वक्त का हसीन सितम, क्या से क्या हो गईं ब्यूटी क्वीन आशा पारेख, देखिए तस्वीरें

6 days ago

70 और 80 के दशक की जानी-मानी एक्ट्रेस रही हैं आशा पारेख। आशा वो एक्ट्रेस थीं जिन्होंने अपने डांस और एक्टिंग की बदौलत बॉलीवुड में जगह बनाई। लंबे समय बाद आशा रणवीर दीपिका के रिसेप्शन में नजर आई। जिसने भी आशा को उनकी फिल्मों में देखा है वो उनके सफेद बालों को देख कर चौंक गया । कभी बेहद हसीन दिखने वाली आशा की उम्र ढल रही है। वो 76 साल की हो चुकी है। 

आशा का जन्म 2 अक्टूबर 1942 को हुआ था। उस दौर में आशा पारेख के लिए दीवानगी लोगों के सिर चढ़कर बोलती थी। आशा पारेख के कायल उस दौर के लोग तो थे ही लेकिन आज भी उनकी फिल्मों के कद्रदान कम नहीं है।

आशा पारेख की इमेज टॉम-बॉय की रही है। हमेशा चुलबुला, शरारती और नटखट अंदाज। यही वज़ह रही कि आशा केसाथ काम करने वाले को हीरोज नेउनसे दूर रहने में ही भलाई समझी। ये सच है कि आशा पारेख का कभी किसी एक्टर के साथ अफेयर नहीं हुआ।

शम्मी कपूर, राजेश खन्ना, मनोज कुमार, राजेंद्र कुमार, धर्मेन्द्र, जॉय मुखर्जी जैसे उस दौर के मशहूर हीरोज के साथ आशा ने काम किया। लेकिन मीडिया ने कभी आशा के बारे में कोई गॉशिप और स्कैंडल नहीं छापा। आशा का नाम बॉलीवुड में सिर्फ एक शख्स से जुड़ा और उस शख्स का नाम था नासिर हुसैन। 

आशा को नासिर हुसैन की प्रेरणा तक कहा गया।  वो नासिर हुसैन ही थे जिन्होंने आशा को उस वक्त ब्रेक दिया जब दूसरे डायरेक्टर्स उन्हें हीरोइन मैटिरिय़ल ना कह कर खारिज कर रहे थे। फिल्म दिल देके देखो से एक्ट्रेस आशा और डायरेक्टर नासिर हुसैन की जोड़ी बनी।

 इसके बाद नासिर हुसैन ने आशा को अपनी जब प्यार किसी से होता है में कास्ट किय़ा। इस फिल्म में आशा को उस दौर के सुपर स्टार देवानंद के साथ काम करने का मौका मिला।

नासिर हुसैन ने आशा को अपनी 6 फिल्मों की हीरोइन बनाया। फिल्म दिल देके देखो से सिलसिला शुरू हुआ तो कारंवा तक चला। नासिर हुसैन की फिल्में तीसरी मंजिल, बहारो के सपने, प्यार का मौसम और कारवां ने आशा को शोहरत की बुलंदियों तक पहुंचा दिया।कहा जाता है कि एक लम्बे समय तक एक साथ काम करते हुए आशा पारिख नासिर हुसैन के बेहद नजदीक आ गई थीं। नासिर हुसैन शादीशुदा थे और आशा ने कभी भी इस रिश्ते को कबूल नहीं किया। 

आशा ये जरूर मानती है कि उनकी जिंदगी कोई था। लंबे समय तक आशा का उससे अफेयर भी चला लेकिन आशा ने कभी उसके नाम का खुलासा नहीं किया।  दोनों के संबंधों से जुड़ी बातें आशा की ऑटो बायोग्राफी द हिट गर्ल में सामने आई। अपने जीवन के प्यार के बारे में आशा  ने कहा था, ''हां, नासिर साहब ही इकलौते ऐसे पुरूष थे, जिनसे मैंने प्यार किया। मेरे जीवन में जो लोग महत्वपूर्ण है, अगर उनका जिक्र मैं अपनी ऑटोबायोग्राफी में ना करू तो फिर इसे लिखने का तो कोई अर्थ नहीं है। आशा अपनी जिंदगी के नाजुक पहलू को बखूबी संभालने का श्रेय वो अपनी ऑटोबायोग्राफी के सह-लेखक खालिद मोहम्मद को देती हैं। आशा पारेख ने कहा कि खालिद मोहमम्द इसे ध्यान से और बेहद गरिमापूर्ण ढंग से संभाला है।''

आशा पारेख ने शादी के बारे में कभी सोचा ही नहीं। जो उन्हें पसंद करते थे वो उस नामचीन एक्ट्रेस तक अपना प्रपोजल लेकर जा ही नहीं पाए  और आशा पारेख कुंवारी रह गई। आशा ने फिल्मों से सन्यास लेने के बाद सोशल वर्क को अपना मकसद बना लिया।