Birthday Spl - अमिताभ को जंजीर के लिए मिलना चाहिए था अवॉर्ड, मैंने अवॉर्ड खरीदा था - रिशी कपूर

4 months ago

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता ऋषि कपूर आज अपना 66वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस खास दिन पर उन्हें दुनियाभर में मौजूद फैंस ढ़ेरों शुभकामनाएं भेज रहे हैं। ऋषि ने फिल्म 'मेरा नाम जोकर' से अपने अभिनय करियर की शुरुआत की थी। इस फिल्म में वह कलाकार के रूप में नजर आए थे। उन्होंने एक ऐसे 14 साल के लड़के का किरदार निभाया था, जिसे अपनी टीचर से प्यार हो जाता है। फिल्म में उन्होंने अपने चेहरे की मासूमियत से हर किसी का मन मोह लिया था। लेकिन इसके बाद उन्होंने वर्ष 1973 में अपने पिता राज कपूर की फिल्म 'बॉबी' से बतौर अभिनेता इंडस्ट्री में कदम रखा। उनकी यह फिल्म भी सुपरहिट साबित हुई। इसके बाद वह 'नगिना', 'चांदनी' और 'बोल राधा बोल' जैसी सफल फिल्मों का हिस्सा बने।

ऋषि कपूर फिल्मी परदे पर जितने रोमांटिक दिखते है। असल में वो ऐसे बिल्कुल नहीं थे। रिशी अपनी कोस्टार नीतू को बहुत तंग करते थे। कई बार तो सेट पर उन्होंने नीतू को जरूरत से ज्यादा परेशान किया। आज भी नीतू रिशी की उन कारगुजारियों को नहीं भूली है। रिशी नीतू को तंग करते थे। उन्हें चिढ़ाते रहते थे।  ऋषि कपूर इस बात का खुलासा कर चुके हैं कि उनके पिता राज कपूर, नरगिस और वैजयंती माला के साथ जुड़े हुए थे। इसी वजह से उनकी मांृ भी उनसे दूर रहने पर मजबूर हो गईं। तब राज कपूर के पास वापस आईं जब उन्होंने अपनी जिंदगी के इन चैप्टर्स को हमेशा के लिए बंद कर दिया। 

रिशी ने अपनी किताब में  लिखा था, "मुझे लगता है कि अमिताभ इस बात से काफी नाराज थे कि मुझे 'बॉबी' के लिए बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिल गया, जबकि इसके असली हकदार वह अपनी फिल्म 'जंजीर' के लिए थे। जो उसी साल में रिलीज हुई थी। मुझे कहते हुए बहुत शर्मिंदगी महसूस हो रही है कि मैंने वह अवार्ड खरीदा था।"