राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह से पहले विवाद, कलाकारों ने दी बहिष्कार की धमकी

8 months ago

नई दिल्ली (3 मई): राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा दिए जाने वाले राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों को लेकर एक बड़ा विवाद खड़ा हो गया है। राष्ट्रपति द्वारा कुछ अहम पुरस्कार ही दिए जाने की घोषणा से पुरस्कृत होने वाले कई लोग नाराज हो गए हैं और उन्होंने पुरस्कार ना लेने की चेतावनी दी है।

राष्ट्रपति भवन के सूत्रों के मुताबिक, राष्ट्रपति कोविंद प्रोटोकॉल के अनुसार किसी भी कार्यक्रम को सिर्फ एक घंटे का समय देते हैं। इस दौरान वो जिन लोगों को पुरस्कार दे पाएंगे सिर्फ उन्हीं को देंगे। बताया गया है कि कुल 140 लोगों में से 11 को ही सम्मानित करेंगे जबकि बाकी लोगों को स्मृति ईरानी पुरस्कार देंगी।

कार्यक्रम में बदलाव किए जाने से नाराज पुरस्कार विजेताओं ने विरोध प्रदर्शन करने का मन बनाया है। रिहर्सल के दौरान नाराज फिल्मी कलाकारों को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने काफी समझाने-बुझाने की कोशिश की, लेकिन इसका बहुत ज्यादा असर नहीं दिखा। गुरुवार के कार्यक्रम में कई विजेताओं के गैर-हाजिर रहने की आशंका प्रबल है।

सन 1954 में शुरू हुआ राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार फिल्म निर्माण के क्षेत्र में सबसे सम्मानित पुरस्कार है। इसके अंतर्गत बेस्ट फीचर फिल्म (फिक्शन/नॉन फिक्शन), निर्देशन, एक्टिंग, सिनेमटोग्राफी, स्क्रीनप्ले और क्षेत्रीय सिनेमा के लिए पुरस्कार दिए जाते हैं। इस बार 65वां पुरस्कार समारोह है।

Related Posts