single-post

पुलवामा के शहीदों पर कॉमेडियन मल्लिका दुआ का विवादित बयान, बोली- रोज मरते हैं लोग...

Feb. 18, 2019, 5:13 p.m.

कॉमेड‍ियन मल्ल‍िका दुआ सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं। वो हमेशा से ही अपने किसी ना किसी बयान की वजह से विवादों में रहती हैं। हाल ही में हुए पुलवामा आतंकी हमले को लेकर मल्ल‍िका दुआ ने सोशल मीडिया पर खुद को एक्टिंव रखन के लिए व‍िवाद‍ित बयान दिए हैं। इस वजह से उनको सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया जा रहा है। मल्ल‍िका दुआ ने कल यानी रविवार को अपने इंस्टाग्राम पर वीडियो शेयर किया था। जिसमें उन्होंने कहा कि "ये बातें स‍िर्फ मुझसे नहीं कही जा रही हैं। इस बारे में लोग प्रोटेस्ट करते नजर आ रहे है। मैं यहां पूछना चाहती हूं कि हर रोज लोग भुखमरी, बेराजगारी, डिप्रेशन जैसी कई वजहों से मरते हैं। ऐसा स‍िर्फ हमारे देश में नहीं होता, पूरी दुन‍िया में लोग मरते हैं। तब क्या आप अपनी ज‍िंदगी रोक देते हैं। क्या स‍िर्फ शोक मनाना ही हमारा काम है। "ऐसे में तो हमें हर रोज हमें शोक मनाने की जरूरत है। ये क्या नॉनसेंस बातें लगा रखी है। सब पूरी बकवास है। मल्लिका के वीडियो का बहुत विरोध हुआ जिसके बाद उन्होंने वीडियो को हटा दिया है लेकिन सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो चुका है। 

इसके उन्हें कई लोगों ने कहा कि पूरा देश रो रहा है आप कैसे खुशी से अपनी नॉर्मल लाइफ जी सकती हैं।" साथ ही कहा कि जो लोग सोशल मीडिया पर यह लिख रहे हैं कि जंग छेड़ेंगे हम, उनकी औकात ही क्या है। तुम तो फोन करके एक प‍िज्जा नहीं ऑर्डर कर सकते हो तुम क्या जंग करोगें।

 हर मुस्लिम को ये कहना बंद करो क‍ि वो पाकिस्तान जाए, अगर यही सोच है तो मुस्लिम तो दुन‍िया के अलग-अलग देशों में हैं।" मल्ल‍िका दुआ का ये वीडियो  4 मिनट 46 सेकेंड का है। अब उनका सोशल मीडिया पर जमकर बाते सुनाई जा रही है। कई लोगों ने मल्ल‍िका दुआ को मानस‍िक रुप से बीमार बताया है। कई लोगों ने ये सवाल भी उठाया है कि आपने जवानों के शहीद होने पर कोई पोस्ट नहीं किया। 

अब इस तरह की बातें सुनकर हम शॉक्ड हैं। हाल ही में हुए जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी हुए आतंकी हमले में तकरीबन 40 से भी ज्यादा सुरक्षाबल शहीद हो गए। हमला इतनी बर्बरता से हुआ कि जिसने भी उस मंजर को देखा वो सहम कर रह गया।  

अब इस खबर के आने के बाद पूरे देश में शोक की लहर है। हर क्षेत्र से जुड़े बड़े से छोटे लोग इस हमले की निंदा करते हुए मृत सैनिकों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं।