single-post

57 साल के हुए आशीष विद्यार्थी, डूबते-डूबते बची थी जान

June 19, 2019, 7:39 a.m.

Ashish Vidyarthi

आशीष विद्यार्थी एक बॉलीवुड एक्टर हैं। उन्होंने बॉलीवुड के अलावा तेलुगु सिनेमा में भी काम किया हैं। उन्हें उनके बेहतरीन अभिनय के लिए फिल्म द्रोखला के सर्वश्रेष्ठ फिल्म फेयर के पुरुस्कार से भी नवाजा जा चुका है। आशीष विद्यार्थी का जन्म 19 जून 1962 में कुन्नूर केरला में हुआ था। उनके पिता का नाम गोविन्द विद्यार्थी है जोकि एक मलयाली थिएटर आर्टिस्ट हैं।  

उनकी माँ रीबा विद्यार्थी जोकि एक कथक डांसर हैं। आशीष विद्यार्थी ने अपनी शुरूआती पढ़ाई कुन्नूर केरला से की थी। उसके बाद वह साल 1969 में वह दिल्ली आ गए।  यहाँ आ कर उन्होंने अपनी बाद की पढ़ाई पूरी की थी।

 उन्होंने अपनी बाकी की पढ़ाई दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिन्दू कॉलेज से पूरी की थी। उन्होंने भारतीय विद्या भवन मेहता विद्यालय में एक्टिंग और ड्रमैटिक की बारीकियां सीखीं। उन्होंने अपनी फिल्मी करियर की शुरुआत कन्नड़ फिल्मों से की। फिर उसके बाद उन्हें हिंदी फिल्मों में काम करने का अवसर मिला था।

 उन्होंने हिंदी फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म बाजी और नाजायज जैसी फिल्मों में विलेन का रोल प्ले किया था। फैंस ने उनकी इस नेगेटिव भूमिका को बेहद सराहा। उन्होंने हिंदी सिनेमा की कई हिट फिल्मों में विलेन की भूमिका अदा की, जिनमें- हसीना मान जाएगी, कहो ना प्यार है,जोड़ी नम्बर 1, जिद्दी जैसी फिल्में शामिल हैं। 

आशीष विद्यार्थी को फिल्मों में एक्टिंग करते हुए करीब 185 बार मरना पड़ा है।  वैसे, एक बार फिल्म की शूटिंग के दौरान आशीष विद्यार्थी रियल में डूबने लगे थे। छत्तीसगढ़ में दुर्ग की महमरा एनीकट नाम से एक जगह में फिल्म 'बॉलीवुड डायरी' की शूटिंग चल रही थी।

 फिल्म के सीन के मुताबिक, आशीष को पानी में उतरना था, लेकिन इस दौरान वो ज्यादा गहरे पानी में चले गए और डूबने लगे। ऐसे में वहां मौजूद लोगों को लगा कि यह कोई फिल्म का सीन है और यह सोचकर कोई उन्हें बचाने नहीं आया। बाद में एक पुलिसवाले ने बड़ी मुश्किल से उनकी जान बचाई थी।