मोहन भागवत और सीएम योगी पर अभद्र टिप्पणी करना हार्ड कौर को पड़ा भारी, हुआ केस दर्ज

3 weeks ago

इंड्स्ट्री में अक्सर हम देखते हैं कि सितारे सुर्खियों में रहते हैं। खास बात ये है कि वो अक्सर कॉन्ट्रोवर्सी में भी घिर जाते हैं। अब इन दिनों जानी मानी सिंगर रैपर हार्ड कौर इसमें फंसी। हार्ड कौर अक्सर अपने बोल्ड औऱ बेबाक अंदाज़ से सुर्खियों में रहती है। इस बार उनकी ये बोल्डनेस औऱ बेबाकियत उन्हें मंहगी पड़ गई। हुआ ये है कि बीते दिनों ही हार्ड कौर ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर बेहद ही भद्दी और आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इसके बाद हार्ड कौर विवादों में आ गईं। हार्ड कौर ने 18 जून को अपने इंस्टाग्राम पर योगी आदित्यनाथ और मोहन भागवत को लेकर एक आपत्तिजन पोस्ट शेयर किया था जिसके बाद उन्हें जमकर ट्रोल भी किया गया था। हार्ड कौर ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते हुए लिखा था कि, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कई हमले करवाएं हैं। इतना ही नहीं हार्ड कौर ने मोहन भागवत को जातिवादी भी बता दिया। सिंगर ने कहा कि, देश में हुई बड़ी आतंकी घटनाओं के लिए भी उन्हें और संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ जिम्मेदार है। फिर चाहे वो 26/11 का मुंबई टेरर अटैक हो या पुलवामा हमला। हार्ड कौर यहीं नहीं रुकीं उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ को भी आड़े हाथ ले लिया। सीएम योगी को लेकर अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया। हार्ड कौर ने हू किल्ड करकरे नाम की एक किताब के पहले पेज की तस्वीर भी शेयर की है, जिसे एसएम मुशरिफ ने लिखा है। इस पर वो कहती हैं कि इन्हें आऱएसएस ने मारा है। हार्ड कौर पर वाराणसी के कैंट थाने में केस दर्ज किया गया है। हार्ड कौर के खिलाफ शिशांक त्रिपाठी नाम के एक वकील ने कहा है कि, हार्ड कौर के इस पोस्ट से लोगों के भावनाओं को ठेस पहुंची है। इस एफआआईआर के बाद पुलिस ने हार्ड कौर पर धारा 124A (देशद्रोह), 153A (धर्म के आधार पर लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचा और भेदभाव फैलाना, आदि), 500 (मानहानि), 505 (सार्वजनिक दुर्व्यवहार के लिए जिम्मेदार बयान) और 66 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। फिलहाल अब हार्ड कौर विवादों में फंस गई हैं।