75 के हुए महानायक अमिताभ, जानिए 75 दिलचस्प कहानियां

1 years ago

 

1. अमिताभ बच्चन का पहला नाम इंकलाब था। तब इंडिया गुलाम था। अमिताभ की फैमिली का टाइटल श्रीवास्तव था लेकिन उनके पापा हरिवंश राय अपने नाम के साथ बच्चन लगाते थे। और इस तरह बिग बी को को पहला नाम इंकलाब बच्चन दिया गया था  

2. हिंदी के मशहीर पोएट सुमित्रा नंदन पंत ने जब मासूम बच्चे इंकलाब को गोद में लिया तो वो बोल पड़े कि ये तो अमिताभ है। तब से हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन ने बिग बी को अमिताभ बच्चन नाम दे दिया।  

3. अमिताभ का अर्थ होता है प्रकाशमान  और उन्होंने अपने नाम को पूरी तरह से साकार किया। बॉलीवुड में अमिताभ का कद इतना बड़ा हो चुका है कि वो हिंदी फिल्म इंडस्ट्री की पहचान बन गए है। 75 साल की उम्र में भी वो टीवी और फिल्मों के सुपर हिट स्टार है। 

4. अमिताभ बच्चन  का जन्म इलाहाबाद में हुआ था। इलाहाबाद के ज्ञान प्रबोधिनी और ब्यायज हाई स्कूल से उन्होंनें पढ़ाई की। उसके बाद वो नैनीताल की शेरवुड कॉलेज गए और ग्रेजुएशन उन्होंने दिल्ली के किरोडीमल कॉलेज से की। 

5. बिग बी दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से ग्रेजुएशन करना चाहते ....लेकिन वहां उन्हें दाखिला नहीं मिला था। तब उन्होंने किरोड़ीमल कॉलेज का फॉर्म भरा और वहां उन्हें दाखिला मिल गया। 

 

6. अमिताभ बच्चन जब मुंबई में स्ट्रगल कर रहे थे तब उन्होंने ठान लिया था कि  फिल्मों में नाकाम होने पर वो कोलकत्ता नहीं लौटेंगे. जरूरत होगी तो मुंबई में ही टैक्सी चलाएंगे. अमिताभ अपना ड्राइविंग लाइसेंस भी यही सोचकर साथ ले गए थे। 

7. अमिताभ के लिए फिल्मों का दरवाजा उन्हीं तस्वीरों से खुला, जो छोटे भाई अजिताभ ने विक्टोरिया मेमोरियल के सामने खींची थी. इन्हीं तस्वीरों को देखकर ख्वाजा अहमद अब्बास ने उन्हें अपनी फिल्म सात हिन्दुस्तानी के लिए चुना ।  

8. ख्वाजा अब्बास साहब को एक मुस्लिम किरदार के लिए लंबे और दुबले-पतले लड़के की तलाश थी। अमिताभ मुंबई जाकर अब्बास साहब से मिले. काफी सवाल जवाब के बाद पांच हजार रूपए के कांट्रक्ट पर साइन कर लिया ।

9 .स्ट्रगल के दिनों में अमिताभ बच्चन करीब सात सालों तक  कॉमेडियन महमूद के घर में रहे। महमूद के भाई अनवर अली अमिताभ के दोस्त बन गए थे और उन्हीं के कहने पर महमूद ने उन्हें अपने घर में रहने के लिए एक कमरा दिया था। 

10. महमूद अपनी फिल्म बॉम्बे टू गोवा में पहले जितेन्द्र को कास्ट करना चाहते थे और जितेन्द्र के इंकार के बाद अनवर अली की सिफारिश पर उन्होंने अमिताभ को फिल्म में साइन किया। सिर्फ 8 हजार रुपये में अमिताभ ने ये फिल्म साइन की थी जबकि जितेन्द्र उस दौरान एक फिल्म  के लिए 3 लाख रुपये लिया करते थे। 

 

11. अमिताभ को फिल्मों में काम करने के लिए उनके छोटे भाई अजिताभ ने प्रेरित किया। अजिताभ ने विक्टोरिया मेमोरियल ले जाकर अमिताभ की तस्वीरें खींची और वही तस्वीरें 1968 में फिल्म फेयर माधुरी टेलेंट कांटेस्ट में भेजी. उस कंटेस्ट में तो अमिताभ नहीं चुने गए, लेकिन उनके अंदर ये जिद बैठ गई कि उन्हें फिल्मों में जाना है . 

