

सलमान की दाढ़ी बढ़ी हुई थी। बाल बिखरे हुए थे। इसके बाद जेलर ने कहा उसे फिर बंद करो दो। सलीम खान ने कहा कि सलमान को देखकर हमे लगा कि जेल में नाम कैसे नंबर में बदल जाता है। सलीम खान ने बताया कि, सलमान को इस बात का दर्द हमेशा रहता है कि उसने अपने मां-बाप को बहुत तकलीफ दी है। 

खैर इन सभी संघर्षों के बाद सलमान आगे बढ़े और उस केस से भी बरी हुए। सलमान को जब पिछले साल ही डेथ थ्रेट मिली थी तो उस दौरान सलीम खान काफी चिंतित हो गए थे। साफ है कि शब्दों में सलमान और पिता सलीम खान का रिश्ता बयां नहीं किया जा सकता है।