single-post

96 साल बाद केरल पर टूटा कहर, तस्वीरें देख कांप उठेंगे

Aug. 18, 2018, 1:59 p.m.

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 अगस्त): केरल में करीब 100 साल बाद बाढ़ और बारिश से भयंकर तबाही हुई है। बताया जा रहा है कि तबाही की वजह  दक्षिण पश्चिमी मानसून बताया जा रहा है। हालत ये है कि केरल के 80 फीसदी से ज्यादा इलाके पानी में डूब चुके हैं। इस विनाशकारी से बाढ़ से अब तक 324 लोगों की मौत हो चुकी है। केरल में इस आफत की चपेट में सैकड़ों लोग आए हैं।

मौसम विज्ञानी हैरान है। पूरा केरल खौफजदा है। अब सहारा ऊपरवाले का है। पूरा केरल दुआ कर रहा है। सबके जेहन में सवाल कौध रहा है, जो दक्षिण पश्चिम मानसून बारिश करके आगे बढ़ जाता था। इस बार वो केरल में क्यों थम गया है। क्यों केरल में कहर मचा रहा है।

96 साल बाद दुबारा तबाही क्यों लौट आई। 80 फीसदी के ज्यादा केरल इस वक्त पानी में डूबा हुआ है। लाखों लोग पानी में फंसे हुए हैं। अबतक 350 से ज्यादा लोग सैलाब का निवाला बन चुके हैं। सब यही पूछ रहे हैं कि कुदरत इतनी गुस्से में क्यों हैं।केरल में उफनते पानी से लोग परेशान हैं। पूरा इलाका पानी में डूबा हुआ है, पानी के अलावा कुछ नजर नहीं आ रहा है। ऐसे में इलाके के लोगों के लिए सेना के जवान भगवान बन कर उतरे हैं।

लोग घरों की छतों पर शरण लिए हुए हैं। सेना के हेलिकॉप्टर से लोगों रेस्क्यू शुरू होता है। पहले हेलिकॉप्टर से सेना के जांबाज मकान पर उतरते हैं, फिर इलाके में फंसे दर्जनों लोगों को सेना के ये जांबाज बचा लेते हैं।केरल का चालकुड़ी इलाका समंदर बन गया है। यहां भी सैलाब में फंसे लोगों के लिए सेना के जवान मसीहा बन कर आए। हेलिकॉप्टर की मदद से देखिए कैसे लोगों को पानी के भीतर से ऊपर निकाला और उन्हे सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया।

केरल का कोच्चि बाढ़ से बेहाल है। यहां भी रेस्क्यू टीम ने जांबाजी का काम किया। कोच्चि का मुट्टम इलाका पूरा इलाका पानी में समा गया है, सड़कों पर गाड़ियां नहीं नावें चल रही है। कोच्चि के कई इलाकों में लोगों को घुटनों तक भरे पानी जाने को मजबूर होना पड़ रहा है।केरल में हालात कितने खराब हैं, उसका अंदाजा इस बात से भी लगा सकते हैं कि पूरा ट्रांसपोर्ट सिस्टम फेल हो चुका है। जिधर देखो उधर गाड़ियां खड़ी है। कोच्चि एयरपोर्ट को भी पानी भर जाने के चलते 26  अगस्त तक बंद कर दिया गया है, बस, मेट्रोऔर ट्रेन सब रोक दी गई है ।