12. अमिताभ ने बॉलीवुड में 1968 से ही स्ट्रगल करना शुरू कर दिया था। मनोज कुमार की एक फिल्म यादगार में उन्हें साइड रोल  मिला था, उस वक्त अमिताभ कोलकाता में काम करते थे। और वो इस छोटे से रोल के लिए नौकरी छोड़ने की हिम्मत नहीं जुटा सके थे। 

13. नर्गिस के जरिए अमिताभ को जिंदगी का पहला स्क्रीन टेस्ट देन का मौका मिला था। दिसंबर 1968 में अमिताभ को नर्गिस ने मुंबई बुलाया था। और मोहन सहगल की फिल्म साजन, अमिताभ ने रूपतारा स्टूडियो में स्क्रीन टेस्ट दिया था. लेकिन यहां वो फेल हो गए थे। 

14. अमिताभ की आवाज बेमिसाल मानी जाती है लेकिन रेडियो एनांउसर की नौकरी के लिए उनकी आवाज को आल इंडिया रेडियो ने रिजेक्ट कर दिया था। फेसम रेडियो एनॉउंसर अमीन सायानी ख़ुद इस बात को मानते हैं।

15. स्ट्रगल के दिनों में अमिताभ ने रेडियो के लिए बनने वाले ऐड्स में अपनी आवाज दिया करते थे। निर्लान, हार्लिक्स जैसे प्रोडक्ट्स के ऐड के लिए उन्होंने वॉयस ओवर किया था और उन्हें इसके बदले पचास रूपए मिला करते थे । 

 

16. अमिताभ को तीसरा मौका मिला फिल्म रेशमा और शेरा में। नरगिस ने सुनील दत्त से सिफारिश कर फिल्म रेशमा और शेरा में अमिताभ को ये रोल दिलवाया था। पहले इस फिल्म में अमिताभ का किरदार गूंगा नहीं था लेकिन सुनील दत्त ने आखिरी समय में भोला के किरदार को गूंगा बना दिया था। इससे अमिताभ बहुत दुखी थे। 

17. इसी दौरान 7 नंबवर 1969 को रिलीज हुई अमिताभ की फिल्म सात हिंदुस्तानी। अमिताभ की ये इकलौती ब्लैक एंड व्हाइट फिल्म है। सात हिंदुस्तानी के लिए उन्हें बेस्ट न्यूकमर का नेशनल अवॉर्ड मिला।

18.फिल्म सात हिन्दुस्तानी में खुद को पर्दे पर देखने के लिए शूटिंग से छुट्टी लेकर जैसलमेर से दिल्ली आए थे. अमिताभ अपने पिता हरिवंश राय बच्चन और मां तेजी बच्चन के साथ पहाड़गंज के शीला सिनेमा में पहले दिन का इवनिंग शो देखने गए थे.   

19.स्ट्रगल पीडियड में ख्वाजा अब्बास ने अमिताभ की मुलाकात रिशीकेश मुखर्जी से करवाई थी। रिशीकेश मुखर्जी को लगा कि अमिताभ फिल्म में डॉक्टर का रोल अच्छी तरह से कर सकते है इसलिए उन्होंने फिल्म सात हिंदुस्तानी में अमिताभ की एक्टिंग देख आनंद फिल्म में कास्ट किया था। 

20. अमिताभ राजेश खन्ना को नजर भर देखने के लिएस्टूडियो स्टूडियो घूमा करते थे । उसी राजेश खन्ना के साथ फिल्म मिलने से उनकी हैसियत अचानक बढ़ गई थी । उन दिनों अमिताभ गर्व के साथ लोगों को बताया करते थे कि मैं राजेश खन्ना के साथ काम कर रहा हूं। 

