आजम खां ने जया प्रदा के लिए बोले गंदे बोल, चुप क्यों है बॉलीवुड ?

1 week ago


लोकसभा चुनाव में बॉलीवुड की कई एक्ट्रेसेस चुनावी मैदान में हैं। जया प्रदा रामपुर से चुनाव लड़ रही हैं। उनके खिलाफ चुनावी मैदान में आजम खां हैं। आजम खां ने चुनावी रैली में जया प्रदा के खिलाफ अपशब्द कहें हैं। रामपुर की शाहबाद तहसील में आयोजित एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए आजम खान ने भाषा की मर्यादा तोड़ते हुए विवादित बयान दिया है। हैरान करने वाली बात यह थी कि इस दौरान मंच पर एसपी अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी मौजूद रहे। जया प्रदा को लेकर की गई अमर्यादित टिप्पणी करने के मामले में सपा नेता आजम खान के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। बीजेपी ने आईपीसी की धारा 509 (महिलाओं को लेकर अपमानजनक टिप्पणी) और धारा 125 के तहत पुलिस में FIR दर्ज कराई है। वहीं आजम के बयान पर संज्ञान लेते हुए क्षेत्रीय मजिस्ट्रेट ने उनके खिलाफ तहरीर दे मुकदमा दर्ज कराया।  आजम खां का बयान सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। लोग उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। 





बता दें कि रामपुर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए आजम खान ने जया प्रदा पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि 10 बरस जिसने रामपुर वालों का खून पीया, जिसे उंगली पकड़कर हम रामपुर में लेकर आए। जिसका हमने पूरा ख्याल रखा. उसने हमारे ऊपर क्या-क्या आरोप नहीं लगाए। इसी दौरान उन्होंने मर्यादा तोड़ते हुए कहा ‘जिसको हम उंगली पकड़कर रामपुर लाए, आपने 10 साल जिनसे प्रतिनिधित्व कराया, उसकी असलियत समझने में आपको 17 साल लगे, मैं 17 दिन में पहचान गया कि इनका अंडरवियर खाकी रंग का है।'




 आजम खान ने अपने भाषण में जया प्रदा का नाम तो नहीं लिया था, लेकिन बातों को बीजेपी प्रत्याशी के खिलाफ निशाने की तरह ही देखा गया था। आज़म खान के बयान पर अब जया प्रदा ने प्रतिक्रिया दी है। जयाप्रदा ने कहा कि उनके लिए यह नई बात नहीं है। साथ ही कहा कि मुझे नहीं पता कि मैंने उनके साथ ऐसा क्या कर दिया कि वे ऐसी बातें कर रहे हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए जयाप्रदा ने कहा, 'यह मेरे लिए नया नहीं है. आपको याद होगा कि मैं 2009 में उनके पार्टी की उम्मीदवार थी, जब उन्होंने मेरे खिलाफ टिप्पणी की तो किसी ने भी मेरा समर्थन नहीं किया। मैं एक महिला हूं और जो उन्होंने कहा वह मैं दोहरा भी नहीं सकती। मुझे नहीं पता कि मैंने उनके साथ क्या किया है, जो वे ऐसी बातें कह रहे हैं।'




आजम खान के इस बयान को गंभीरता से लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी उन्हें नोटिस भेजने का फैसला किया है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी आजम को लताड़ा है। सुषमा ने सोमवार सुबह ट्वीट कर मुलायम सिंह यादव से अपील कर आजम खान पर एक्शन लेने की अपील की. सुषमा ने ट्वीट किया, मुलायम भाई, आप समाजवादी पार्टी के पितामह हैं। आपके सामने रामपुर में द्रौपदी का चीर हरण हो रहा है, आप भीष्म की तरह मौन साधने की गलती ना करें।




वहीं आजम खान ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा, 'मैं दिल्ली के एक व्यक्ति का जिक्र कर रहा था जो अस्वस्थ है, जिसने कहा था, मैं 150 राइफलें लेकर आया था और अगर मैंने आजम को देखा होता तो मैं उसे गोली मार देता. उसके बारे में बात करते हुए मैंने कहा कि लोगों को जानने में काफी समय लगा और बाद में पता चला कि वह आरएसएस के हाफ पैंट पहने हुए था।' आजम खां ने कहा कि मैंने अपने बयान में किसी का नाम नहीं लिया है। मुझे पता है कि मुझे क्या कहना चाहिए। अगर कोई साबित कर सकता है कि मैंने किसी का नाम कहीं भी लिया है और किसी का अपमान किया है, तो मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा।