Birthday Spl - रजनीकांत के फैंस उनकी पूजा क्यों करते हैं, आखिर क्या जादू है ?

1 months ago

फिल्मस्टार्स के फैंस तो होते हैं लेकिन रजनीकांत के रजनीकांत के भक्त होते हैं। श्रद्धालु होते हैं। सेवक होते हैं। जिन्होंने रजनीकांत को अपना भगवान मान लिया है। 

मंदिर बना लिए हैं। रजनीकांत का जन्मदिन है। दिन भर उनके फैंस घर के आगे जमावड़ा लगाए रहेंगे। एक झलक उनकी पाने को घंटों इंतजार करेंगे। 

उनकी हर फिल्म की रिलीज पर सैकड़ों फीट ऊंचे कटआउट लगाए जाते हैं। 2.0 भारत की सबसे बड़ी फिल्म है। 550 करोड़ में फिल्म बनी है और कहा जा रहा है कि रजनी के दीवानों 100 करोड़ का तो एडवांस बुकिंग कर लिया था। 

29 नवंबर को रजनीकांत की फिल्म 2.0  रिलीज हुई है और इस फिल्म के लिए उनके फैंस पागल हुए पड़े हैं। इस फिल्म ने अब तक 600 करोड़ का बिजनेस कर लिया है। 

उनकी फिल्म जब रिलीज होती है तो दक्षिण भारत में छुट्टी का माहौल है। सिनेमाघरों के बाहर जबरदस्त भीड़ रहती है। लोग रजनीकांत के कटआउट्स को दूध से नहलाते हैं। 

 पिछली बार रजनीकांत की फिल्म जब रिलीज हुई थी पता चला कि सिनेमा हॉल के आसपास कहीं भी चाय नहीं मिल रही है। जानकारी मिली की चाय कहां से मिलेगी? भक्तों ने सारा दूध अपने भगवान के पोस्टर पर उड़ेल दिया। कोई पचास हजार लीटर दूध रजनीकांत के नाम पर पोस्टर पर बहा दिया गया। जी हां पचास हजार लीटर। सिन्टेक्स की बड़ी वाली 50 टंकियां। लोग तरह -तरह रजनी कांत के लिए अपनी दीवानगी दिखाते हैं। साऊथ में रजनीकांत की एक फैन ने तो अपने स्कूटर पर चिट्टी बनवा लिया । 

 

 ये तय करना मुश्किल है कि ये रजनीकांत की फिल्मों का जादू है कि उनकी शख्सियत का। फिल्म स्टार तो बहुत हैं लेकिन रजनीकांत जादूगर हैं। जिनके दिवाने रिक्शा चलाने वाले हैं तो आईटी प्रोफेशनल भी हैं।

 कारोबारी भी उनके फैन हैं तो अधिकारी भी। यहां तक की  फिल्में बनाने वाले लिखने वाले और उसकी आलोचना करने वाले तक उनके रिपब्लिक में सिर नवाते हैं। 

 रजनीकांत के फैंस फिल्म 2.0 में उनकी एंट्री पर नाचते दिखे।  पूरे दक्षिण भारत में आज त्योहार जैसी रौनक है। उनके थलैयवा रजनीकांत का जन्मदिन जो है।