 

21. सात हिंदूस्तानी के बाद अमिताभ की दूसरी रिलीज थी परवाना। इस फिल्म में वो एक प्यार में पागर लवर के रोल में थे। अमिताभ बच्चन के इसी रोल से इंस्पायर्ड था फिल्म डर में शाररुख खान का रोल। 

22. 1971 में अमिताभ की तीसरी फिल्म आनंद रिलीज हुई। और उन्हें लगा कि उनके करियर की गाड़ी निकल पड़ी लेकिन अमिताभ गलत थे। 1972 से 73 के दौरान उनकी 8 फिल्में फ्लॉप हुई। 

23. अमिताभ ने सोलो हिट का स्वाद 1973 में चखा। वो फिल्म थी जंजीर। जंजीर कई एक्टर के रिजेक्शन के बाद अमिताभ को मिली थी। ये रोल पहले राजकुमार, धर्मेन्द्र और देवानंद को मिला था। 

24. फिल्म बॉम्बे टू गोवा के एक फाइट सीन से प्रभावित होकर प्रकाश मेहरा ने उन्हें साइन किया था। अमिताभ में एक एंग्री यंग मैन की इमेज सबसे पहले जावेद अख्तर ने देखी थी और उन्होंने ही प्रकाश मेहरा को अमिताभ का नाम सुझाया था। 

25. हांलाकि इस फिल्म को साइन करने से पहले अमिताभ काफी डरे हुआ थे। उन्हें लग रहा था कि वो एक गुस्सैल और सख्त पुलिस वालें के किरदार में फिट नहीं बैठेंगे....लेकिन जावेद अख्तर के समझाने पर वो एंग्री यंग मैन बनने को तैयार हो गए। 

26. अमिताभ की पहली सुपर हिट फिल्म की हीरोइन जया भादुड़ी थी। इससे पहले दोनों की फिल्म एक नजर और बंशी बिरजू फ्लॉप हो गई थी। स्ट्गल पीरियड में कोई भी हीरोइन अमिताभ के साथ काम नहीं करना चाहती थी लेकिन जया अमिताभ से प्यार करती थी और उनका करियर बनाना चाहती थी।  27. जया भादुड़ी ने अमिताभ को पहली बार 1969 में देखा था. ख्वाजा अहमद अब्बास तब सात हिन्दुस्तानी के लिए लोकेशन देखने पूना फिल्म इंस्टीच्यूट गए थे  उनके साथ अमिताभ भी थे. जया तब वहां की स्टूडेंट थीं . दुबले पतले अमिताभ को देख जया भादुड़ी के कई दोस्तों ने उन्हें ताड़ का पेड़ कहा था। ...तब जया भादुड़ी ने कहा था - ही इज डिफरेंट. 28. जया भादुड़ी और अमिताभ में दोस्ती फिल्म गुड्डी के सेट पर हुई और फिल्म एक नजर की शूटिंग के दौरान दोनों में अफेयर शुरू हुआ। ऐसे में जया ने रिशीकेश मुखर्जी से कहकर अमिताभ के लिए अभिमान बनवाई। 

29. जंजीर के हिट होने के बाद अमिताभ जया भादुड़ी के साथ छुट्टिया मनाने के लिए विदेश जाना चाहते थे।  लेकिन पापा हरिवंश राय बच्चन ने कहा कि पहले शादी करो फिर जया के साथ विदेश घूमने जाओ।  . . 

