जाह्नवी ने अपने रिलेशनशिप का किया खुलासा, कहा ईशान को डेट नहीं कर रही !

1 week ago

बॉलीवुड की धड़क गर्ल जाह्नवी कपूर दो दिन पहले पापा बोनी कपूर और छोटी बहन संग तिरुमाला मंदिर पहुंची। जिसकी कुछ तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इस मौके पर जाह्नवी-खुशी कपूर साड़ी पहने नजर आई। तो वहीं बोनी कपूर सफेद कुर्ते पजामे में नजर आए। वहीं अब जाह्नवी कपूर से जुड़ी एक खबर सामने आ रही है। बॉलीवुड में डेब्यू करने से पहले जाह्नवी कपूर की उनके बचपन के दोस्त अक्षत राजन के साथ पार्टी करते और किस करते कुछ तस्वीरें वायरल हुई थी। जिसके बाद एक बार ईशान के साथ ही जाह्नवी का नाम उनके बचपन के दोस्त अक्षत राजन के साथ भी जुड़ रहा है।हाल ही में जाह्नवी ने एक इंटरव्यू में इस बात का खंडन किया है और अपने रिलेशनशिप के बारे में खुलकर बात की। जाह्नवी ने इस बारे में कहा कि- ''उनके घर में डेटिंग हमेशा एक विषय रहा है। मम्मी और पापा इसे लेकर काफी ड्रामेटिक रहे हैं। मेरे पैरेंट्स मुझसे कहते आए हैं कि अगर तुम्हें कोई लड़का पसंद आएगा तो तुम मुझे बताना। हम तुम्हारी शादी उससे करा देंगे। इस पर मैं उनसे कहती थी कि अगर कोई लड़का मुझे पसंद भी है तो मैं उससे शादी नहीं करना चाहती।

इस दौरान जाह्नवी ने ईशान के साथ अपने रिलेशनशिप की खबरों का खंडन करते हुए कहा कि, 'वे ईशान को डेट नहीं कर रही हैं.' इसके साथ ही जाह्नवी ने अपने बचपन के दोस्त अक्षत राजन के बारे में कहा कि, 'अफवाह तो ये भी है कि मैं अपने बचपन के दोस्त अक्षत राजन को डेट कर रही हूं। सच कहूं तो उसे मेरे साथ बाहर जाने में अब डर लगने लगा है। उसे ऐसा लगता है कि लोग अगर दोनों को साथ देख लेंगे या दोनों कैमरे की निगाह में आ जाएंगे तो दोनों के रिलेशनशिप की अफवाहें फैलने लगेंगी। जब वे मेरे पापा के बर्थडे पर आया था और उसने मीडिया को वहां पर देखा था तो वो छिपने लगा था। यही नहीं वो वहां ज्यादा देर तक नहीं रुक पाया और वहां से चला गया।बता दें कि अब धड़क गर्ल फाइटर पायलट गुंजन सक्सेना की बायोपिक में नजर आने वाली है। सोशल मीडिया पर जाह्नवी कपूर का फस्ट लुक वायरल हो रहा है। जाह्नवी पायलेट की ड्रेस में नजर आ रही हैं। इस फिल्म में जाह्नवी फाइटर पायलट गुंजन सक्सेना का किरदार निभाती नजर आएंगी। बता दें कि गुंजन सक्सेना को भारत की पहली लड़ाकू महिला होने का गौरव प्राप्त है। उन्होंने 1999 की कारगिल लड़ाई में अपनी जान की परवाह न करते हुए अपने कई साथियों की जान बचाई थी। गुंजन को उनकी बहादुरी के लिए सुर्यवीर पुरूस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है।