बर्थडे स्पेशल- बचपन में बेहद ही क्यूट थे महानायक अमिताभ बच्चन, देखिए तस्वीरें

1 years ago

इंडस्ट्री के आज महानायक अमिताभ बच्चन का जन्मदिन है । आज अगर हिंदी सिनेमा में सबसे पहले किसी एक्टर का नाम आता है तो वो है बिग बी का । अमिताभ बच्चन  का जन्म इलाहाबाद में हुआ था। इलाहाबाद के ज्ञान प्रबोधिनी और ब्यायज हाई स्कूल से उन्होंनें पढ़ाई की।

उसके बाद वो नैनीताल की शेरवुड कॉलेज गए और ग्रेजुएशन उन्होंने दिल्ली के किरोडीमल कॉलेज से की। अमिताभ बच्चन का पहला नाम इंकलाब था। तब इंडिया गुलाम था। अमिताभ की फैमिली का टाइटल श्रीवास्तव था लेकिन उनके पापा हरिवंश राय अपने नाम के साथ बच्चन लगाते थे। और इस तरह बिग बी को को पहला नाम इंकलाब बच्चन दिया गया था ।

हिंदी के मशहूर पोएट सुमित्रा नंदन पंत ने जब मासूम बच्चे इंकलाब को गोद में लिया तो वो बोल पड़े कि ये तो अमिताभ है। तब से हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन ने बिग बी को अमिताभ बच्चन नाम दे दिया। अमिताभ का अर्थ होता है प्रकाशमान  और उन्होंने अपने नाम को पूरी तरह से साकार किया । बिग बी दिल्ली के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से ग्रेजुएशन करना चाहते ....लेकिन वहां उन्हें दाखिला नहीं मिला था।

तब उन्होंने किरोड़ीमल कॉलेज का फॉर्म भरा और वहां उन्हें दाखिला मिल गया।  बचपन में बिग बी बेहद क्यूट थे । ये तस्वीरें उसकी गवाह हैं ।बिग बी के पिता हरिवंशराय बच्चन फेमस कवि रहे हैं । बिग बी ने बचपन में बेहद शरारत की है । एक बार जब बिग बी के पित लंदन जा रहे थे तब उन्होंने पिता से कहा था कि मेरे लिए भी एक गन लाना, तो उन्होंने कहा कि आखिर क्यों, तो बिग बी ने कहा कि उन्हें भी दोस्त शशि के जैसी बंदूक चाहिए ।

जब वो लंदन से वापस आए तो उनके लिए एय़रगन लेकर जरूर आए । बचपन में बिग बी कंचे खेलते थे और खूब धमाचौकड़ी मचाई थे। इतना ही नहीं बचपन में कंचाें के साथ-साथ गुल्ली डंडा भी खेलते थे। इसके अलावा अमिताभ बच्चन डंडी से टायर भी चलाते थे। सात ही लट्टी भी खेलते थे। बिग बी को फुटबॉल खेलने का भी एक शौक था।  फिल्मों में शुरूआत से पहले उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी । अमिताभ बच्चन जब मुंबई में स्ट्रगल कर रहे थे तब उन्होंने ठान लिया था कि  फिल्मों में नाकाम होने पर वो कोलकत्ता नहीं लौटेंगे. जरूरत होगी तो मुंबई में ही टैक्सी चलाएंगे । अमिताभ अपना ड्राइविंग लाइसेंस भी यही सोचकर साथ ले गए थे।

अमिताभ के लिए फिल्मों का दरवाजा उन्हीं तस्वीरों से खुला, जो छोटे भाई अजिताभ ने विक्टोरिया मेमोरियल के सामने खींची थी. इन्हीं तस्वीरों को देखकर ख्वाजा अहमद अब्बास ने उन्हें अपनी फिल्म सात हिन्दुस्तानी के लिए चुना । इस फिल्म के बाद धीरे धीरे वो आगे बढ़ते गए और सफलता के दरवाजे खुलते गए । आज सिनेमा के इतिहास में बिग बी का नाम सबसे ऊपर है ।

आज जिस अमिताभ बच्‍चन के आवाज की पूरी दुनिया कायल है, एक समय था जब उनकी आवाज उनके करियर में रोड़ा बन रही थी और उन्‍हें नकार दिया गया था । 

लेकिन बाद में उनकी आवाज ही उनकी ताकत बनी और उनकी आवाज औरों से काफी जुदा और भारी थी, इस वजह से उन्‍हें कई निर्देशकों ने कई फिल्‍मों में अपनी कहानी को नैरेट तक करवाया।  बिग बी को हमारी तरफ से भी जन्मदिन की ढेरों शुभकामनाएं । 

Related Posts