30. अमिताभ ने 3 जून 1973 को जया भादुड़ी से शादी रचाई। ये शादी बहुत ही सादगी के साथ हुई थी। बच्चन फैमिली के कुछ फ्रेंड्स और बॉलीवुड के लोग इस शादी में शामिल हुए। शादी के फौरन बाद अमिताभ और जया हनीमून मनाने लंदन चले गए। 

31. जंजीर के बाद से अमिताभ ने हर साल एक हिट फिल्म देने का सिलसिला शुरु कर दिया।  1974 में मजबूर और रोटी कपड़ा और मकान हिट रही रही। लेकिन असली धमाका हुआ 1975 में आई दीवार से। इसके बाद तो अमिताभ के साथ काम करने को लोग तरसने लगे। 

32. इसी साल आई शोले ने अमिताभ को सुपर स्टार बना दिया। जय के रोल में अमिताभ खूब पसंद किए गए । हालांकि वो फिल्म में गब्बर का रोल करना चाहते थे। लेकिन रमेश शिप्पी को वो जय के लिए परफेक्ट दिख रहे थे। 

33. टीम शोले में शामिल होने के लिए भी अमिताभ को कम पापड़ नहीं बेलने पड़े। सलीम जावेद ने रमेश शिप्पी से अमिताभ की पैरवी की थी। पहले इस रोल के लिए शत्रुघ्न सिन्हा को चुना गया था। लेकिन सलीम जावेद को अमिताभ इस रोल के लिए पसंद थे। 

34. धर्मेन्द्र की सिफारिश पर अमिताभ शोले में काम कर सके। अमिताभ ने खुद धरमेन्द्र से कहा था कि पाजी रमेश शिप्पी से कहकर फिल्म में काम दिलवा दो। धर्मेन्द्र अमिताभ को पसंद करते थे और उन्होंने उन्हें शोले में जय का रोल दिलवा दिया। 

35. शोले की शूटिंग के दौरान अमिताभ पापा बनने वाले थे। जया फिल्म में काम कर रही थी और वो प्रेंगनेंट थी। अभिषेक बच्चन पैदा होने वाले थे। बैंगलोर के पास रामगढ़ में फिल्म की शूटिंग चल रही थी। इस दौरान अमिताभ खुद कार ड्राइव कर लोकेशन तक जया को लेकर जाते थे।

 

36. अमिताभ बच्चन का फिल्मी नाम विजय हमेशा हिट रहा। फिल्म जंजीर से ये सिलसिला शुरु हुआ था। अमिताभ की बीस फिल्मों में उनका नाम विजय रहा है। विजय के बाद अमित नाम का किरदार उन्होंने सबसे ज्यादा निभाया।   

37. फिल्म शोले के सुपर सक्सेस के बाद अमिताभ ने जुहू इलाके में एक पुराना मकान खरीदा और उसे तुड़वाकर बड़ा बंगला बनवाया। हरिवंश राय बच्चन ने उस बंगले का नाम रखा प्रतीक्षा।

38. अमिताभ अबतक बीस फिल्मों में गाना गा चुके है। अमिताभ का गाना मेरे अंगने में काफी मशहूर हुआ था । इसके बाद उन्होंने फिल्म सिलसिला में रंग बरसे गाया। और आज आलम ये है कि अमिताभ अपनी हर फिल्म में प्ले बैक सिंगिंग करते हैं। 

 

39. अमिताभ बहुत धार्मिक है। .मुंबई में उनके दोनों बंगलो में मंदिर बना हुआ है. मंदिर में दुर्गा, भैरव, राम-सीता, राधा-कृष्ण, शिव-पार्वती और हनुमान की मूर्तियां स्थापित हैं। जब भी वो घर से किसी शुभ काम के लिए बाहर निकलते हैं ।मंदिर में भगवान का दर्शन करके ही निकलते हैं

 

40.अमिताभ ने अपने फिल्मी करियर में सबसे परवीन बाबी के साथ काम किया। परवीन बॉबी के साथ उन्होंने 15 फिल्मों में काम किया। परवीन बॉबी अमिताभ की फिल्मों में काम कर टॉप एक्ट्रेस बनी।  

 

41. अमिताभ के जिस हेयर स्टाइल की नकल उस दौर के नौजवान करते थे वो हेयर स्टाइल ताज होटल के हेयर ड्रेसर हकीम भाई की देन है. हकीम भाई ने ये हेयर स्टाइल बांबे टू गोआ और जंजीर के बीच की फिल्मों के दौरान किया था. अमिताभ का ये स्टाइल इतना पसंद आया कि उन्होंने फिर इसे कभी नहीं बदला.   

