single-post

ISOMES के मंथन में शिरकत करने पहुंचे तिग्मांशू धूलिया, धमाकेदार फिल्मों से बनाई अलग पहचान

March 13, 2019, 3:53 p.m.

BAG नेटवर्क के मीडिया इंस्टीट्यूट ISOMES के सालाना कार्यक्रम मंथन का आगाज हो चुका है। तीन दिनों तक चलने वाले इस कार्यक्रम में कई सितारे शिरकत करने वाले है। साथ ही खूब सेलिब्रेशन होने वाला है। ये कार्यक्रम 13, 14 और 15 मार्च तक चलेगा। वहीं इस कार्यक्रम में बॉलीवुड के जाने माने डायरेक्टर तिग्मांशू धूलिया भी शिरकत करने के लिए पहुंचे है।  3 जुलाई 1976 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद मे जन्में तिग्मांशू बॉलीवुड के ऐसे फिल्ममेकर हैं जो अपनी फिल्मों से दर्शकों का दिल पहले ही जीत चुके है। तिग्मांशू ने अपनी पढ़ाई सेंट जोसेफ स्कूल और एंग्लो बंगाली इण्टरमिडियेट कालेज से पूरी की।

 तिग्मांशू ने 'पान सिंह तोमर' और 'साहेब बीवी और गैंगस्टर' सीरीज जैसी फिल्में बनाई हैं। तिग्मांशू ने करियर की शुरूआत 2003 में फिल्म हासिल के साथ शुरु की थी। फिल्म में इरफान खान को निगेटिव रोल के लिए बेस्टर एक्टर का अवॉर्ड भी मिला था। इसके बाद उन्होंने चरसः ए ज्वाइण्ट ऑपरेशन को डायरेक्ट किया। फिल्म में इरफ़ान खान, जिमी शेरगिल और उदय चोपड़ा नजर आए थे। तिगमांश वक्त के साथ आगे बढ़े और अपनी फिल्मों को बढ़ाते गए। 

2011 मे तिग्मांशु दो धमाकेदार फिल्में लेकर आए। इसमें शागिर्द और साहब बीबी और गैंगस्टर जैसी फिल्में रहीं। दोनों ही फिल्में शानदार थी। साल 2012 में वो चंबल के डाकू पान सिंह तोमर की बायोपिक फिल्म लाए। फिल्म में इरफान खान थे। ये फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर हिट रही। साथ ही फिल्म के नाम कई अवॉर्ड्स भी रहे। फिल्म चंबल के बाग़ी बने पान सिंह तोमर, जो बाधा दौङ मे 7  बार का राष्ट्रीय रिकार्डधारी थे। उन्हीं की लाइफ पर फिल्म बेस्ड थी। 

फिल्म में माही गिल भी नजर आईं। वैसे तिग्मांशू एक डायरेक्टर ही नहीं बल्कि अच्छे एक्टर भी है। गैंग्स ऑफ़ वासेपुर 1, हीरो और जीरो जैसी फिल्मों में उनकी कमाल एक्टिंग भी दिखी है। जल्द ही वो अली फजल के साथ ही फिल्म मिलन टॉकीज ला रहे है. फिल्म उत्तर प्रदेश के बैकग्राउंड पर बेस्ड है।