दिया मिर्जा का घर है या मुगल गार्डन, देखिए तस्वीरें

4 months ago

 

 

बॉलीवुड एक्ट्रेस दिया मिर्जा साहिल सिंघा के साथ हैपिली मैरिड हैं। दिया फिल्मों में कम नजर नहीं आती लेकिन बॉलीवुड पार्टीज और सोशल मीडिया पर खूब एक्टिव रहती हैं। दिया पर्यावरण प्रेमी हैं और उन्होंने अपने घर को भी उसी हिसाब से सजा रखा है। 

 साल 2000 में दिया ने मिस इंडिया एशिया पैसिफिक का ताज जीता था । मिस इंडिया एशिया पैसिफिक  का ताज जीतने के बाद दिया के पास बॉलीवुड फिल्मों की लाइन लग गयी। 

 उन्होंने अपने करियर की शुरुआत फिल्म फिल्म 'रहना है तेरे दिल में' से की थी। इसमें फिल्म में उनके अपोजिट आर माधवन नज़र आये थे। फिल्म  बॉक्स ऑफिस पर हिट रही थी। 

 इसके बाद उन्होने 'दीवानापन' और 'तुमको न भूल पाएंगे' में काम किया। 2004  में दिया मिर्ज़ा ने विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म परिणीता में काम किया। 

2006 में उन्होनें एक बार फिर विधु विनोद चोपड़ा की संजय दत्त के साथ 'लगे रहो मुन्ना भाई फिल्म में काम किया। दस कहानियां, फाइट क्लब, ,क्रेजी 4, हम तुम और घोस्ट, कोई मेरे दिल में है, तहजीब, तुम सा नहीं देखा और ब्लैकमेल जैसी फिल्मों में भी दिया नजर आईं। 

दिया  मिर्जा का जन्म 9 दिसंबर 1981 को हैदरबाद के तेलांगना में हुआ था। उनके पिता फ्रेंक हेंडरिक एक जर्मन इंटीरीयर डिज़ाइनर थे । 

उनकी मां का नाम  दीपा  था  । जब दिया मिर्ज़ा 6 साल की थी तब उनके माता-पिता अलग हो गए।

9 साल की उम्र में उनके पिता का देहांत हो गया। बाद में उनकी मां ने अहमद मिर्ज़ा से शादी कर ली। ऐसे में दिया ने अपने नाम के आगे मिर्जा लगा लिया  दिया के नाम के आगे मिर्जा लगा हुआ है लेकिन वह अपने आप को मुस्लिम नहीं मानती और भगवान गणेश में विश्वास करती हैं। 

18 अक्टूबर 2014 को दिया मिर्जा ने अपने बॉयफ्रेंड साहिल सिंघा से शादी रचाई। दिया अपनी शादीशुदा जिंदगी को खूब इंजॉय कर रही हैं। 

दिया को पर्यावरण से बहुत प्रेम है। उन्होंने अपने घर के आसपास काफी पेड़ पौधे लगा रखे हैं। 

दिया के गार्डन में तोते का एक जोड़ा भी रहता है। दिया उन तोतों तो पिंजरे में नहीं रखती हैं। 

दिया ने घर के भीतर भी कई सारे प्लांट्स लगा रखे हैं । दिया मिर्जा हमेशा से ही पर्यावरण और प्रदूषण को लेकर बातें करती रही हैं। वो इनसे जुड़े कार्यक्रमों में भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेती रही हैं। 

दिया का कहना है कि वह उन सभी चीजों का इस्तेमाल करना बंद कर चुकी हैं जिससे पर्यावरण को नुकसान हो रहा है। दिया कहती हैं कि ऐसी ही एक अहम चीज है सैनिटरी नैपकिन जो पर्यावरण को तेजी से प्रदूषित कर रही है इसलिए उन्होंने सैनिटरी नैपकिन का इस्तेमाल करना बंद कर दिया है।