42. अमिताभ बच्चन बॉलीवुड के ही नही कॉमिक की दुनिया के भी हीरो बने। कॉमिक वर्ल्ड में देसी हीरो सुप्रीमो अमिताभ की ही तरह दिखता है। ये कॉमिक हीरो सप्रीमो अमिताभ के एंग्री यंग मैन लुक की कॉपी है। 

 

43. अमिताभ अब तक 19 गोल्डन जुबली फिल्में दे चुके है। 1973 से 85 तक अमिताभ ने हर साल एक हिट फिल्म दी। इस दौरान उनकी 17 फिल्में सुपर हिट हुई। 

44. 1978 अमिताभ के करियर में बूम लेकर आया। इस साल मुकद्दर का सिकंदर, डॉन, गंगा की सौगंध और तिशूल जैसी फिल्में रिलीज हुई। फिल्म डॉन के लिए अमिताभ को बेस्ट एक्टर का फिल्म फेयर अवॉर्ड मिला।   

45. 1977 में आई अमर अकबर एंथोनी भी अमिताभ की ब्लॉकबस्टर फिल्मों में से एक है। इस फिल्म के लिए भी अमिताभ को बेस्ट एक्टर का फिल्म फेयर अवॉर्ड मिला था। 

 

46. अमिताभ बच्चन और जया बच्चन बॉलीवुड के Only star जोड़ियां है जिन्होंने एक साथ 40 सालों तक काम किया है। फिल्म बंशी बिरजू से लेकर भोजपुरी फिल्म गंगा तक में ये कपल एक साथ काम कर चुका है। 

47. अमिताभ और जया ने एक साथ 12 फिल्मों में काम किया है। जबकि रेखा ने अमिताभ के साथ सिर्फ 9 फिल्मों में काम किया। फिल्म सिलसिला में अमिताभ , रेखा और जया एक साथ दिखाई दिए थे। उससे पहले या बाद में तीनों कभी साथ नहीं दिखे। 

48. सिलसिला अमिताभ, जया और रेखा की रीयल लाइफ से इंस्पार्यड फिल्म बताई जाती है।  इस बारे में फिल्म के डायरेक्टर य़श चोपड़ा ने कई बार कहा था कि फिल्म सिलसिला की शूटिंग के वक्त वो सेट पर काफी डरे रहते थे । 

49. सिलसिला में रेखा और जया से पहले यश चोपड़ा ने परवीन बॉबी और स्मिता पाटिल को साइन किया था। शूटिंग के लिए पूरी यूनिट कश्मीर पहुंच चुकी थी. शूटिंग से एक दिन पहले यश चोपड़ा को लगा कि इस फिल्म में रेखा और जया हो तो फिल्म और भी बेहतर बनेगी । 

50. य़श चोपड़ा ने रेखा और जया को मनाने की जिम्मेदारी अमिताभ को सौंपी थी और अमिताभ पर ही ये जिम्मा डाला गया कि वो परवीन बॉबी और स्मिता को इस फिल्स से बाहर होने को कहे। रेखा अमिताभ के कहने पर फिल्म के लिए राजी हो गई और जया भी अपने पति को मना नहीं कर सकी। 

51.अमिताभ ने पहली बार फिल्म मिस्टर नटवर लाल में गाना गाया था। अमिताभ का ये गाना बच्चों के बीच बहुत पॉपुलर हुआ। इसके बाद अमिताभ के रूप में बॉलीवुड को एक सिंगर मिल गया और आज भी अमिताभ फिल्मों में गा रहे है। 

 

52. प्रकाश मेहरा जब लावारिश बना रहे थे तब उन्होंने अमिताभ से इस गाने को फिल्म में लेने की इच्छा जताई। काफी मना करने के बाद अमिताभ इस गाने को गाने के तैयार हुए और फिर गाना गाने के बाद अमिताभ ने प्रकाश मेहरा को एक माइंड ब्लोइंग आइडिया दिया। 

 

