बर्थडे स्पेशल- बॉलीवुड के शादीशुदा एक्टर से प्यार कर बैठी थीं वेजयंती माला !

1 years ago

बॉलीवुड के इतिहास में अपने हुनर का जौहर दिखाने वाली वैजयंती माला आज हिंदी सिनेमा में अपना नाम दर्ज करवा चुकी हैं। उनकी खूबसूरती हो, एक्टिंग हो, या फिर बात डांस की हो। हर लिहाज से वो सब पर भारी पड़ी। 50वीं सदी में हिन्दी फिल्मों की प्रसिद्ध अभिनेत्री वैजयन्ती माला का जन्म 13 अगस्त 1936 में हुआ था ।

वैजयन्ती माला एक अभिनेत्री होने के साथ साथ राजनीति की भी पूरी जानकारी रखती है । साथ साथ वह भरतनाट्यम की नृत्यांगना, कर्नाटक गायिका, डान्स टीचर और सांसद की भी भूमिका निभा चुकी हैं। उसने अपनी शुरुआत तमिल  फ़िल्म "वड़कई" से 1949 में की। इसके बाद उन्होने तमिल फ़िल्म "जीवितम" में 1950 में काम किया।

वैजयंतीमाला ने 15 साल की उम्र में बॉलीवुड में एंट्री ले ली थी। 1951 में आई 'बहार' उनकी पहली बॉलीवुड फिल्म थी। इसके बाद वह दक्षिण भारत की प्रमुख नायिकाओं में से एक बनी और बॉलीवुड के सुनहरे दौर की अभिनेत्रियों में एक रही। वैजयन्ती माला ने सबसे पहले हिन्दी फ़िल्म बहार और लड़की में काम किया।

नागिन फ़िल्म की सफलता के बाद वह हिन्दी फ़िल्मों के साथ-साथ तमिल और तेलुगु फ़िल्मों में काम करने लगी। बॉक्स-ऑफ़िस की फ़िल्मों में प्रसिद्ध होने के बाद वह देवदास में चन्द्रमुखी का किरदार में 1955 में भूमिका निभा चुकी है।

अपने पहले बेस्ट एक्टर इन ड्रामा  में उन्हे  फ़िल्मफ़ेयर अवॉर्ड भी मिल चुका है । इसके बाद वैजयन्ती माला कई कामियाब फ़िल्मों में देखी गई जिनमें नई दिल्ली, नया दौर और आशा  भी शामिल हैं।

1958 में अपने करियर के शीर्ष पर उन्होने 2 फिल्में दी साधना और मधुमति जिसकी फिल्म आलोचकों ने जमकर तारीफ की थी और इन दोनो ही फिल्मों ने जमकर कमाई की थी । और इन दोनो ही फिल्मो की के लिए उन्हे बेस्ट एक्टर का ऑवार्ड भी मिला था । इसके अलावा विवादों से भी उनका गहरा नाता रहा। 1961 में फिल्म 'गंगा जमुना' के सेट पर उनका अफेयर दिलीप कुमार संग शुरू हुआ।

इससे पहले दिलीप मधुबाला और कामिनी कौशल के साथ रिलेशनशिप में रह चुके थे। 60 के दशक में ही वैजयंती का नाम शो मैन के नाम से मशहूर राज कपूर साहब के साथ भी जुड़ा। कहा जाता है कि राज और उनका रिश्ता शादी तक पहुंच चुका था। लेकिन वो पहले से ही शादीशुदा थे और उनके बच्चे भी थे।

वैजयंती से अफेयर के चलते राज कपूर की पत्नी कृष्णा राज ने बच्चों के साथ घर छोड़ दिया था। वे करीब साढ़े चार महीने मुंबई की नटराज होटल में रही थीं।

बाद में 1968 में वैजयंतीमाला ने चमनलाल बाली से शादी कर ली। दोनों का एक बेटा है, जिसका नाम सुचिन्द्र बाली है। आज वेजयंती माला 81 साल की हो गई हैं। भले ही वो अब फिल्मों से दूर हैं लेेकिन हिंदी सिनेमा में  उनका नाम हमेशा ही रहेगा। 

Related Posts