पद्मावती दिखाने के लिए सेंसर बोर्ड ने इतिहासकारों को बुलाया, फिल्म रिलीज की कवायद तेज

11 months ago

 

 

लंबे समय से विवादों में फंसी संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती की रिलीज को लेकर कवायद शुरू हो गई है।  सेंसर बोर्ड इतिहासकारों की भी राय ले रहा है । खबर है कि सेंसर बोर्ड ने संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' पर जयपुर के इतिहासकारों की राय जानने के लिये उन्हें आमंत्रित किया है। फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के बारे समीक्षा करने के लिए सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने वरिष्ठ इतिहासकार प्रफेसर आर एस खंगारोत और राजस्थान विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त प्रफेसर बी एल गुप्ता को आमंत्रित किया है। प्रोफेसर आर एस खंगारोत ने बताया कि उन्हें मौखिक रुप से आमंत्रित किया गया है। उन्होंने कहा कि उनके लिये यह मामला फिल्म निर्माता भंसाली और राजपूत समाज, भंसाली और करणीसेना के बीच का नहीं है, बल्कि वह इस मामले को फिल्म निर्माता और इतिहास के बीच का मानते हैं। वह फिल्म की समीक्षा इसी परिपेक्ष्य में करेंगे। राजस्थान विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त प्रोफेसर बी एल गुप्ता ने बताया कि फिल्म सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने उन्हें भी फिल्म की समीक्षा के लिये आमंत्रित किया है। 

 

इससे पहल 27 दिसंबर को मुंबई में फिल्म पद्मावती की स्पेशल स्क्रीनिंग की खबर आई थी और कहा गया था कि और फिल्म मेवाड़ राजघराने को फिल्म दिखाई गई। राजघरानों के अलावा सेंसर बोर्ड इतिहासकारों की भी राय लेगा और फिल्म को रिलीज करने के लिए हरी झंडी दिखाएगा। खबर है कि फिल्म साल 2018 के मार्च तक रिलीज हो सकती है।  

 

सूत्र ने बताया कि सीबीएफसी ने कहा कि 'पद्मावती' को जनवरी में ही प्रमाणित किया जा सकता है, क्योंकि दिसंबर तो लगभग बीत रहा है। 'पद्मावती' से पहले कई भाषाओं की कम से कम 40 फीचर फिल्में कतार में हैं। सूत्र ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि अब प्रामाणिकता के लिए सामग्री की छानबीन करनी होगी। फिल्म को पहले निमार्ताओं के पास वापस भेज दिया था, क्योंकि उन्होंने उस कॉलम को रिक्त छोड़ दिया था, जिसमें यह लिखना था कि यह फिल्म काल्पनिक है या ऐतिहासिक तथ्यों पर आधारित है ।  करणी और राजपूत नेताओं ने फिल्म निर्माता पर रानी के बारे में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़ मरोड़कर प्रदर्शित करने का आरोप लगाते हुए इसका विरोध किया था। देशभर में फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन हुए और फिल्म की रिलीज पर रोक लगा दी गई।   

Related Posts