53. गाना रेकार्ड होने के बाद अमिताभ ने कहा कि अगर वो खुद लड़की के मेकअप में अलग-अलग ड्रेस पहनकर एक्टिंग करे तो  कैसा रहेगा. प्रकाश मेहरा और उनके डांस डाइरेक्टर दोनों ही अमिताभ के इस आइडिया पर उछल पड़े और फिर इस तरह बॉलीवुड को मिली एक सुपर हिट आइटम गर्ल।   

54. 1981 में रिलीज हुआ लावारिस का ये गाना लोकप्रियता के सारे रिकार्ड तोड़कर गया लेकिन जया बच्चन को ये गाना अश्लील लगा।  फिल्म के प्रीमियर पर वो नाराज होकर सिनेमा हॉल से चली गई। इस गाने की वजह से 1984 के इलाहाबाद इलेक्शन में अमिताभ के विरोधी हेमवती नंदन बहुगुणा उनका बहुत मजाक उड़ाया करते थे. 55. अमिताभ बच्चन आज भी गाते है। फिल्म कहानी में अमिताभ का गाना एकला चलो रे काफी पसंद किया गया।  कई बार अमिताभ बेस्ट सिंगर के कैटोगरी में नॉमीनेट हो चुके हैं। 

 

56. अमिताभ बच्चन को 5 बार नेशनल अवॉर्ड मिल चुका है। फिल्म अग्निपथ, ब्लैक, पा और पिंक के लिए उन्हें बेस्ट एक्टर का नेशनल अवॉर्ड दिया गया। अमिताभ बच्चन को INDIAN GOVT. पद्मश्री और पद्म भूषण से भी ऑनर कर चुकी है। 

57. अमिताभ को अब तक 5 बार फिल्म फेयर का बेस्ट एक्टर अवॉर्ड मिल चुका है। जबकि दो बार उन्हें बेस्ट सपोर्टिग एक्टर का अवॉर्ड मिला। 67 इयर्स की एज में उन्हें फिल्म पा के लिए बेस्ट एक्टर अवॉर्ड हर शो में दिया गया।  

58. अमिताभ एशिया के पहले ऐसे स्टार है जिनकी वैक्स स्टैटू मैडम तुसॉड्स म्य़ूजियम में लगी। अमिताभ के बाद बॉलीवुड स्टार्स का तुसॉड जाने का सिलसिला शुरू हुआ। अमिताभ के बाद बच्चन फैमिली की बहू ऐश्वर्या की तुसॉड में स्टैचू लगी। हालांकि जब ये स्टैचू लगाई गई उस वक्त ऐश्वर्या बच्चन फैमिली की बहू नहीं थी।   

59.अमिताभ को फ्रांस गर्वरमेंट की ऑनर कर चुकी है। फ्रांस  सरकार ने अपने सबसे बड़े  सिविलियन अवॉर्ड्स Legion of Honour से उन्हें सम्मानित किया था। अमिताभ के अलावा अब तक य़श चोपड़ा को ये ऑनर दिय़ा गया है। 

60 .साल 2000 में बीबीसी ने अमिताभ को मिलेनियम स्टार चूना। ऑन लाइन पोल में अमिताभ को दुनिया भर की जनता ने चार्ली चैपलिन, लॉरेंस ओलिवर और मॉरलोन ब्रांडो से ज्यादा पॉपुलर बताया। 

61. अमिताभ बच्चन की फेवरेट हीरोइन वहीदा रहमान है। अमिताभ ने वहीदा के साथ कई फिल्मों में काम किया। अक्सर वो अमिताभ की पत्नी या फिर मां के रोल में दिखी।  62. अमिताभ निरूपा रॉय को अपनी मां की तरह सम्मान देते थे। वो उनके पांव छुआ करते थे। निरुपा रॉव ने 10 सेज्यादा फिल्मों में अमिताभ की मां का किरदार निभाया।  63 अमिताभ निरूपा रॉय के अलावा ओम प्रकाश और रिशीकेश मुखर्जी के पांव छुआ करते थे। इसके अलावा उन्होने बॉलीवुड में और किसी के पांव नहीं छुए। अमिताभ रिशीकेश मुखर्जी को अपना मेंटोर मानते थे।  64. अमिताभ को बॉलीवुड का शहंशाह बनाने वाले डायरेक्टर रहे प्रकाश मेहरा, य़श चोपड़ा,  मनमोहन देसाई, रमेश सिप्पी और रिशीकेश मुखर्जी। अमिताभ ने अपने करियर की ब्ल़ॉकबस्टर फिल्में इन्ही डायरेक्टर्स के साथ की।   

