रानी पद्मावती की जिंदगी को पर्दे पर उतारने आ रही हैं दीपिका

1 years ago

दीपिका पादुकोण रानी पदमिनी के रोल में कैसी दिखेंगी इसका इंतजार हर सिनेमा प्रेमी कर रहा है। 21 सितंबर की सुबह संजय लीला भंसाली अपनी फिल्म की पदमावती को दुनिया के सामने लेकर आएंगे। दीपिका पादुकोण का रानी पदमावती के तौर पर पहला लुक सामने आएगा। रानी पद्मिनी का नाम राजस्थान के इतिहास में बहुत आदर के साथ लिया जाता है। उन्होंने चित्तौड़ के आत्मसम्मान के लिए 1600 और रानियों के साथ जलते कुंड में कूद कर जान दे दी थी। ऐसा उन्होंने अलाउद्दीन खिलजी के चित्तौड़गढ़ पर हमले के दौरान किया था। रानी पदमावती की कहानी पर पहले भी फिल्म और सीरियल बन चुके है लेकिन पहली बार चित्तौड़ की खूबसूरत रानी और उस पर फिदा अलाऊद्दीन खिलजी की कहानी पर एक मेगा फिल्म बन रही  है। चित्तौड़ की रानी पद्मिनी बहुत खूबसूरत थी और उनकी खूबसूरती पर एक दिन दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी की बुरी नजर पड़ गई। अलाउद्दीन किसी भी कीमत पर रानी पद्मिनी को हासिल करना चाहता था, इसलिए उसने 1303 में चित्तौड़ पर हमला कर दिया। रानी पद्मिनी ने आग में कूदकर जान दे दी, लेकिन अपनी आन-बान पर आंच नहीं आने दी। कहते हैं एक शीशे में अलाउद्दीन खिलजी ने रानी को देखा था और उनपर ऐसा फिदा हुआ कि उसने चित्तौड़ पर आक्रमण कर दिया। लेकिन राजपूत रानी ने अपनी लाज बचाने के लिए आग में कूदकर दे दी थी अपनी जान। 

इस फिल्म की शूटिंग पहले चित्तौड़गढ़ के ऐतिहासिक किले में होनी थी, लेकिन करनी सेना के विरोध को देखते हुए फिल्म के लिए किले का पूरा सेटअप मुंबई में ही लगाया गया फिल्म का विरोध कर रहे संगठनों को ऐसा लग रहा है रानी पद्मिनी को फिल्म अलाउद्दीन खिलजी की प्रेमिका के तौर पर दिखाया जाएगा ..और इसलिए फिल्म के बनने के पहले ही सड़कों पर उतर आए है कई संगठऩ  । संजय लीला भंसाली के साथ फिल्म के सेट पर मारपीट तक कर डाली। 

 इससे पहले राजपूत रानी जोधा पर बनी फिल्म जोधा अकबर का भी करनी सेना  पुरजोर विरोध किया था। साल 2009 में रिलीज हुई थी ऐश्वर्या राय बच्चन और ऋतिक रोशन की फिल्म जोधा अकबर  । राजस्थान के कई इलाकों में इस फिल्म का विरोध हुआ था। करणी सेना का मानना था कि जोधा की कभी अकबर से नहीं हुई थी शादी।  फिल्म जोधा अकबर को राजस्थान के कई सिनेमाघरो में नहीं दिखाया जा सका था हालांकि ये फिल्म जबरदस्त हिट रही थी लेकिन राजस्थान के राजपूत संगठन इसके खिलाफ महीनों धरना प्रदर्शन करते रहे।  

Related Posts