single-post

चुनाव में हारने से पहले निरहुआ ने कहा था कि 'मुझे हराने वाला पैदा नहीं हुआ'

May 24, 2019, 12:02 a.m.

भोजपुरी गायक और अभिनेता दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' को भाजपा ने आजमगढ़ संसदीय सीट से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेख यादव के खिलाफ मैदान में उतारा था। दिनेश लाल यादव यानी निरहुआ पूर्वी उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव हार चुके हैं। उन्हें अखिलेश यादव ने आजमगढ़ सीट से हरा दिया है। इस हार के बाद उनका एक पुराना इंटरव्यू वायरल हो रहा है जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें हराने वाला कोई पैदा नहीं हुआ है। 

आपको बताते चले कि एक इंटरव्यू में एंकर ने उनसे सवाल पूछा था, मुंबई में रहने वाले निरहुआ चुनाव हार गए तो क्या वो आजमगढ़ दोबारा जाएंगे या फिर वापस फिल्मी दुनिया में चले जाएंगे? निरहुआ ने कहा था, "सबसे पहले तो आपसे मैं ये बताता हूं कि मुझे हराने वाला कोई पैदा नहीं हुआ क्योंकि मैं स्वतंत्र आदमी हूं। मेरी विचारधारा स्वतंत्र है। किसी का गुलाम नहीं हूं।" 

इसके बाद निरहुआ ने रामधारी सिंह दिनकर की कविता सुनाई और कहा था,"मैं ईश्वर के लिखे लेख को भी हटा सकता हूं, मिटा सकता हूं। अगर मैं अपनी सोच रखता हूं, विचार रखता हूं। मैं यहां किसी के पीछे घूमने वाला इंसान नहीं हूं। ये भूल जाइए कि मुझे यहां कोई हरा पाएगा।" 

निरहुआ के जवाब पर एंकर ने काफी हैरानी जताई थी और कहा था कि इससे लगता है कि आपमें बहुत अहंकार है। आप कहते हैं कि मुझे हराने वाला कोई पैदा नहीं हुआ। ईश्वर के लिखे को आप मिटा सकते हैं। मुझे लगता है कि आप अकेले नेता हैं जो इस तरह के दावे कर रहे हैं। इस पर निरहुआ ने कहा था, "ये अहंकार नहीं है। मैं ये कह रहा हूं कि अगर मैं सच के साथ हूं, धर्म के साथ हूं तो ये असत्य लोग जो देश को लूट रहे हैं ये मुझे नहीं हरा पाएंगे। क्योंकि मैं सच के साथ हूं।"

 आपको बता दें कि आजमगढ़ में बीजेपी ने भोजपुरी सिनेमा के स्टार दिनेश लाल यादव उर्फ़ निरहुआ को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के सामने उतारा था। लेकिन, यहां साफ तौर पर अखिलेश यादव की जीत हो गई हैं।