65. मनमोहन देसाई ने तो अमिताभ के साथ अमर अकबर एंथोनी बनाने के बाद किसी और हीरो के साथ फिल्म ही नहीं बनाई। अमर अकबर एंथोनी से लेकर तूफान तक इस जोड़ी ने साथ काम किया। मनमोहन देसाई के साथ अमिताभ ने कुली, और मर्द जैसी फिल्में दी।  

 

66. फिल्म कुली की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन के साथ एक जानलेवा हादसा हुआ था।  इस हादसे के बाद अस्पताल में पड़े अमिताभ के लिए इंडिया की दीवानगी सामने आई थी। लोगों ने मंदिर मस्जिद में जाकर अमिताभ के लिए प्रार्थना किया था। 

 

67. इस हादसे के तीन महीने बाद अमिताभ शूटिंग पर लौट पाए थे। लेकिन 1984 में वो एक और गंभीर बीमारी की चपेट में आए थे . इस अजीबो गरीब बीमारी का नाम था मायोस्थेनिया ग्रेविस . 13 जून 1984 को जब अमिताभ बंगलौर में मनमोहन देसाई की फिल्म मर्द की शूटिंग कर रहे थे , तभी पहली बार उन्हें इस बीमारी का झटका लगा

68. महीनों के आराम और लांस एंजेल्स में लंबे इलाज के बाद अमिताभ इंडिया लौट् और फिर उन्होंने मर्द और आखिरी रास्ता में काम किया। अमिताभ की बीमारी की वजह से टीनू आनंद की फिल्म शहंशाह ठंढ़े बस्ते में चली गयी थी। बाद में उन्होंने इस फिल्म को पूरा किया।   

69. अमिताभ के साथ 1983 में भी एक हादसा हुआ था। दीवाली की रात को दिल्ली के गुलमोहर पार्क वाले घर पर पटाखे चलाते वक्त उनके बाएं हाथ में एक अनार फट गया था . पूरी हथेली बुरी तरह झुलस गई थी. 

70. इस दौरान अमिताभ की फिल्म इंनकलाब की शूटिंग चल रही थी और शराबी का काम शुरू होने वाला था . इस हादसे की वजह से शराबी की शूटिंग को टालना पड़ा था। 

71.अमिताभ इकलौते ऐसे एक्टर है जो फिल्मों में अपने बेटे के बेटे बने। फिल्म पा में अभिषेक ने अमिताभ के पापा का रोल किया। अमिताभ और अभिषेक अब तक 7 फिल्मों में काम कर चुके हैं।   

72. अमिताभ बच्चन को इस बात का भी मलाल है कि एक अच्छा एक्टर होने के बावजूद अभिषेक बच्चन को वो जगह नहीं मिल पा रही है जिसके वो हकदार हैं। 

 

73. अमिताभ 75 साल की उम्र मे आ गए है और दादा बन चुके है। अभिषेक की बेटी आराध्या उनकी सबसे अच्छी दोस्त  है और दादा अमिताभ आजकल जहां भी जाते है पोती आराध्या की चर्चा करना नहीं भूलते।   

74. अमिताभ बच्चन 75 साल की उम्र में भी रोज 12 से 13 घंटे काम करते हैं। अमिताभ को इस उम्र में काम करते देख कई  पुराने स्टार्स ने वापिसी की है। 

 

75. अमिताभ को बॉलीवुड में आए 43 साल हो गए है। इस दौरान वो 200 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके हैं। अमिताभ आज भी कई फिल्में कर रहे है और बॉलीवुड के टॉप टेन बिकाऊ हीरोज में शामिल है।

 

 

 

 

 

 

 

 

Related Posts