single-post

19 साल की उम्र में ही दिव्या भारती की हो गई थी मौत, कम वक्त में ही बना ली थी अपनी पहचान

April 4, 2019, 9:41 p.m.

बॉलीवुड एक्ट्रेस दिव्या भारती एक ऐसी एक्ट्रेस रहीं हैं, जो सबके दिलों में अपनी जगह बनाकर गई हैं। दिव्या ने बेहद कम समय में ही अपनी जगह बना ली थी। दिव्या आज अगर होतीं तो जरूर नंबर 1 एक्ट्रेस होतीं। आज उनकी डेथ एनिवर्सिरी में हम आपको उनके बारे में बताने जा रहे हैं। दिव्या का जन्म 25 फरवरी 1974 मुम्बई में ओम प्रकाश भारती के घर में हुआ, जो एक बीमा अधिकारी थे और उनकी पत्नी का नाम मीता भारती था। दिव्या भारती के पिता की दो शादी हुईं थी। पहली पत्नी से दिव्या भारती हुईं थी। 

इसके अलावा छोटी बहन पूनम और एक छोटा भाई कुणाल हैं। दिव्या भारती अपने चुलबुले व्यक्तित्व के लिए जानी जाती थीं और सब लोग उन्हें गुड़िया कहते थे। 

शोला और शबनम की शूटिंग में गोविंदा के जरिए दिव्या की मुलाकात साजिद नाडियादवाला से हुईं और जल्द ही दोनों एक दूसरे के साथ प्यार में पड़ गए। 

10 मई 1992 को दिव्या भारती ने नाडियाडवाला से शादी कर ली। उन्होंने अपने शादी के बाद इस्लाम धर्म को कबूल किया और उनका नाम दिव्या भारती से बदल कर सना नाडियाडवाला हो गया।

 दिव्या भारती ने बहुत छोटी उम्र में फिल्मों में करियर की शुरुआत की थी। उन्होंने 16 वर्ष की उम्र के सफल तेलुगु फिल्म “बोब्बिली राजा” से सन् 1990 में फिल्मी दुनिया में कदम रखा। 

शुरुआती समय में दिव्या को कम रोल वाली फिल्में दी जाती थीं लेकिन बॉलीवुड में फिल्म विश्वात्मा से उनको सफता मिली। इसी फिल्म का गाना “सात समुन्दर पार गाने” से उन्हें एक अलग पहचान मिली। 

दिव्या भारती ने फिल्म “शोला और शबनम” और “दीवाना” जैसी फिल्मों में शाहरुख खान, गोविंदा और ऋषि कपूर जैसे स्टार्स के साथ काम किया और उन्हें इसी से सफलता हासिल हुई थी। 

जिसके बाद में बेस्ट एक्ट्रेस के लिए उन्हें फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला। उन्होंने 1992 और 1993 के बीच 14 से अधिक हिंदी फिल्मों में एक्टिंग की। 

उनकी आखिरी फिल्में एक्टर कमल सदानाह के साथ “रंग”, और एक्टर जैकी श्रॉफ के साथ “शतरंज”,थी। जिसके बाद दिव्या भारती की मौत हो गई। 

उनके मौत के 26 साल पूरे हो गए हैं। दिव्या भारती को अपने पूरे करियर में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था, उसके बाद उन्होंने बॉलीवुड में एक सफल मुकाम हासिल किया था। 

1993 में हुई उनकी रहस्मयी मौत ने सबको चौंका दिया था। 5 अप्रैल 1993 को, लगभग रात के 11 बजे, दिव्या भारती, मुंबई के वर्सोवा के अपने तुलसी अपार्टमेंट के पांचवें मंजिल की बालकनी से गिर गई। 

दिव्या भारती के जीवन के आधार पर एक फिल्म, “लव बिहाइंड द बॉर्डर बनने वाली थी, लेकिन कभी नहीं बनाई गई थी। 

दिव्या भारती भले ही आज हमारे बीच में नहीं हैं लेकिन फिर भी वो आज अपने चाहने वालों के दिलों पर राज कर रही हैं।