क्या ये सच है कि दिलीप कुमार और प्रेमनाथ को मधुबाला एक साथ कर रही थी डेट ?

1 years ago

 

मधुबाला को गुलाब से बहुत मुहब्बत थी  और जब जब मधुबाला के दिल मे किसी के लिए प्रेम जागा तो उन्होंने मुहब्बत का इजहार गुलाब का फूल देकर ही किया था दिलीप कुमार को मधुबाला ने लाल गुलाब भेजकर अपने प्यार का इजहार किया था।.मधुबाला यू तो 12 साल की उम्र से ही दिलीप कुमार को पसंद करती थी लेकिन 1954 में जब वो दिलीप कुमार के साथ फिल्म तराना में काम कर रही थी तो वो उनकी दिल की डायरी में दर्ज हो गए।  मधुबाला ने अपनी मेकअप आर्टिस्ट मेरी को दिलीप कुमार के पास भेजा .लाल गुलाब के साथ मेरी ने दिलीप कुमार को एक चिट्ठी दी उस लेटर में लिखा था , ''अगर आप मुझे चाहते हैं तो ये फूल कबूल करिए वरना फूल वापस कर दीजिए ''

दिलीप कुमार ने मुस्कुराकर मधुबाला का दिया हुआ गुलाब अपनी कोट में लगा लिया। मधुबाला तब खुशी से झूम उठी। आखिर जिस शक्स को सालों से पसंद करती आ रही है अब वो भी उन्हें चाहने लगा था। फिल्म ज्वार भाटा के सेट पर मधुबाला ने पहली बार दिलीप कुमार को देखा था। दिलीप कुमार की ये पहली फिल्म थी और उस दौरान मधुबाला बॉम्बे टॉकीज की फेवरेट चाइल्ड आर्टिस्ट थीं. तब मधुबाला ज्वार-भाटा में दिलीप कुमार की हीरोइन बनते बनते रह गईं। उम्र कम होने की वजह से बॉम्बे टॉकीज की मालकिन देविका रानी चाहकर भी दिलीप कुमार की हीरोइन नहीं बना पाईं। 

फिल्म तराना में मधुबाला को जब दिलीप कुमार का साथ मिला, तो जैसे कोई ख्वाब पूरा हो गया। मधुबाला को अपने हीरो से प्यार हो गया मधुबाला के दिल में मुहब्बत का महल आकार लेने लगा था और वो दिलीप के नाम का तराना गा रहा था। दिलीप कुमार से पहले भी मधुबाला का दिल धड़का था उन्होने किसी को लाल गुलाब दिय़ा था। मधुबाला ने एक्टर प्रेम नाथ के साथ फिल्म बादल में काम किया था। उस वक्त मधुबाला मोहब्बत तलाश रही थी प्रेमनाथ उस दौर के बेहतरीन हीरो थे। उनका अपना मुकाम था और फिर मधुबाला उनमें अपना मुकद्दर तलाशने लगी थी। मधुबाला ने अपनी मेकअप आर्टिस्ट मेरी को एक लाल गुलाब और लेटर के साथ प्रेमनाथ के मेकअप रूम में भेजा था। मधुबाला के लेटर में लिखा था ,'' अगर आप मुझे चाहते हैं तो ये फूल कबूल करिए वरना फूल वापस कर दीजिए'' 

प्रेम नाथ कुछ देर के लिए शॉक्ड रहे और फिर उन्होंने संदेशा भिजवाया कि उन्हें फूल कबूल है। प्रेमनाथ और मधुबाला के अफेयर के किस्से फिल्म बादल के दौरान खूब उड़े. मधुबाला के पापा अताउल्लाह खान को भी इस रिश्ते से कोई एतराज नहीं था मधुबाला और प्रेमनाथ के रोमांस के किस्से हवाओं में घुलने लगे लेकिन प्यार का ये सिलसिला लंबा नहीं चला मधुबाला अभी प्रेमनाथ की मोहब्बत से पुरी तरह आजाद नहीं हुई थी कि फिल्म तराना के सेट पर दिलीप कुमार उनके दिल में दस्तक देने लगे।

 दिलीप और प्रेंमनाथ अच्छे दोस्त थे और इन्होंने अपनी निजी जिंदगी की बाते एक दूसरे से बांटी तो पता चला कि दोनों का प्यार मधुबाला ही हैं दिलीप कुमार इस बात पर मधुबाला से बहुत नाराज हुए थे.और प्रेमनाथ खुद ही मधुबाला और दिलीप कुमार के रास्ते से अलग हो गए। एक साथ दिलीप और प्रेमनाथ के साथ मधुबाला के रोमांस की चर्चा उस दौरान फिल्मी मैगजीन्स और न्यूज पेपर्स में खूब उड़ी थी। प्रेमनाथ दिलीप के रास्ते से हटे तो मोहब्बत और जवां हुई।  

 

 

 

Related Posts