KBC: कभी श्मशान में सोने वाली सिंधुताई हैं 1200 बच्चों की मां, बिग बी ने भी छुए पैर

3 weeks ago

टीवी का सबसे बड़ा रियलिटी शो कौन बनेगा करोड़पति एका बार फिर शुरू हो गया हैं। इस बार केबीसी का 11 आया हैं। हर साल ही तरह इस साल की शो में कई सारे बदलाव हुए है। इस शो का पहला एपिसोड 19 अगस्त को ऑन एयर हुआ। अब शो का पहला 'कर्मवीर स्पेशल एपिसोड' इस हफ्ते आया। शुक्रवार को शो का कर्मवीर स्पेशल एपिसोड दिखा गया। इस शो में मने हिस्सा लिया था। शो में अमिताभ बच्चन ने खुद खड़े होकर उनका स्वागत किया। अमिताभ ने उनके पैर भी छुए और उन्हें हॉट सीट पर बैठाया। आखिरकार कौन है सिंधुताई सपकाल हम आपको बताते हैं।  

इस एपिसोड में महाराष्ट्र की वरिष्ठ समाजसेवी सिंधुताई सपकाल आई। जिन्हें 'मदर ऑफ ऑर्फन्स' कहा जाता है। जिनका अमिताभ बच्चन पैर छूकर स्वागत किया। शो में सिंधुताई ने अपने जीवन की कहानी बताई। जिससे सुनकर और देखकर पता चला की कितना मुश्किलों भरी उन्होंने अपनी जिदंगी को जिया है। केबीसी में सिंधुताई ने अपनी कहानी सुनाई तो सभी के रोंगटे खड़े हो गए।

उन्होंने बताया कि- 'मैं 20 साल की थी और मेरी बच्ची (ममता) 10 दिन की। उस वक्त मेरे ससुरालवालों ने मुझे घर से निकाल दिया था। मेरी मां ने भी मुझे घर से निकाल दिया था। वो मुझे नहीं चाहती थीं। मुझे समझ नहीं आया मैं क्या करूं, इतनी छोटी बच्ची को लेकर कहां जाऊं। मेरे पास कोई खाने-रहने के लिए कुछ नहीं बचा था। तब मैं ट्रेन में घूमा करती थी। पेट भरने के लिए ट्रेन में गाना गाती थी और रात को श्मशान में रहती थीं। इसी दौरान उन्होंने महसूस किया कि देश में कितने अनाथ बच्चे हैं जिन्हें मां की जरूरत है। तब उन्होंने निर्णय लिया कि जो भी अनाथ उनके पास आएगा वे उसकी मां बनेंगी।

अबतक सिंधुताई 1200 बच्चों को गोद ले चुकी हैं। इनकी 36 बहुएं और 272 दामाद हैं। 450 से भी ज्यादा पोते-पोतियां हैं। सिंधुताई कहती हैं, जिसका कोई नहीं उसकी मां मैं हूं। सिंधुताई ने सबसे पहले दीपक नाम के बच्चे को गोद लिया था, उसे रेलवे ट्रैक पर पाया। सिंधुताई को 750 से अधिक पुरस्कार मिल चुके हैं। उन्हें 2013 में आईकॉनिक मदर के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था। 2016 में डीवाई पाटिल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड रिसर्च पुणे ने डॉक्टरेट इन लिट्रेचर से सम्मानित किया।  

महाराष्ट्र सरकार ने 2010 में अहिल्याबाई होल्कर पुरस्कार दिया। 2012 में सीएनएन-आईबीएन और रिलायंस फाउंडेशन द्वारा रियल हीरोज अवार्ड्स और इसी साल कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग पुणे द्वारा गौरव पुरस्कार दिया गया। 2018 में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने नारी शक्ति पुरस्कार से सम्मानित किया। शो में सिंधुताई सपकाल ने अपनी बायलॉजिकल बेटी ममता के साथ हॉटसीट शेयर की थी। मां-बेटी की इस जोड़ी ने 25 लाख रुपये जीते।