प्रियंका को गुडविल एंबेस्डर के पद से हटवाना चाहता था पाकिस्तान, यूएन में मुंह की खानी पड़ी !

3 weeks ago

बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा हमेशा किसी न किसी बात को लेकर चर्चा में रहती हैं। इन दिनों कश्मीर मुद्दे पाकिस्तान प्रियंका को यूएन की गुडविल एंबेस्डर के पद के हटाने को लेकर तिकरम भिड़ा रहा था। पाकिस्तान की मानवधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने यूएन को चिट्ठी लिखकर ये कहा था कि प्रियंका कश्मीर में आर्टिकल 370 का समर्थन करती हैं ऐसे में उन्हें यून एन की गुडविल एंबेस्डर के पद से हटा देना चाहिए। 

शिरीन मजारी की शिकायत पर अब यूएन का जवाब आ गया है। यूएन के प्रवक्ता का कहना है कि प्रियंका चोपड़ा अपने विषय में अपनी व्यक्तिगत क्षमता पर बोलने का अधिकार रखती हैं। पाकिस्तान की तरफ से प्रियंका को राष्ट्रवाद को लेकर कट्टरता की शिकायत खत लिखकर की थी।

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक, 'जब यूनिसेफ गुडविल ऐंबैसडर्स अपनी व्यक्तिगत क्षमता में बोलते हैं, तब उनके पास उन मुद्दों पर बोलने का अधिकार होता है, जिनमें उन्हें दिलचस्पी है या चिंता करते हैं। 

गुरुवार को अपनी डेली ब्रीफिंग के दौरान स्टीफन ने यह बात प्रियंका चोपड़ा के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा। स्टीफन ने कहा कि गुडविल ऐंबैसडर्स के व्यक्तिगत विचार या काम यूनिसेफ के विचारों को प्रतिबिंबित नहीं करते हैं। उन्होंने कहा, 'गुडविल ऐंबैसडर्स यूनिसेफ की ओर से बोलते हैं, तब हम उनसे यूनिसेफ के साक्ष्य आधारित निष्पक्ष पक्ष को रखने की अपेक्षा करते हैं।'

बता दें कि भारत ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटा दिया है और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया है। इसके बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है। पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने यूनिसेफ की कार्यकारी निदेशक हेनरीटा एच फोरे को पत्र लिखकर कहा था कि प्रियंका कश्मीर पर भारत सरकार की नीतियों का समर्थन करती हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि प्रियंका चोपड़ा भारत और पाकिस्तान के बीच‘परमाणु युद्ध’ के समर्थन में हैं।