single-post

साउथ सुपरस्टार नागार्जुन के खेत में मिली सड़ी हुई लाश, पुलिस और फॉरेंसिक टीम जांच में जुटी

Sept. 19, 2019, 7:53 p.m.

एक्टर नागार्जुन साउथ की फिल्मों के अलावा बॉलीवुड में भी काफी मशहूर हैं। हाल ही में वो एक खास वजह से चर्चा में आ गए हैं। हाल ही में नागार्जुन के फॉर्म हाउस से बुधवार को एक अज्ञात शव मिला है। दरअसल नागार्जुन ने जैविक खेती के लिए अपने फार्म का सर्वे करने के लिए एक व्यक्ति को भेजा था, लेकिन उसे एक शेड के नीचे अज्ञात शव मिला। इसके बाद इलाके में हड़कंप मच गया। 

नागार्जुन के परिवार ने इस जगह को कुछ साल पहले ही खरीदा था, लेकिन लंबे समय से इस जमीन का इस्तेमाल नहीं हो रहा था। यह फार्म एक बंजर स्थिति में था। अपने पत्नी अमला के साथ जाकर नागार्जुन ने कुछ समय पहले पौधे लगाए थे। जांच में पता चला है कि शव छह महीने से ज्यादा पुराना है और शव की पहचान करने की कोशिश की जा रही है। गांव के रेवेन्यू ऑफिसर से मिली जानकारी के बाद फॉरेंसिक एक्सपर्ट के साथ पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। 

पुलिस कर्मियों ने इस जगह से सभी सेंपल ले लिए हैं। पुलिस ने गुरुवार को कथित तौर पर आईपीसी की धारा 174 के तहत संदिग्ध मौत का मामला दर्ज किया है। इन दिनों नागार्जुन 'बिग बॉस तेलुगु' के तीसरे सीजन की होस्ट कर रहे हैं। गौरतलब है कि नागार्जुन बिग बॉस के तीसरे सीजन की मेजबानी कर रहे थे। 

लेकिन शुरू होने से पहले ही इसके साथ विवाद हो गया था। शो की दो महिला कंटेस्टेंट्स ने बिग बॉस तेलुगु के आयोजकों के खिलाफ यौन शोषण की शिकायत दर्ज करवाई थी। इस बात से शो के मेकर्स के साथ-साथ होस्ट नागार्जुन भी परेशान हो गए थे। स्टूडेंट यूनियन के लीडर ने कहा था, 'नागार्जुन इन गंभीर आरोपों के बारे में बात क्यों नहीं कर रहे हैं। 

उन्होंने अतीत में खुलकर कहा था कि बिग बॉस एक बेकार शो है। आज वो ही आदमी इसी शो का होस्ट है! दो महिलाओं ने शो पर सामने से कास्टिंग काउच के आरोप लगाए हैं। 

साथ ही हाल ही में नागार्जुन ने बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को 73 लाख की कीमत वाली ब्रैंड न्यू बीएमडब्ल्यू एक्स5 एसयूवी कार गिफ्ट की थी। पीवी सिंधु बीडब्ल्यू एफ वर्ल्ड चैंपिंयनशिप में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। 

इसी जीत के लिए नागार्जुन ने पीवी सिंधु को ये कार गिफ्ट की है। यह कार्यक्रम हैदराबाद के अन्नपूर्णा स्टूडियोज में हुआ। इस मौके पर पीवी सिंधु के कोच पुलेला गोपीचंद भी मौजूद थे।