'अगर हेमा मालिनी को नहीं जिताया तो टंकी पर चढ़ जाऊंगा' - धर्मेन्द्र

1 week ago



शोले का वीरू बसंती के साथ तांगे पर नहीं, मंच पर है। रामगढ़ की पानी की टंकी नहीं, यहां गांव की पानी की टंकी है, मौसी भी नहीं है। शायद अब मौसी की दरकार भी नहीं है सीधे गांववालों को वीरू धमकी देता है। शोले की बसंती से शादी वाली नहीं। बसंती को अबकी बार भी संसद भेजने के लिए। धर्मेंद्र के इसी अंदाज़ का तो कायल है हिंदुस्तान। हेमा मालिनी के लिए वोट मांगते धर्मेंद्र को सुनने के लिए मथुरा में लोग जुटे हैं। बॉलीवुड के गरम-धरम यहां नरम कैसे पड़ जाते। उम्र जैसे छू-मंतर हो गई है। ड्रीम गर्ल का साथ है और सामने बिना लाइट, कैमरा, एक्शन के सीधे जनता से सरोकार है। धर्मेंद्र मूड में आ जाते हैं।




स्टाइल तो सितारों की पहचान होती है। सियासी मैदान में धर्मेंद्र उसे कैसे छोड़ देते। पत्नी हेमा मालिनी 2014 में भी मथुरा से उम्मीदवार थीं और एक बार बीजेपी के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। वोट की अपील का अंदाज तो हेमा मालिनी का भी अनोखा है। कभी गेहूं की खेतों में दांती के साथ फोटो क्लिक होती है। कभी रामगढ़ की बसंती तांगे से उतर ट्रैक्टर में सवार हो जाती हैं।


बीजेपी का राष्ट्रवाद का मुद्दा धर्मेंद्र के होठो पर अनायास नहीं आया होगा। किसान का दर्द दिल से जुबान तक यूं ही आ गया होगा। 60 सालों से बॉलीवुड पर राज करने वाले धर्मेंद्र भले ही सियासत में सक्रिय नहीं रहते लेकिन मथुरा के लोग क्या चाहते हैं उसकी नब्ज धर्मेंद्र ज़रूर पहचानते हैं लिहाजा राष्ट्रवाद, किसान और समुदाय उनके भाषण का अहम हिस्सा हैं।



धर्मेंद्र बचपन का एक किस्सा भी सुनाते हैं। बड़ी दिलचस्प...इस किस्से में गुलाम भारत से आज़ाद भारत की एक खूबसूरत तस्वीर उभरती है...जिसमें चुनाव आते-जाते रहते हैं...वतन से प्यार कम नहीं होता। मथुरा से महागठबंधन ने आरएलडी के कुंवर नरेंद्र सिंह को मैदान में उतारा है। ड्रीम गर्ल के सामने कुंवर नरेंद्र सिंह चुनौती भले ही हों। लोकप्रियता में वीरू और बसंती के सामने कहीं नहीं टिकते। ड्रीम गर्ल का जलवा अब भी बरकार दिखता है। और जब साथ सदाबहार धर्मेंद्र हो तो क्या कहने। पब्लिक वोट किसे देती है। ये तो वही जाने..बहरहाल धर्मेंद्र के अंदाज़ का लुत्फ उठाइए।