लंबे समय से बीमार चल रहे थे कादर खान, कनाडा में ही होगा अंतिम संस्कार

2 weeks ago

 

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर और कॉमेडियन कादर खान नहीं रहे। 81 साल की उम्र में कनाडा में उनका निधन हो गया है। कादर खान का वहीं कनाडा में अंतिम संस्कार किया जाएगा।  कादर साहब पिछले कई सालों से कनाडा में अपने बेटे-बहू के साथ रहते थे। लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वे बिना सहारे के चल नहीं पाते थे और उन्हें बोलने में भी तकलीफ होती थी। कनाडा के टाइम के मुताबिक 31 दिसंबर शाम छह बजे उनका निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे.। 31 दिसंबर की दोपहर तक वो कौमा में चले गए थे। कादर खाम  16-17 हफ्ते से अस्पताल में थे।  उनका अंतिम संस्कार कनाडा में ही किया जाएगा। 

बता दें 3 साल पहले कादर खान के घुटने की सर्जरी हुई थी। उसके बाद से ही उन्हें चलने फिरनें में दिक्कत हो रही थी.और पिछले 2 साल से वो व्हीलचेयर पर थे।  इतना ही नहीं पिछले कई साल से उनकी तबीयत में उतार चढ़ाव बना रहा। आख़िरी वक्त में प्रोग्रेसिव सुप्रान्यूक्लीयर पाल्सी डिसऑर्डर के चलते उनके दिमाग से संचालित होने वाली गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुई हैं। जिसके चलते डॉक्टरों ने सांस लेने में हो रही दिक्कत के कारण उन्हें बाइपेप वेंटीलेटर पर रखा गया था लेकिन कादर खान जिंदगी की जंग हार गए।

ALSO READ : 81 साल की उम्र में एक्टर कादर खान का निधन, कई दिनों से थे बीमार

 

कादर खान ने साल 1973 में पहली फिल्म 'दाग' में नजर आए थे। इस फिल्म में कादर खान वकील की भूमिका में थे। कहा जाता है कि कादर खान के कॉलेज ड्रामा में किए गए काम से दिलीप कुमार इतने इंप्रेस हुए थे कि उन्होंने कादर खान को दो फिल्मों 'सगीना' और 'बैराग' के लिए साइन कर लिया था।

करीब 300 फिल्मों में अदाकारी कर चुके कादर ख़ान ने हिंदी और उर्दू में 250 फिल्मों के डायलॉग भी लिखे । यहां तक कि राजेश खन्ना और मुमताज की साल 1974 में आई फिल्म 'रोटी' के लिए कादर खान ने ही डायलॉग लिखे थे। इस काम के लिए कादर खान को 1 लाख 21 हजार रुपए दिए गए थे।