'धड़क' रिलीज हो गई लेकिन क्या जाह्नवी में हैं श्रीदेवी वाली बात ?

11 months ago

जाह्नवी और ईशान खट्टर की फिल्म धड़क को मिक्स रिस्पॉन्स मिल रहा है। फिल्म को लेकर यंगस्टर्स में काफी क्रेज है। इसकी वजह  ये भी है साल 2016 में मराठी फिल्म सैराट सुपर हिट हुई थी और धड़क उसकी ऑफिसियल हिंदी रीमेक है। सैराट  बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त बिजनैस कर गई। फिल्म की कहानी से लेकर एक्टर्स की परफॉर्मेंस तक हर पहलू को पसंद किया गया। करीब 4 करोड़ के बजट में बनी सैराट ने बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ से भी ज्यादा का कारोबार किया था। 

ये सब देख करण जौहर ने भी सैराट का हिंदी रीमेक बनाने की सोची..फिल्म की डायरेक्शन की कमान संभाली शषांक खेतान ने। फैंस में भी धड़क को देखने का क्रेज इसी वजह से ज्यादा रहा क्योंकि ये सैराट का रीमेक है लेकिन सैराट वाली कोई भी बात फि्लम में नजर नहीं आई। फिल्म में अगर कुछ नजर आया तो वही पुराना करण जौहर की लव स्टोरीज वाला फील। धड़क को डायरेक्ट किया है शशांक खेतान ने और शशांक को बॉलीवुड में पहचान मिली बदरीनाथ की दुल्हनिया और हम्पटी शर्मी की दुल्हनिया जैसी ब्लॉकबस्टर हिट देने के बाद। ऐसे में धड़क से सिर्फ फैंस को ही नहीं बल्कि क्रिटीक्स को भी काफी उम्मीदें थे।

हर किसी को लग रहा था कि शशांक अपनी इस लव स्टोरी से भी सबका दिल जीत लेंगे. लेकिन ऐसा हुआ नहीं। शशांक सैराट की कहानी के साथ पूरा इंसाफ नहीं कर पाए.और लोगों की उम्मीद पर खरे नहीं उतरे । जिसकी वजह से लोगो की एक्सपेक्टेशंस पर खरी उतरने में कामयाबी हासिल नहीं कर पाई धड़क। धड़क से लोगों की उम्मीदें ज्यादा बढ़ने का तीसरा और सबसे बड़ा कारण है जाहनवी कपूर.।15 नंवबर 2017 को जब पहली बार करण जौहर ने धड़क के तीन पोस्टर रिलीज किए और दुनिया के सामने श्रीदेवी की बेटी को लॉन्च करने का एलान किया  तभी से हर श्रीदेवी के फैन ने जाहनवी में अपनी फेवरेट एक्ट्रेस तलाशनी शुरु कर दी थी। 

फैंस को इंतजार था तो सिर्फ जाहनवी को सिल्वर स्क्रीन पर देखने का.। धड़क का ट्रेलर रिलीज हुआ तो उनकी मासूमियत हर किसी को भाई... उनका अंदाज भी लोगों को पसंद आया.. लेकिन जब फिल्म देखी तो हर श्रीदेवी फैन निराश ही हुआ। जाहनवी में श्रीदेवी तलाशने वाले लोगों को पूरी तरह सिर्फ निराशा ही हाथ लगी क्योंकि जाहनवी में अभी श्रीदेवी वाली मैचयोरिटी नहीं है ना ही उतना एक्सपीरियंस.हालांकि जानकार मानते हैं कि समय के साथ जाहनवी अपनी मम्मी की जगह ले सकती हैं क्योंकि उनके अंदर टैलेंट की कमी नहीं है...