आलिया की मां सोनी राजदान पर कंगना की बहन रंगोली और पायल ने किया हमला, जानिए पूरा माजरा ?

1 week ago

इन दिनों पूरे देश में चुनावी माहौल देखने को मिल रहा है। हर तरफ लोकसभा चुनाव के ही चर्चे हो रहे हैं। वहीं देश में वोट देने की अपील भी की जा रही है। लेकिन बॉलीवुड में कई सितारे ऐसे भी हैं जो वोट नहीं दे सकते है। दरअसल इसमें आलिया भट्ट का नाम शुमार हैं। आलिया भट्ट इंडिया में वोट नहीं दे सकती है। दरअसल आलिया के पास ब्रिटेन की नागरिकता है। वहीं हाल ही में आलिया से इसी को लेकर सवाल भी किया गया था तो उन्होंने कहा था कि हां मैं वोट नहीं दे सकती हूं क्योंकि मेरे पास यहां की नागरिकता नहीं है। वहीं आलिया के चलते उनकी मां सोनी राजदान को भी इन दिनों काफी ट्रोल किया जा रहा है। सोनी राजदान अपने एक ट्वीट के ज़रिए विवादो में घिरी हुईं हैं। अपने इस ट्वीट में उन्होने जुनैद खान की तस्वीर डाली थी जिसे हरियाण के बल्लभगढ़ के पास एक ट्रेन में मार दिया गया था। इसी पर पहले तो कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल उन पर भड़की हैं। इसके बाद एक्ट्रेस पायल रोहतगी ने भी सोनी राजदान पर सवाल खड़े किए हैं। दरअसल सोनी राजदान ने अपने ट्वीट में लिखा था कि, मैं जुनैद खान हूं, मुस्लिम लड़का और उम्र 15 साल है। मुस्लिम होने के नाते हुए ट्रेन में भीड़ ने मुझे मार दिया। वोट देते समय मुझे याद रखें। सोनी राजदान के इस ट्वीट के बाद उन्हें काफी ट्रोल किया गया था।



 इसी पर पहले कंगना की बहन रंगोली ने लिखा कि, ये गैरभारतीय जो इस धरती पर रह रहे हैं, यहां के लोगों को इस्तेमाल कर रहे हैं और गालियां दे रहे हैं, असहिष्णुता के बारे में झूठ बोल रहे हैं और नफरत फैला रहे हैं। वक्त आ गया है कि इनके एजेंडा को पहचाना जाए और इनके बहकावो में न आया जाए। सोनी राजदान अपने ट्वीट के चलते इसलिए ट्रोल हुईं क्योंकि उन्होंने वोट के नाम पर धर्म को जोड़ दिया। साथ ही उन पर सोशल मीडिया पर आरोप लग रहा है कि, सोनी राजदान ने सीधे से एक खास समुदाय को सपोर्ट कर रही हैं औऱ उन्हें भड़का रही हैं। वहीं कंगना के बाद पायल रोहतगी ने भी इसी मसले पर एक ट्वीट किया और सोनी राजदान पर निशाना साधा। 


पायल ने ये कह डाला कि, सोनी राजदान देश में नफरत फैला रही। वो एक ब्रिटिश मुसलमान हैं। साथ ही उनकी बेटी आलिया भी ब्रटिश से हैं। इसके अलावा पायल ने अपनी वीडियो में भट्ट परिवार को लेकर भी कई बातें कही हैं। जब बात ज्यादा बढ़ी तो सोनी राजदान ने भी अपने बचाव में ट्वीट कर सफाई दी है और कहा है कि, हम सबसे पहले इंसान हैं औऱ जहां हम रहते हैं वहां के नागरिक हैं। लोगों से नफरत के खिलाफ वोट करने का आग्रह करने का नागरिकता से कोई लेना-देना नहीं है। साफ है कि ये मामला इस वक्त काफी बढ़ गया है औऱ सोनी राजदान को काफी ट्रोल किया जा रहा है।