77 साल के हुए जितेन्द्र, देखिए जंपिग जैक के परिवार की तस्वीरें

1 week ago


हिंदी सिनेमा के जंपिग जैक जितेन्द्र का एक अलग ही चार्म था । भले ही जितेन्द्र फिल्मों में दिखाई नहीं देते लेकिन उनकी बेहतरीन सिनेमा अब भी फैंस के जेहन में बसे हुए हैं। जितेन्द्र का 7 अप्रैल को जन्मदिन होता है। वो 77 साल के हो गए हैं। जितेन्द्र के जन्मदिन पर आपको उनके परिवार की तस्वीर दिखाते हैं। जितेन्द्र पहले दादा बने थे अब नाना भी बन गए हैं। बेटी एकता कपूर हाल ही में सरोगेसी के जरिए मम्मी बन गई हैं। एकता ने अपने बच्चे का नाम जितेन्द्र के असली नाम पर रखा है। एकता के बेटे का नाम रवि कपूर है। 



जितेने शोभा कपूर से शादी रचाई है। शोभा जब 14 साल की थी तब से जितेन्द्र को जानती थीं। बचपन का प्यार इतना परवान चढ़ा कि दोनों ने शादी भी कर ली। 

जितेंद्र और शोभा की मुलाकात पहली बार मुंबई के मरीन ड्राइव पर हुई थी।  शोभा को देख जितेन्द्र ने उनपर मूंगफली के दाने फेंके थे। दोनों के बीच प्रेम संबंध बनने लगे और 16 साल की उम्र में दोनों एक-दूसरे प्यार में पड़ गए। रोज मिलने गए। कॉलेज पास करते ही जितेन्द्र फिल्मों में काम करने लगे। दोनों की लव स्टोरी उस दौरान भी जारी रही लेकिन इस कहानी में वो बनकर आईं हेमा मालिनी। 


दरअसल संजीव कुमार हेमा मालिनी से बहुत प्यार करते थे लेकिन हेमा के माता-पिता ने उनके रिश्ते को खारिज कर दिया था। संजीव का दिल टूट गया था लेकिन उन्होने अब भी हिम्मत नहीं हारी थी। संजीव कुमार ने अब अपने दोस्त जितेन्द्र का सहारा लिया। संजीव ने जितेन्द्र को हेमा के पास ये समझाने भेजा था कि वो शादीशुदा धर्मेन्द्र के चक्कर में ना पड़े। लेकिन ड्रीम गर्ल हेमा मालिनी को देखते ही जितेन्द्र भी फिसल गए।



 फिल्म दुल्हन की शूटिंग के दौरान जितेन्द्र ने हेमा से दोस्ती बढ़ा ली। हेमा जीतेन्द्र को पसंद भी करती थीं। हेमा ने ये माना भी है कि जितेन्द्र कहीं ना कहीं उनके दिल के किसी कोने में थे। हेमा जीतेन्द्र को पसंद भी करती थीं। हेमा ने ये माना भी है कि जितेन्द्र कहीं ना कहीं उनके दिल के किसी कोने में थे । हेमा ने ये कहा था ,'' ये सच है कि जितेन्द्र से शादी के लिए मैं तैयार हो गई थी। लेकिन अचानक मैंने अपने कदम इस फैसले से पीछे खींच लिए । " 




दरअसल हेमा जितेन्द्र की स्टोरी में शोभा शिप्पी का ट्विस्ट था। दरअसल जितेन्द्र के घरवाले जब हेमा के साथ शादी की बात पक्की कर रहे थे तभी शोभा सिप्पी नाम की लड़की का फोन आने लगा। हेमा के साथ प्यार में पड़ चुके जितेन्द्र शोभा के भी टच में थे। इधर धर्मेन्द्र भी लगातार फोन करके हेमा को जितेन्द्र से शादी नहीं करने के लिए कह रहे थे। 


ऐसे में जितेन्द्र की लाइफ में शोभा की कहानी और ध्रमेन्द्र की दीवानगी देख हेमा ने जितेन्द्र से शादी ना करने का फैसला किया।  हालांकि हेमा के इस फैसले से जीतेन्द्र का दिल टूट गया। शोभा को भी जब जितेन्द्र और हेमा के बारे में पता चला था तो वो दुखी हो गईं थी। 



बाद में उन्होंने जितेन्द्र को माफ कर दिया।  1973 में 13 अप्रैल को दोनों ने शादी की प्लानिंग की थी लेकिन शादी से दो दिन पहले जितेंद्र के पिता की तबियत अचानक ज्‍यादा खराब हो गई और इन्‍हें अपनी शादी कैसिल करनी पड़ी। 



जितेन्द्र के माता-पिता शोभा से शादी के लिए तैयार नहीं हो रहे थे। ऐसे में 31 अक्‍टूबर 1974 को चुपके-चुपके शादी कर ली। इसके बाद जितेंद्र ने अपने माता-पिता को इसकी सूचना दी कि उन्‍होंने शोभा से शादी कर ली ।






जितेन्द्र के दो बच्चे हुए एकता कपूर और तुषार कपूर । जितेन्द्र अब फिल्मों में काम नहीं करते। बेटी एकता के साथ मिलकर अपना प्रोडक्शन हाऊस चलाते हैं। 



परिवार में अब एक और नन्हा मेहमान आ गया है लक्ष्य। लक्ष्य तुषार का बेटा है। सरोगेसी से तुषार का बेटा हुआ है। 



  

लक्ष्य दादा जितेन्द्र का लाड़ला है। जितेन्द्र अब 76 साल के हो चुके हैं लेकिन फिट हैं।